Sarkari Naukri Ke Yog: हस्तरेखा शास्त्र से जाने सरकारी नौकरी के योग है या नहीं

पहले के मुकाबले में शिक्षा का महत्व बहुत बढ़ गया है| अब लड़के ही नहीं लड़किया भी पढ़ती लिखती है ताकि जॉब कर सके| अच्छी जॉब पाना हर युवा और युवती का सपना होता है|

परन्तु आज के समय हर किसी को प्राइवेट जॉब की अपेक्षा सरकारी नौकरी की चाहत ज्यादा है। और ऐसा हो भी क्यों न सरकारी नौकरी में भविष्य सुरक्षित जो होता है।

सरकारी नौकरी में उन्नति के भी अवसर भी बहुत मिलते है। और इसीलिए सरकारी नौकरी के लिए हर कोई कोशिश करता है। परन्तु हर व्यक्ति का यह सपना पूरा नहीं होता है।

हस्तरेखा ज्योतिष के मुताबिक ऐसे योग बताए गए हैं। जिनको जानकर आप मालूम कर सकते है कि किसी भी व्यक्ति को सरकारी नौकरी मिलने के योग हैं या नहीं। आइये जानते है हस्तरेखा से Sarkari Naukri Ke Yog का कैसे पता कर सकते है?

Sarkari Naukri Ke Yog: हाथों के ये योग बताते है कि आपको मिलेगी सरकारी नौकरी

Sarkari Naukri ke Yog

ध्यान दे:- हस्तरेखा देखने से पहले जान ले कि लड़कों के दाएं हाथ और लड़कियों के बाएं हाथ का अध्ययन मुख्य रूप से किया जाना चाहिए।

  1. यदि आपके हाथो की हथेली में सूर्य पर्वत (रिंग फिंगर के नीचे होता है) उभरा हुआ है और इस पर्वत पर एक रेखा बिना किसी रुकावट के बानी हो तो ऐसे लोगों की हाथ की हथेली बताती है कि वह व्यक्ति को भी बिना किसी रुकावट के सरकारी नौकरी मिलने की संभावना रहती है।
  2. किसी व्यक्ति की हाथ की हथेली में गुरु पर्वत (इंडेक्स फिंगर के नीचे होता ) है। और इस पर सूर्य पर्वत से कोई भी रेखा आ रही है तो इससे पता चलता है कि व्यक्ति को अच्छी नौकरी मिलने का शुभ संकेत मिल सकता है|
  3. यदि किसी व्यक्ति की हाथ की हथेली में गुरु पर्वत उठा होता है। और उस पर सूर्य पर्वत से चलकर कोई रेखा आ रही है तो ऐसे लोगो को भी सरकारी नौकरी मिलने की संभावनाएं रहती है।
  4. किसी व्यक्ति की हाथ की हथेली पर भाग्य रेखा से कोई शाखा निकल कर गुरु पर्वत की ओर आती है। तो वह व्यक्ति बहुत ही भाग्यशाली होता है। ऐसे लोगों को सरकारी नौकरी पर ऊंचे पद की जगह मिलती है।
  5. किसी भी व्यक्ति की हाथ की हथेली पर भाग्य की रेखा से निकलकर कोई शाखा सूर्य पर्वत की ओर आती है। तो यह शुभ संकेत होता है। ऐसे व्यक्ति को किसी भी सरकारी क्षेत्र में लाभ मिल सकता है।

विशेष: हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली की बनावट व सभी रेखाओं का अच्छे से अध्ययन किया जाना चाहिए। यहां पर बताए गए योग अन्य रेखाओं और हथेली की बनावट के आधार पर बदल सकते हैं।