Acupressure for Headaches: एक्यूप्रेशर की सहायता से करें अपने सिरदर्द का उपचार

Spread the love

आजकल लोगो में सिरदर्द की समस्या बहुत बढ़ गयी है जिससे अधिकतर लोग ग्रसित रहते है। यह समस्या हर उम्र के लोगो को परेशान करती है।

सिरदर्द होने के कई कारण हो सकते है। कुछ लोगो को सिर में दर्द स्ट्रेस, चिंता और अवसाद के कारण होता है तो कुछ लोगो में यह काम की अधिकता के कारण होता है ।

सिरदर्द की समस्या यदि लगातार बनी रहे तो यह अन्य गंभीर बीमारियों का कारण भी बन सकती है साथ ही माइग्रेन की समस्या भी उत्पन्न कर सकती है। सिरदर्द के उपचार के लिए दवाओं का सेवन भी एक हद तक ठीक रहता है इनका भी अधिक सेवन करना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है।

सिरदर्द को एक्यूप्रेशर के जरिये कम किया जा सकता है जो नुकसानदायक भी नहीं होता है। एक्यूप्रेशर के द्वारा माइग्रेन की समस्या को भी दूर किया जा सकता है। जानते है Acupressure for Headaches के बारे में।

Acupressure for Headaches: इन विधियों से करे सिरदर्द को दूर

Acupressure for Headaches

क्या है एक्यूप्रेशर?

  • एक्‍यूप्रेशर एक प्रकार की चाइनीज चिकित्‍सा पद्धति है जिसके द्वारा कई बीमारियों का उपचार किया जाता है। यह पद्धति पूर्ण रूप से प्राकृतिक होती है।
  • इस पद्धति में शरीर के अंगो के कुछ पॉइंट्स पर दबाव डाला जाता है जिसके कारण रोगों से मुक्ति मिलती है।
  • ऐसा माना जाता है की शरीर में कुछ खास बिंदु होते है जिन पर थोड़ा दबाव डालने से दर्द और रोग दूर हो जाते है।

सिरदर्द के लिए एक्‍यूप्रेशर

  • सिरदर्द को दूर करने के लिए सबसे पहले माथे के बीच के भाग पर अंगूठा या इंडेक्स फिंगर रखे।
  • इसके बाद धीरे धीरे अपने अंगूठे के दबाव को बढ़ाएं और उसे जितना हो सके अपनी क्षमता अनुसार तेजी के साथ दवाएं।
  • इस अवस्था में एक मिनट तक रुके और फिर इसे छोड़ दे। इसके बाद गहरी सांस ले।
  • ऐसा करने से तनाव और थकान भी दूर हो जाती है साथ ही आराम भी मिलता है।

पैरों पर दबाव से करे सिरदर्द दूर

  • पैर की चौथी और पांचवी अंगुली के बीच दबाव बनाने से भी सिरदर्द को दूर किया जा सकता है।
  • यह प्रेशर पॉइंट पैर की चौथी और पांचवी ऊँगली के बीच लगभग एक इंच दूर होता है। इस पॉइंट को पहचान कर उस पर दवाब डाले, इससे सिरदर्द दूर होगा। यह माइग्रेन के दर्द को भी कम करने में सहायक होता है।

हाथोंकी मसाज

  • ऊँगली और अंगूठे के मध्य भाग मैं खिचाव लाये।
  • दूसरे हाथ से ऊँगली और अंगूठे के मध्य भाग में मसाज करे
  • रोजाना कम से कम एक मिनट तक यह मसाज करना चाहिए
  • दोनों हाथो मैं रोजाना यह मसाज करना चाहिए
  • अगर हम ऐसा रोजाना करते है तो यह सिर दर्द और माइग्रेन दोनों के लिए फ़ायदेमंद है
  • रोजाना किये जाने वाली यह व्यायाम क्रिया हमको सर दर्द और माइग्रेन जैसी गंभीर बीमारी से भी मुक्ति दिला सकती है

पंजों पर दवाब

  • पंजों पर दवाब बनाने से भी सिरदर्द दूर होता है।
  • इसके लिए पैर की पहली उंगली और अंगूठे के मध्य भाग पर एक प्रेशर प्वाइंट पाया जाता है।
  • इस भाग पर अंगूठे की मदद से एक मिनट तक दबाव बनाये रखे।
  • साथ ही दोनों उंगलियों के मध्य भाग पर भी धीरे धीरे मसाज करे । इतना करने के बाद गहरी सांसे ले। जब भी आपको सिरदर्द की समस्या होती है तो इस प्रक्रिया को करे, आराम मिलेगा।

