Karva Chauth Vrat Mistakes To Avoid: इन ग़लतियों से बचें करवाचौथ पर

हिन्दू धर्म में करवाचौथ के व्रत का बहुत ही महत्व होता है। इस व्रत को सभी सुहागन महिलाएं बड़े ही उत्साह के साथ करती है। यह व्रत सभी सुहागन महिलाओं को बहुत प्रिय होता है क्योंकि इस व्रत के द्वारा सुहागन महिलाएं अपने पति के लिए लंबी आयु और उनके स्वास्थ की मंगल कामना करती है।

करवा चौथ का व्रत कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है। इससे जुड़ी कई कथाएं भी प्रसिद्ध हैं जो इस पर्व का महत्व आम जनमानस में बढ़ा देते हैं।

करवा चौथ का व्रत जब सुहागन महिला सही नियम और अच्छे तरीके से करती है तभी उसे इस व्रत का अच्छा फल मिलता है। वहीं दूसरी ओर जो भी महिलाएं इस व्रत को सही नियम से नहीं करती है तो उन महिलाओ को इस व्रत का सही फल नहीं मिलता हैहिन्दू धर्म में करवाचौथ के व्रत का बहुत ही महत्व होता है। इस व्रत को सभी सुहागन महिलाएं बड़े ही उत्साह के साथ करती है। यह व्रत सभी सुहागन महिलाओं को बहुत प्रिय होता है क्योंकि इस व्रत के द्वारा सुहागन महिलाएं अपने पति के लिए लंबी आयु और उनके स्वास्थ की मंगल कामना करती है।

करवा चौथ का व्रत कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है। इस साल यह व्रत 08 अक्टूबर 2017 रविवार के दिन मनाया जाएगा।

करवा चौथ का व्रत जब सुहागन महिला सही नियम और अच्छे तरीके से करती है तभी उसे इस व्रत का अच्छा फल मिलता है। वहीं दूसरी ओर जो भी महिलाये इस व्रत को सही नियम से नहीं करती है तो उन महिलाओ को इस व्रत का सही फल नहीं मिलता है।

किसी भी तरह की गलती आपके व्रत को ख़राब कर देती है। तो आइए जानते है Karva Chauth Vrat Mistakes to Avoid, जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए।

Karva Chauth Vrat Mistakes to Avoid:करवा चौथ पर ना करे यह गलतिया

Karva Chauth Vrat Mistakes to Avoid

करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिलाओं को नीले, भूरे और काले रंग के कपडे नहीं पहनना चाहिए। इस कलर के कपडे पहनने से आपको व्रत का सही फल नहीं मिल पता है।
करवा चौथ के दिन किसी भी अन्य व्यक्ति को चावल, दूध, दही और सफ़ेद कपड़ा नहीं देना चाहिए।
करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिला को अपने से बड़ी महिला का अपमान नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से अशुभ होता है।
करवा चौथ की पूजा करने से पहले महिलाओं को अपनी बेटी की घर में मिठाई, गिफ्ट, फल और ड्राई फ्रूटस को भेजना नहीं भूलना चाहिए।
करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिला को सुई, धागा, केची और सेफ्टी पिन इन सब चीज़ो का प्रयोग नहीं करना चाहिए, ऐसा करने से भी अशुभ होता है।
करवा चौथ के दिन घर में सोए हुए किसी भी इंसान को उठाना चाहिए।
इस दिन सुहागन महिला को किसी भी इंसान की बुराई, निंदा या फिर चुगली नहीं करना चाहिए। यह सब भी करना अशुभ माना जाता है।
करवा चौथ के दिन किसी भी रूठे हुए इंसान को मनाने के लिए सुहागन महिला को नहीं जाना चाहिए।
करवा चौथ के दिन कथा सुनने के समय सभी सुहागन महिला को पूरे ध्यान के साथ कथा को सुनना चाहिए। यह व्रत केवल सजने सवारने के लिए नहीं होता है, इस व्रत की मदद से सभी सुहागन महिलाओं को एक नई दिशा मिलती है।
करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को किसी भी प्रकार की बुरी भावना को अपने मन में नहीं रखना चाहिए, नहीं तो व्रत का फल नहीं मिलता है।।
इस व्रत के दौरान की गई आपकी गलती आपके व्रत को ख़राब कर देती है। तो आइए जानते है Karva Chauth Vrat Mistakes to Avoid जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए।

Karva Chauth Vrat Mistakes to Avoid: करवा चौथ पर ना करे ऐसी गलतियां

करवा चौथ: Karwa Chauth

  • करवा चौथ महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र की कामना के लिए करती है।
  • करवा चौथ के दिन महिलाएं बिना अन्न जल ग्रहण किये उपवास रखती है और रात को चन्द्रमा के दर्शन व् पति के दर्शन के बाद ही अपना व्रत खोलती है।
  • साथ ही महिलाएं माँ गौरी की पूजा भी करती है। आखिर में पति जल पीला कर पत्नी का व्रत खोलता है।
  • यह व्रत बहुत ही विधि विधान से किया जाता है। इस दिन महिलाएं सोलह शृंगार भी करती है।

