Raspberry in Hindi: बीमारियों को दूर रखने में असरकारी फल

Spread the love

रास्पबेरी जो रसभरी के नाम से मशहूर है। रसभरी का वैज्ञानिक नाम रूबस आईडीईस है। रास्पबेरी एक प्रकार का फल है जो की हर मौसम में उपलब्ध रहता है। इसका स्वाद मीठा होता है जिसके कारण हर व्यक्ति इसे खाना पसंद करता है।

रास्पबेरी अधिकतर लाल रंग के देखने को ज्यादा मिलते है परन्तु यह काले, बैंगनी, सफ़ेद, गुलाबी, पीले और नारंगी रंगों में भी पाए जाते है। रास्पबेरी नरम होने के कारण मुँह में आसानी से पिघल जाता है।

रास्पबेरी में विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर के गुण पाए जाते है। जो कि स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होते है। रास्पबेरी को लोग फल के रूप में खाते है साथ ही इसे अनेक प्रकार के व्यंजन बनाने में भी उपयोग किया जाता है।

रास्पबेरी में कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम होती है साथ ही यह मोटापा को भी कम करता है। इसे खाने के स्वास्थ्य लाभ है। जानते है Raspberry in Hindi.

Raspberry in Hindi: पोषक तत्वों से भरपूर जो दिलाए बीमारियों से निजात

Raspberry in Hindi

रक्त धमनियां के लिए फ़ायदेमंद

  • रास्पबेरी का सेवन करने से रक्त धमनियों को लाभ प्राप्त होता है।
  • रास्पबेरी में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पायी जाती है जो की शरीर में मौजूद कोशिकाओं की वृद्धि के लिए आवश्यक होती है।
  • रास्पबेरी का सेवन करते रहने से हड्डियों, कोशिकाओं और रक्त की धमनियों की अच्छे से मरम्मत हो जाती है।

गर्भावस्‍था में लाभकारी रास्‍पबेरी

  • रास्पबेरी का नियमित सेवन करने से गर्भवती महिला को प्रसव के दौरान दर्द की समस्या कम होती है। साथ ही प्रसव के बाद होने वाले दर्द को भी कम करने में सहायक होती है।
  • रास्पबेरी में आयरन, कैल्शियम और विटामिन C की उच्च मात्रा होती है जो कि गर्भावस्था के लिए फ़ायदेमंद है।
  • यह गर्भाशय समेत श्रोणि क्षेत्र में पायी जाने वाली मांसपेशियों को टोन करने का कार्य भी करती है। गर्भावस्था के दौरान लाल रास्पबेरी का सेवन करना अच्छा होता है।
  • इसके अतिरिक्त यह महिलाओं के मासिक धर्म को नियंत्रित करने में भी सहायता करती है। मासिक धर्म के दौरान होने वाली मरोड़ से भी मुक्ति दिलाने का कार्य करती है।

वजन को कम करने में सहायक

  • रास्पबेरी में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर के कारण पाचन तंत्र मजबूत बनता है। साथ ही यह पाचन क्रिया को धीमा कर देता है। जिसके कारण भूख का ज्यादा अहसास नहीं हो पाता और कम मात्रा में भोजन खा पाते है। जिससे वसा को कम करने में मदद मिलती है।
  • साथ ही इसमें मैंगनीज भी होता है जो कि चयापचय की गति को बढ़ाता है। जिसके कारण चर्बी जल्द ही बर्न होने लगती है।

हड्डियों को स्वस्थ्य रखने में मददगार

  • विटामिन K रक्त के थक्के और चोटों को सही करने के लिए जरुरी प्रोटीन को एकत्रित करने का कार्य करता है।
  • रास्पबेरी में विटामिन ‘के’ उचित मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें अन्य पोषक तत्व भी मौजूद होते है। जिससे हड्डियों का विकास सही ढंग से हो पाता है।
  • हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए सभी को इसका सेवन करना चाहिए।

झुर्रियों से निजात

  • रास्पबेरी झुर्रियों से निजात दिलाने में बहुत ही लाभकारी होती है।
  • यह सूर्य से आने वाली हानिकारक किरणों से त्वचा की रक्षा करने का कार्य करता है।
  • रास्पबेरी में विटामिन C होने के कारण यह त्वचा पर होने वाले दाग धब्बो को भी दूर करने का कार्य करती है।

उपयोग विधि

  • इसके उपयोग के लिए दो कप ताज़ी रास्पबेरी और एक कप दही को अच्छे से मिला ले।
  • इस मिश्रण को तब तक मिलाते रहे जब तक की यह पूरी तरह से चिकना नहीं हो जाता है।
  • चिकना हो जाने के बाद इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाए और 15 मिनट तक इसे लगा रहने दे।
  • उसके बाद चेहरे को हलके गर्म पानी से धो ले।

मस्तिष्क को तेज करे

  • यदि आप अपने दिमाग को तेज करना चाहते है तो रास्पबेरी का सेवन करना आपके लिए बहुत लाभकारी सिद्ध होगा।
  • रास्पबेरी का सेवन करने से शरीर में फ़्लवोनोइडस का संचार होने लगता है। जिसके कारण ही याददाश्त में वृद्धि होती है और दिमाग तेज बनता है।
  • यह बच्चे से लेकर वृद्ध लोगो के दिमाग को बढ़ाने में सहायता करती है।

ह्रदय सम्बन्धी रोगों से दूर रखे

  • रास्पबेरी का सेवन ह्रदय को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • इसमें उच्च मात्रा में फाइबर होता है जो की ह्रदय के लिए फ़ायदेमंद होता है।
  • शोध से पता चला है कि यदि 0.2 मिलीग्राम एंथोसायनिन का सेवन किया जाए तो इससे हृदय रोग का खतरा बहुत कम हो जाता है। आपको बता दे की इस एंथोसायनिन की अच्छी मात्रा रास्पबेरी में उपलब्ध रहती है। इसलिए रास्पबेरी के सेवन से हृदय रोगों का खतरा नहीं रहता है।

रास्पबेरी के अन्य लाभ

  • रास्पबेरी में फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंटस तत्व होते है जो कि कैंसर की कोशिकाओं को फिर से बढ़ने नहीं देता है। तथा कैंसर से आपको बचाता है।
  • आँखों के लिए रास्पबेरी बहुत ही अच्छा होता है। इसके सेवन से आँखों की रौशनी अच्छी रहती है।
  • इसके सेवन से आंतों और फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है।
  • गठिया रोग में भी रास्पबेरी बहुत लाभकारी होती है।
  • अल्झाइमर, मधुमेह जैसे रोगों के लिए भी इसका सेवन करना फ़ायदेमंद होता है।
  • हाजमे की समस्या से अधिकांश लोग ग्रसित रहते है। रास्पबेरी में फाइबर मौजूद होता है जो कि हाजमे के लिए अच्छा होता है।

रास्पबेरी के सेवन के समय रखने योग्य सावधानियां

  • यदि आप नियमित रूप से किसी दवा का सेवन कर रहे है तो रास्पबेरी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले।
  • गर्भवती महिलाओं को भी इसका सेवन डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही करना चाहिए।
Loading...

Spread the love

You may also like...