क्या आप जानते है कौए व उल्लू से जुड़े शगुन और अपशगुन?

Spread the love

हमारे हिन्दू धर्म में शगुन और अपशगुन की परंपरा काफी पुरानी है। हमारे समाज में पक्षियों को लेकर भी कई तरह के शगुन और अपशगुन माने जाते है। जिसमें कौवे और उल्लू से जुड़ी शकुन-अपशकुन की अनेक मान्यताएं हमारे समाज में प्रचलित हैं। जहाँ पर कौवे को ज्यादा संख्या में देखा जा सकता है वही पर उल्लुओ की संख्या कम है। शास्त्र के अनुसार कौवे और उल्लू के कुछ संकेत अच्छे होते है तो कुछ अशुभ संकेत होते है।

अगर आप Shakun Apshakun में विश्वास रखते है तो यहाँ दी जा रही महत्वपूर्ण जानकारी को जरूर पढ़े। वैसे तो कई लोग इन बातों को अंधविश्वास मानकर इस पर ध्यान नहीं देते है।

Shakun Apshakun: जानिए कौआ और उल्लू से संबंधित तथ्य

Owl and Crow Shakun Apshakun

कौवे से जुड़े शकुन-अपशकुन

  • यदि कौआ पंख फडफ़ड़ाता है और उग्र आवाज में बोलता है, तो यह संकेत अशुभ माना जाता है।
  • कौआ अगर ऊपर मुंह करके पंखों को फड़फड़ाते हुए कर्कश स्वर में आवाज करता है तो वह मृत्यु की खबर देता है।
  • अगर कौआ पेड़ पर बैठ कर शांत आवाज में बोलता है, तो स्त्री सुख की प्राप्ति होती है।
  • यदि उड़ते हुए कौआ की बीट किसी व्यक्ति पर गिरती है, तो उसे रोग व संताप होता है और इसके अलावा यदि हड्डी का टुकड़ा गिरा दे, तो उस व्यक्ति पर भारी संकट आ सकता है।
  • यदि कौआ मुंह में रोटी, मांस आदि का टुकड़ा लाता हुआ दिखाई दे, तो मन की इच्छा पूर्ति होती है।
  • पानी से भरे घड़े पर यदि कौआ बैठा दिखाई दे तो धन-धान्य की बढ़ोतरी होती है।
  • यदि यात्रा करने वाले व्यक्ति के समक्ष आकर कौआ सामान्य स्वर में कांव-कांव करे और चला जाए तो कार्य सिद्धि का संकेत देता है।
  • किसी महिला के सिर पर यदि कौआ बैठता है, तो उसके पति को गंभीर विपत्ति का सामना करना पड़ सकता है।
  • किसी व्यक्ति के ऊपर कौआ बैठ जाए, तो उसे धन व सम्मान का नुकसान हो सकता है।
  • यदि बहुत से कौए किसी नगर या गांव में इकक्ठा होकर शोर करते है, तो उस नगर या गांव पर भारी संकट आने की सम्भावना हो सकती है।
  • कौओं का झुंड किसी के घर पर आकर चिल्लाए तो उस माकन के स्वामी पर कई विपप्तिया एक साथ आ सकते हैं।

उल्लू से जुड़े शकुन-अपशकुन

  • तुर्की में उल्लू की आवाज सुनने को अशुभ मानते है जबकि सफेद उल्लू का दिखाई देना शुभ माना जाता है I
  • ईरान में उल्लू के स्वर के अनुसार शुभ-अशुभ माना जाता है।
  • दक्षिण अफ्रीका में उल्लू की आवाज को मृत्युसूचक माना जाता है।
  • चीन में उल्लू दिखाई देने पर पड़ोसी की मृत्यु का संकेत मानते हैं।
  • उल्लू का बांई ओर बोलना और दिखाई देना शुभ रहता है। जबकि दाहिने तरफ देखना और बोलना अशुभ होता है।
  • मेहमान के पीछे की तरफ यदि उल्लू दिखाई दे तो काम में उपलब्धि मिलने के आसार बढ़ जाते है।
  • तीन दिन तक लगातार उल्लू किसी के दरवाजे पर रोता है, तो उसके घर में चोरी अथवा डकैती होने की आशंका अधिक होती है। अथवा उसे किसी न किसी रूप में धन की हानि होने के आसार होते है।
  • यदि किसी घर की छत पर बैठ कर उल्लू बोलता है तो उस घर के स्वामी अथवा परिवार के सदस्य ही मौत होने की आशंका रहती है।
  • रात में यात्रा कर रहे व्यक्ति को यदि उल्लू होम-होम की आवाज करता मिले तो शुभ फल मिलता है।
  • यदि कोई उल्लू किसी के घर पर बैठना शुरू कर दे, तो वह घर शीघ्र ही उजड़ सकता है और उस घर के मालिक पर कोई संकट आने की आशंका बढ़ जाती है।

Spread the love

You may also like...