Betel Leaf Benefits: पान के पत्ते हैं फायदेमंद, उठायें इनके स्वास्थ्य लाभों को

पान का पत्ता भारत में कई प्रकार से इस्तेमाल किया जाता है। यह भारत की संस्कृति से जुड़ा हुआ है। इसका सेवन शरीर को कई प्रकार के फायदे पहुँचाता है।

पान में कैल्शियम की काफी अच्छी मात्रा होती है जो की शरीर को चुस्त दुरुस्त रखने में काफी हद तक सक्षम होता है। वैसे हिन्दू संस्कृति के अनुसार Betel Leaf को एक शुभ प्रतीक के रूप में माना जाता है।

भारत में कई धार्मिक पूजा पाठ में पान के पत्ते का विशेष महत्व होता है। इसे लोग घरेलु उपचार के लिए भी इस्तेमाल करते है। यह काफी खुशबूदार होता है। इसी के साथ एक स्टडी में यह बताया गया है की यह शरीर में मेटाबोलिज्म भी बढ़ाता है

इस लेख में आप जानेंगे की पान के पत्तों के सेवन से शरीर को किस तरह के लाभ होते है। साथ ही यह समझ पाएंगे की यह किस बीमारी के हेतु इस्तेमाल किया जा सकता है। पढ़े Betel Leaf Benefits.

Betel Leaf Benefits: जाने पान के पत्तो के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में

Betel Leaf Benefits

पान का पत्ता है एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर

  • पान के पत्तों के तत्वों पर कई स्टडी की गयी है जिसमे यह पाया गया है की बीएचटी (ब्‍यूटाइलेटेड हाईड्रॉक्सिल टोल्‍युईन) के मुकाबले इसमें सफाई करने वाले तत्व ज्यादा पाए जाते है।
  • यह उन फ्री रेडिकल से युक्त है जो सफाई करने में सक्षम होते है।

पान के पत्तो में है सूजन कम करने की क्षमता

  • पान के पत्तो में ओरकाइटिस और स्थानीय तौर पर गठिया का इलाज करने की क्षमता होती है।
  • इसी के फोड़े होने पर पान के पत्तो के ऊपर एक परत गर्म अरंडी के तेल की लगाए और उसे फिर फोड़े की जगह पर रख लें।
  • इससे फोड़े में मौजूद सारा मवाद बाहर निकल जाएगा।
  • इस क्रिया में पान के पत्ते को कुछ घंटो में बदल लेना चाहिए।

कमर दर्द में फायदेमंद

  • पान के पत्तो को गर्म मरहम या फिर इसके रस को किसी भी तेल के साथ मिलाकर दर्द से प्रभावित स्थान पर लगाए।
  • इसे नारियल के तेल के साथ लगाना उचित माना जाता है।
  • इसके साथ कमर पर मसाज करे दर्द में राहत मिलेगी।

माँ के दूध का स्राव

श्वसन की समस्या में फ़ायदेमंद

  • पान के पत्तों को गर्म सरसो के तेल में भिगो लें।
  • इसके बाद इसे लगाने से खांसी और साँस लेते समय होने वाली समस्या मे राहत मिलेगी।
  • इसके अलावा चाहे तो पान के पत्तों को पीस कर शहद के साथ मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते है।
  • इससे भी खांसी की परेशानी में राहत मिलेगी।

Betel Leaf Benefits for Diabetes: डायबिटीज की समस्या में लाभकारी

  • पान पर की गई स्टडी के अनुसार यह साबित होता है की पान के पत्तो में कुछ ऐसे गुण पाए जाते है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभदायक होते है।
  • डायबिटीज के मरीजों को पान के पत्तों का सेवन करना चाहिए यह शरीर में ब्लड शुगर के लेवल को सामान्य रखने में सक्षम होता है।

नसों की कमजोरी दूर करें

  • कई लोगो को अक्सर यह शिकायत रहती है की नसों में दर्द है या फिर थकान है।
  • इस समस्या के उपचार हेतु पान के पत्ते काफी असरकारी होते है।
  • इस समस्या में पान के पत्तो के रस में शहद मिलाकर एक टॉनिक की तरह पिया जा सकता है।

सिर दर्द की समस्या में लाभदायक

  • पान के पत्तों में एनाल्जेसिक होता है जो दर्द से राहत दिलाने में सक्षम होता है।
  • कितनी भी तेज़ सर दर्द हो इसके सर के ऊपर लगाने से दर्द में राहत मिलती है।
  • यह सर दर्द को तुरंत कम करने में मदद करता है।

घाव में फ़ायदेमंद

  • अगर किसी वजह से चोट लग जाये तो पान के पत्तों का उसपर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • पान के पत्तो का रस चोट पर लगाने से जल्द ही आराम मिलता है।
  • इसी के साथ चाहे तो पान का पत्ता चोट या घाव पर रखे और पट्टी बांध लें इससे भी आराम मिलेगा।
  • ऐसा करने से चोट 2 से 3 दिनों में ठीक हो जाएगी।  

मुंह के छालो से राहत दिलाए

  • पान के पत्ते मुंह के छालो को ठीक करने में भी काफी हद तक सक्षम होते है।
  • इसके लिए पहले पान के पत्तों का कुछ रस निकाल लें।
  • अब इस रस को घी के साथ मिलाकर छालो के स्थान पर लगा लें।
  • छाले होने पर चाहे तो पान के पत्तों को चबाया भी जा सकता है।
  • इस क्रिया को दिन में दो बार जरूर करें।
  • यह Betel Leaf Medicinal Uses में काफी असरकारी है।

माउथ फ्रेशर के लिए

  • पान के पत्तो को एक बहुत ही अच्छे माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसमें एंटी बायोटिक तत्व होते है जिससे मुँह में बदबू पैदा करने वाले कीटाणुओं को मारा जा सकता है।
  • इसे डाल कर उबाले और पानी के गुनगुना होने पर इससे गरारे करे।
  • यह मुंह की बदबू से छुटकारा दिलाने में काफी हद तक सक्षम होता है।

मसूड़ों में से खून आने की समस्या दूर करें

  • अक्सर लोगो के मसूड़े कमजोर हो जाते है जिससे खून आने की समस्या हो जाती है।
  • इस समस्या में पान के पत्तो का सेवन फायदेमंद साबित होता है।
  • इसके लिए 4 से 5 पान के पत्ते लें अब उसमें 2 कप पानी में मिला लें।
  • अब इस पानी से गार्गिल करे, आपको जल्द ही लाभ मिलेगा।

वाइट डिस्चार्ज की समस्या

  • यह स्त्रियों में काफी सामान्य समस्या होती है।
  • इसके लिए 11 पान के पत्ते लें कर पानी में गर्म करें।
  • अब इस पानी को नॉरमल टेम्परेचर का होने दें।
  • इसके बाद इस पानी से योनि को साफ़ करे, इससे वाइट डिस्चार्ज की समस्या ठीक हो जायेगी।

इस लेख में आज अपने जाना की पान के पत्तों से किस तरह के लाभ हो सकते है। इसका सेवन और इस्तेमाल दोनों कितने फ़ायदेमंद है। ऊपर बताई गयी समस्या से अगर कोई व्यक्ति पीड़ित है तो उसे इन उपचारो को जरूर करना चाहिए जिससे की वह इन सभी समस्याओं से छुटकारा पा सके।

Spread the love