Daan Ka Mahatva: इन चीजों का दान करने से प्राप्त होता है शुभ फल

हमारे शास्त्रों में “दान” का बहुत महत्व बताया गया है। इसमें दैनिक जीवन से सम्बंधित समस्याओं के लिए दान करने के कई चमत्कारिक उपाय भी बताये गए है। कहा जाता है की यदि आप किसी को दान देते हो तो आपका बुरा समय भी नष्ट हो जाता है और आपको उससे लाभ की प्राप्ति होती है।

इसलिए समय समय पर दान करना चाहिए। परन्तु यह भी जानना जरुरी है की किस समय किस चीज का दान करना चाहिए, जिससे आपकी मनोकामना पूरी हो सकती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रह और नक्षत्रों के निमित्त दान करना शुभ माना जाता है। दान तीन प्रकार के होते हैं। वह दान जो नि:स्वार्थ भाव से बिना किसी लोभ-लालच के किया जाता है, सात्विक दान कहलाता है। जो दान फल प्राप्ति की आशा से किया जाता है वह राजस दान होता है।

श्रद्धा भाव के बिना कुपात्र को किया गया दान, तामस प्रकृति का होता है। इन तीनो दानो में सात्विक दान सर्वश्रेष्ठ होता है। हालांकि दान कहीं भी और किसी भी समय किया जा सकता है,परन्तु तीर्थस्थल, धार्मिक मंदिर, पूजा या धर्मस्थल आदि पर दान देना विशेष शुभ माना गया है।

Daan Ka Mahatva: किस गृह के लिए कौनसा दान करना चाहिए

Daan Ka Mahatva

 

तिल का दान करना:

पुराण के अनुसार तिल का दान करने से शक्ति मिलती है और मृत्यु का डर दूर होता हैI

नमक का दान: 

पुराण के अनुसार नमक का दान करने से बुरा समय कट जाता है और साथ ही श्रेष्ठ भोजन प्राप्त होता है।

गुड़ का दान:

पुराण के अनुसार गुड़ का दान करने से हमें शुद्ध और मनचाहे भोजन की प्राप्ति होती है।

अनाज का दान:

पुराण के अनुसार अनाज का दान करने से घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती है।

वस्त्र का दान:

पुराण के अनुसार नए या पुराने कपडों का दान करते है तो इससे  आपकी उम्र बढ़ती है और आप निरोगी रहते हैं।

घी का दान:

पुराण के अनुसार घी का दान करने से शारीरिक कमजोरियां दूर होती हैं।

ग्रहो के अनुसार दान देना

नवग्रहों के अशुभ प्रभाव को शुभ करने के लिए ज्योतिष शास्त्र में कुछ वस्तुओं का दान किया जा सकता है। वस्तुओं का दान करते समय कुछ धन भी श्रद्धापूर्वक देना अच्छा माना जाता है।

सूर्य ग्रह के लिए  

  • लाल चंदन, स्वर्ण, मसूर की दाल, माणिक्य और लाल-पीला वस्त्र दान करने चाहिए।
  • रविवार का दिन सूर्य का दिन माना जाता है इसलिए सूर्य के लिए ये दान रविवार को ही करे।

चंद्र ग्रह के लिए

  • चंद्र के लिए सफ़ेद चीजे जैसे दूध- दही, मोती, श्वेत वस्त्र, चीनी दान दिया जाता है।
  • इसके अतिरिक्त मंगल के दिन चावल, शंख, तांबा, रक्त चंदन, चांदी -स्वर्ण, गुड, मूंगा, सिंदूरी वस्त्र, लाल मिठाई, लाल मसूर, लाल गेहूं का दान करे।

बुध ग्रह के लिए

बुध के लिए पन्ना, स्वर्ण, कांसा, हरा फल, हरा वस्त्र, हरी मूंग का दान बुधवार के दिन करना चाहिए।

गुरु ग्रह के लिए

इस गृह के लिए चने की दाल, पीले वस्त्र, हल्दी, धान, पुखराज या सुनैला, गौघृत, धार्मिक पुस्तक, शहद और स्वर्ण आदि का दान किया जा सकता है| गुरुवार के दिन यह दान करे।

शुक्र ग्रह के लिए

  • इस गृह के लिए घी, चावल, कपूर, हीरा, चीनी का दान देना चाहिए।
  • साथ ही शुक्रवार के दिन दही, मिश्री, श्वेत चंदन और श्वेत वस्त्र भी दान करना चाहिए।

शनि ग्रह के लिए

शनि के लिए काली चीजे जैसे काला वस्त्र, लोहा, साबुत उरद की दाल, काले चने, नीलम, भैंसा, काले फल, काले तिल, सरसों का तेल, काला कंबल और काले जूते शनिवार के दिन दान करना चाहिए।

राहु के लिए

  • राहु के लिए दान में गौमेद, लोहा, तलवार, कंबल, तांबे का बर्तन और काली सरसों का दान कर सकते है।
  • साथ ही इन चीजों जैसे स्वर्ण मिश्रित नाग, राई और शीशा भी दान कर सकते है|

केतु के लिए

केतु के लिए दान में काजल, सात प्रकार के अनाज, स्वर्ण, लहसुनिया रत्न, चांदी या तांबे का सर्प, मिठाई, ऊनी कपड़े और कस्तूरी आदि का दान किया जा सकता है।