Narendra Modi Kundli: क्या कहती है कुंडली? मोदी 2019 में फिर बनेंगे प्रधानमंत्री

Spread the love

एक स्वच्छ तथा बिलकुल साफ और सुथरी छवि के धनी, कर्मठ और जुझारू नेता भारत के वर्तमान प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी का जन्म 17 सितंबर को साल 1950 में गुजरात के मेहसाना में वृश्चिक लग्न कर्क नवांश वृश्चिक राशि में हुआ था ।

शुरुआत में मोदी की छवि ईमानदार होने के साथ-साथ एक कट्टर हिन्दूवादी नेता के रूप में होती थी पर पिछले चार सालों में उनकी छवि सबका साथ और सबका विकास के नारे और उनके किये विकास कार्यों के कारण देश के समग्र विकासवादी नेता के तौर पर होने लगी है ।

इस नई छवि से वो ना सिर्फ भार‍त में बल्कि पूरे विश्व में भारत के विकास कार्यों का डंका बजा रहे हैं और आने वाले दिनों में भी इन कार्यों में कामयाब होते रह सकते हैं। ऐसा मोदी जी की कुंडली भी इशारा करता है । Modi Horoscope के बारे में जाने के लिए उनकी कुंडली का आंकलन जरूरी है

आज के इस लेख में हम नरेन्द्र मोदी की कुंडली पर चर्चा करने जा रहे हैं । इसमें हम बताएँगे की मोदी की कुंडली भविष्य के लिए उनकी संभावनाओं को कितना अच्छा या बुरा बना सकती हैं । पढ़ें Narendra Modi Kundli.

Narendra Modi Kundli: जाने मोदी की कुंडली भविष्य के लिए कैसे इशारे कर रही है

Narendra Modi Kundli

कुंडली के आकलन से हम सम्बंधित व्यक्ति के भविष्य का आकलन कर सकते हैं और जान सकते हैं की उनके भविष्य में किस प्रकार की घटनाए होने वाली है । जहाँ तक अगर बात पीएम नरेन्द्र मोदी के कुंडली की करें तो इनकी कुंडली में गजकेसरी योग बना हुआ है। गजकेसरी योग लग्न में चंद्र और चतुर्थ में बृहस्पति के आने से बनता है और मोदी जी के कुंडली में भी लग्न में चंद्र और चतुर्थ में बृहस्पति आया हुआ है।

ज्योतिष शास्त्र के विशेषज्ञों का ऐसा मानना होता है कि, जब गजकेसरी योग पूर्ण रूप से कुंडली में निर्मित हो जाता है तब उस स्थिति में जा कर शुक्र किसी भी स्थान पर बैठकर चंद्र या फिर बृहस्पति को देखता है तो गजकेसरी योग ओर भी शुभ माना जाता है। फिलहाल पीएम नरेन्द्र मोदी की कुंडली में भी इसी प्रकार का एक योग बना हुआ है।

पीएम मोदी की कुंडली के दशम भाग में बैठे शुक्र की चतुर्थ बृहस्पति पर सीधी दृष्टि बन रही है। जिसकी वज़ह से उनका वर्तमान राजनीतिक कार्यकाल का ये दौर काफी लम्बे समय तक बना रह सकता है । वैसे देखा जाए तो मोदी के अलावा भी कई सारे राजनेताओं की कुंडली में भी गजकेसरी योग बना है, परन्तु उन सभी राजनेताओं की कुंडली में शुक्र का होना बहुत कम देखा गया है जो मोदी के कुंडली में है ।

इस योग के अलावा भी मोदी की कुंडली में साल 2022 तक चंद्र की महादशा भी बनी हुई रहेगी। इसी बीच Narendra Modi Astrological Predictions 2019 भी आता है जब लोकसभा के चुनाव आने वाले हैं । बता दें की यह दशा राजनीती में उनके कद को और भी ज्यादा बढ़ाने वाली साबित हो सकती है । मतलबी साफ़ है की अगले कुछ सालों में मोदी को भारतीय राजनीति के शिखर से हटा पाना बहुत हीं मुश्किल होगा उनके विपक्षियों के लिए ।

