युवाओ में हमेशा से ही अलग दिखने की चाहत रही है| इसके लिए नयी नयी चीज़ो को करवाते रहते है| अलग दिखने के लिए आजकल बॉडी पियरसिंग का चलन बहुत बढ़ा है| बॉडी पियरसिंग याने कान, नाक, जीभ, नाभि आदि में छेद करवाना। वे जिस रंग के कड़पे पहनते है, शरीर पर उसी रंग की एक्सेसरीज भी पहनना चाहते है

खुद को स्टाइलिश दिखाने के लिए आजकल युवा बेझिझक टंग पियर्सिंग करवा रहे है| इसके बाद फिर वो अलग अलग रंगो के स्टड्स जीभ में पहनते है| कुछ लोग तो एक दूसरे को देखकर यह करवा लेते है|

लेकिन किये गए कुछ अध्यनो में यह साबित हुआ है की यह फैशनएबल तो है लेकिन स्वास्थ्य के लिए बिलकुल अच्छा नहीं है| आइये जानते है Tongue Piercing से जुडी हर जानकारी|

अजीब लेकिन ट्रेंडिंग फैशन में है Tongue Piercing करवाना

Tongue Piercing

बहुत से लोग पियर्सिंग को भी इतना पसंद करते है तो इसके फायदों पर भी हम नजर डालते है|

  • लोग कहते है की यह अच्छी दिखती है|
  • यह बेडरूम में मौखिक आनंद बढ़ा सकता है
  • Cool Tongue Rings पहनना आपको लोगो से अलग दिखाने में मदद करता है|
  • आप पियर्सिंग के दौरान अलग अलग रंग की बॉल्स लगा सकते है| यह बहुत अच्छे अच्छे रंग और डिज़ाइन में मिलती है|

क्या है पियर्सिंग की प्रोसेस:-

  1. सबसे पहले पियर्सिंग करने वाले लोग आपकी जीभ पर मार्क करेंगे|
  2. फिर सुई के माध्यम से छेद करेंगे| इसके बाद वे सुई को निकाल देंगे और आभूषण को ट्यूब के माध्यम से स्लाइड करेंगे जो जीभ में रहता है।
  3. बाद में वो इस आभूषण को बॉल के जरिये बंद कर देंगे| इसके बाद आप जा सकते है|
  4. लेकिन जाने से पहले वो आपसे पूछते है की आप मिरर में देख ले की सब कुछ ठीक है न फिर वे आपको घर जाने देंगे|

क्या है पियर्सिंग के नुकसान?

ओरल पैन

टंग पियर्सिंग में आपको ओरल पैन होता है| और यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है बहुत सारे डेंटिस्ट इसके बारे में बात कर चुके है| चाहे आप मेटल की बनी कोई ज्वेलरी पहनो या फिर फ्लेक्सिबल प्लास्टिक बॉल्स, निचे के दांतो के पीछे के मसूड़ों को बार बार चोट पहुँचती रहती है| इसके अलावा मुँह में खुजली होती है| बहुत सारे लोगो के साथ यह नोटिस किया गया है की वे नींद में टंग पियर्सिंग को रब करते रहते है, जिससे जीभ को हानि पहुँचती है|

बोलने का तरीका

टंग पियर्सिंग से आपके बोलने के तरीके में भी परिवर्तन आ जाता है| जितने ज्यादा वक्त आप इस पियर्सिंग को रखते है, आपके बोलने के पिच में उतनी गिरावट आती है| ऐसा जरुरी नहीं है की जितने भी लोग टंग पियर्सिंग करवाते है सभी के साथ यह दिक्कत होती है, लेकिन हां ज्यादातर मामले में लोगो के बोलने के तरीके में गिरावट देखने को मिलती है|

शोध का नतीजा

इस रिसर्च के अनुसार पियरसिंग करवाने वाले लोगो से जब इसके बारे में पूछा गया तो 100 में से 50% लोगो का जवाब था कि पियरसिंग के कारण उनके मुंह में सूजन आ जाती है| यहाँ तक की 45 प्रतिशत लोगों का कहना था की पियर सिंग की वजह से उनके मुंह में खून आता है।

एक रिसर्च के लिए जब इन लोगो के मुंह का निरीक्षण किया गया तो जो रिजल्ट आये वो आश्चर्य जनक थे| उन लोगो में से 14 प्रतिशत लोगों को दांत फ्रैक्चर मिला और 26.6 प्रतिशत लोगों में मसूड़े पीछे खिसक चुके थे। और तो और जिन लोगो ने यह पियरसिंग करवाई थी उन लोगो को इससे होने वाले नुकसान के बारे में पता भी नहीं था|

मसूड़ों में इन्फेक्शन

जब आप जीभ की पियरसिंग करवाते है तो इसके कारण दिनभर अपनी जीभ को मुंह में ही इधर-उधर करते रहते हैं। इसके चलते बहुत से लोगो को मसूड़ों में इंफेक्शअन हो जाता है। कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बेर्टा के डॉक्टर के अनुसार इसके चलते बोन-लॉस का भी खतरा रहता है|

रक्त की हानि

हमारी जीभ के अंदर बहुत सारी रक्त वाहिकाएं होती है| अगर एक भी छिद्रित हो गयी तो केवल सर्जरी की मदद से ही इसे बंद कर सकते है| इसे बंद करने के लिए कोई भी पियर्सिंग तकनीशियन इसमें मदद नहीं कर सकता है| जब भी आप पियर्सिंग करवाते है हो सकता है की आपकी किसी नस को लग जाये| इससे आपकी जीभ पर स्वेलिंग आ जाएगी और आप अपनी जीभ को ठीक से इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे|

हेपेटाइटिस

यदि आप अनस्टेरेबल उपकरण का प्रयोग करते है तो हो सकता है की हेपेटाइटिस या एचआईवी संक्रमण आपमें फैल सकता है|