गर्दन की मसाज

  • गर्दन के पिछले भाग पर दोनों हाथों को रखे।
  • अब गर्दन के ऊपरी और सिर के निचले भाग को उंगलियों से धीरे धीरे दबाये और जब इन हिस्सों पर थोड़ा दबाव पड़े तो आपको दर्द से राहत मिलने लगेगी।
  • इसके बाद सर को धीरे से पीछे की और ले जाये और कुछ मिनट तक इसी प्रकार रहे और है फिर अपने शरीर को फ्री रखें।
  • कुछ समय तक रोजाना अगर आप यही प्रक्रिया करते है तो भी आप सर दर्द और माइग्रेन जैसी गंभीर बीमारियों से अपने आप को दूर रख सकते है।

आँखों और नाक के मध्य दबाव

  • यदि आप सिरदर्द और तनाव से ग्रसित है तो इस प्रक्रिया को कर सकते है।
  • यह सायनस के रोगियों के लिए बहुत ही उत्तम उपचार होता है।साथ ही जिन लोगो के आँखों में समस्या होती है उनके लिए भी यह लाभकारी होता है
  • इस प्रक्रिया में प्रेशर पॉइंट आंख और नाक के बीच में होता है। आइब्रो के ठीक नीचे के स्थान पर इस स्थान को पहचानकर दबाब बनाये।
  • दबाब बनाने के लिए दोनों इंडेक्स फिंगर की नोक का उपयोग करे।
  • एक मिनट तक दबाब बनाए और फिर गहरी साँस ले।

फेसियल प्रेशर पॉइंट के द्वारा

  • सिरदर्द और माइग्रेन जैसी बीमारी को दूर करने के लिए फेस के पॉइंट पर भी प्रेशर बना सकते है।
  • साथ इस प्रक्रिया द्वारा चहरे से सम्बंधित समस्याएं भी दूर हो जाती है जैसे मुंहासे, चेहरे की सूजन और काले घेरे आदि।
  • फेशियल प्रेशर पॉइंट गाल के मध्य स्थित होता है। इन पॉइंट्स को इंडेक्स फिंगर की मदद से एक मिनट तक दबाये।
  • धीरे धीरे प्रेशर को अपनी क्षमता के अनुसार बढ़ाये । इसके बाद गहरी साँस ले।

इस तरह अपने शरीर के कुछ महत्वपूर्ण भाग पर दबाब की मदद से सिरदर्द को दूर किया जा सकता है साथ ही यह माइग्रेन में भी लाभकारी होता है। शरीर की अन्य समस्याओं को भी दूर करने में यह मदद करता है।

ध्यान रखने योग्य सावधानिया

  • एक्‍यूप्रेशर पद्धति का उपयोग किसी कुशल प्रशिक्षक के द्वारा ही करे।
  • जब तक आपको खुद प्रेशर पॉइंट का सही अनुभव न हो तो इसे खुद से प्रयास न करे नहीं तो लाभ नहीं मिल पाता है।
  • प्रेशर देते समय अपने हाँथ पैरों को अच्छी तरह साफ कर लेना चाहिए यदि आपके नाख़ून बड़े है तो उन्हें काट ले।
  • एक्‍यूप्रेशर के साथ साथ स्वस्थ और संतुलित भोजन करना भी ज़रुरी होता है।
  • एक्‍यूप्रेशर की प्रक्रिया को साफ़ और स्वस्छ स्थान पर ही करना चाहिए तभी यह लाभकारी होता है।
  • जब भी आप प्रेशर ले रहे है तो अपने शरीर को ढीला रखे साथ ही मन से चिंता और तनाव को निकाल देना चाहिए। तभी आपके शरीर को आराम मिल पायेगा।

इस तरह आप एक्‍यूप्रेशर से सिरदर्द और अन्य रोगों से मुक्ति पा सकते है। यदि आपको भी सिरदर्द की समस्या रहती है तो इस पद्धति को अपनाये।

Loading...

Spread the love

You may also like...