पीएम मोदी की कुंडली में चंद्र केतु की विंशोत्तरी दशा के कारण उन्हें आने वाले दिनों में हो सकता है की घरेलू मोर्चे पर कुछ प्रकार की कठिनाइयों का भी सामना करना पड़ सकता है। इनकी कुंडली में शनि जो धनु राशि में वक्री चल रहा है 20 जून को वृश्चिक राशि में प्रवेश कर जाएगा। भारतीय जनता पार्टी और मोदी दोनों हीं की चंद्र राशि वृश्चिक है। जो कि शनि गोचर में शनि से पीड़ित हो कर भविष्य में सरकार के लिए कुछ मुश्किलें भी पैदा कर सकती है।

10 साल तक सत्ता में रहेंगे मोदी

Narendra Modi Kundli

भृगु ज्योतिष अनुसंधान संस्थान हरियाणा के उपप्रधान व श्रीअध्यात्म शक्ति पीठ मुबारकगंज के अध्यक्ष पं. देवमित्र पाण्डेय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली को देख कर ये आकलन किया और बताया कि उनकी कुंडली में ग्रहों के ज्यादातर शुभ योग देखने को मिल रहे है। ये उनके कुंडली के शुभ योग हीं हैं जो उन्हें अगले करीब 10 सालों तक भारत की सत्ता के शिखर पर बनाये रख सकते हैं । संस्थान के उपप्रधान ने साथ ही ये भी कहा की उनके इन आने वाले सालों में भारत देश एक नई दिशा और ऊंचाई पर स्थापित देश बन कर सामने आ सकता है । इन वर्षो के दौरान देश में प्रगति, उन्नति और सुख का योग बना हुआ नजर आ रहा है।

उन्होंने आगे कहा, “पीएम मोदी की कुण्डली में राज योग के साथ ही ऐसे कई और योग हैं जो उन्हें अनेक गुणों से सम्पन्न बनाते हैं और इसके कारण वो बहुत हीं आराम के साथ अपने राजनितिक शत्रुओं पर विजय पाते हुए आगे बढ़ते चले जायेंगे । इनकी चन्द्रमा की महादशा 30 जनवरी 2021 तक है जो बड़ी हीं फलदायी है।”

इस समय रहना होगा खबरदार

पीएम मोदी की कुण्डली में चन्द्रमा, राहु, मंगल मिलकर नव पंचम योग बना रहे है। इस नव पंचम योग की वज़ह से पानी स्पष्टवादिता के कारण आने वाले दिनों में उन्हें अपनी हीं  पार्टी के कुछ लोगों की आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ सकता है । आज भी उनकी पार्टी के कुछ नेता उनके खिलाफ मुखर हो कर बोलते हैं पर मोदी उन्हें तबज्जो ना दे कर अच्छे से आगे बढ़ते चले जाते हैं । भविष्य में भी ऐसी संभावनाएं बन सकती है ।

मोदी की कुंडली के ग्रहो के अनुसार, 12 अप्रैल से 28 दिसम्बर 2017 के बीच उन्हें अपनी स्वास्थ्य तथा सुरक्षा का बहुत ज्यादा ध्यान रखना होगा। उन्हें अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना इस काल खंड में बहुत जरूरी है । इसके अलावा इस दौरान मोदी को आतंकी घटनाएं तथा प्राकृतिक आपदाओं से भी सुरक्षित रहने की जरुरत है।

आज के इस लेख में आपने जाना नरेंद्र मोदी की कुंडली में ग्रहों की वर्तमान स्थिति से होने वाली भविष्य की संभावनाओं के बारे में । हमे पता चला Narendra Modi Astrology 2019 के बारे में इसके अनुसार आने वाले कुछ सालों में मोदी जी की प्रसिद्धि और बढ़ेगी और वो भारतीय राजनीति के शिखर पर बने रहेंगे।


Spread the love

You may also like...