करवा चौथ के रश्म: Karwa Chauth Rituals

महिलाएं व्रत तो बहुत ही अच्छे से करती है परन्तु कुछ छोटी छोटी चीजों को अनदेखा करने से यह व्रत फलदायी नहीं रह पाता है। यदि आप उन गलतियों को ना करे तो आप पूर्ण रूप से सही करवा चौथ का व्रत कर पाएंगी। साथ ही व्रत के आपको शुभ फल भी प्राप्त नहीं हो पाएंगे। जानते है वह कौन सी गलतियांं होती हैं जिसे करवा चौथ के दिन नहीं करना चाहिए।

कपड़े के कलर का रखे ख्याल

  • करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिलाओं को नीले, भूरे, सफ़ेद और काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए।
  • इन कलर के कपड़े पहनने से आपको व्रत का सही फल नहीं मिल पता है। इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए ही कपड़ो के रंगो का चुनाव करे।

ना दे यह चीजें

  • वैसे तो दूसरों को दान देना शुभ माना जाता है परन्तु करवा चौथ के दिन कुछ वस्तुओं का दान नहीं करना चाहिए।
  • इस दिन किसी भी अन्य व्यक्ति को चावल, दूध, दही और सफ़ेद कपड़ा नहीं देना चाहिए। इन चीजों को देने से बचे।

अपमान ना करे

  • किसी की निंदा या अपमान करना गलत होता है।
  • लेकिन करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिला को अपने से बड़ी महिला का अपमान नहीं करना चाहिए।
  • ऐसा करने से अशुभ होता है।

बेटी के घर में दे मिठाई

  • करवा चौथ की पूजा करने से पहले महिलाओं को अपनी बेटी की घर में मिठाई, गिफ्ट, फल और ड्राई फ्रूटस को भेजना नहीं भूलना चाहिए।
  • ऐसा करने से आपके साथ साथ आपकी बेटी के घर में भी शुभ फल प्राप्त होता है।

सुई, धागा और कैंची से रहें दूर

  • करवा चौथ के दिन सभी सुहागन महिला को सुई, धागा, कैंची और सेफ्टी पिन आदि जैसी वस्तुओं का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • ऐसा करने से भी अशुभ पहल की प्राप्ति होती है।
  • इसलिए करवा चौथ के दिन इन चीजों को कहीं छुपाकर रख दे। ताकि आपको इनका उपयोग करने की जरुरत ना लगे।

सोते हुए व्यक्ति को ना उठाये

  • कोई भी व्यक्ति यदि नींद में होता है तो उसे उस अवस्था उठाना गलत होता है। उसे खुद से भी उठना चाहिए।
  • लेकिन करवा चौथ के दिन घर में सोए हुए किसी भी इंसान को नहीं उठाना चाहिए। यह अशुभ फलकारी क्रिया है।

चुगली भी ना करे

  • इस दिन सुहागन महिला को किसी भी इंसान की बुराई, निंदा या फिर चुगली नहीं करना चाहिए।
  • यह सब भी करना अशुभ माना जाता है।

रूठे को ना मनाये

  • करवा चौथ के दिन किसी भी रूठे हुए इंसान को मनाने के लिए सुहागन महिला को नहीं जाना चाहिए।
  • ऐसा करना भी शुभ नहीं माना जाता है।

कथा को ध्यान पूर्वक सुने

  • करवा चौथ के दिन कथा सुनने के समय सभी सुहागन महिला को पूरे ध्यान के साथ कथा को सुनना चाहिए।
  • यह व्रत केवल सजने सवरने के लिए नहीं होता है, इस व्रत की मदद से सभी सुहागन महिलाओं को एक नई दिशा मिलती है।

मन को शुद्ध रखें

  • किसी भी व्रत के दौरान तन की शुद्धता के साथ साथ मन की शुद्धता का अपना महत्त्व होता है।
  • करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाओं को किसी भी प्रकार की बुरी भावना को अपने मन में नहीं रखना चाहिए, नहीं तो व्रत का फल नहीं मिलता है।

पति से करे प्रेम

  • वैसे तो प्रत्येक पति पत्नी को एक दूसरे के साथ प्रेम पूर्वक रहना चाहिए परन्तु कभी कभार नोक झोक होती रहती है।
  • लेकिन करवा चौथ के दिन महिलाओ को अपने पति से बुरे शब्द नहीं बोलने चाहिए। ऐसा करने से भी व्रत का फल नहीं मिलता है।
  • यह व्रत पति के लिए ही रखा जाता है और यदि उन्हें ही सम्मान नहीं मिलेगा तो व्रत का महत्त्व ख़त्म हो जाता है।

सुहाग की चीजों को कचरे में ना डाले

  • यदि करवा चौथ के दिन सुहाग की चीजे टूट जाती है या फिर ख़राब हो जाती है तो उन्हें कचरे में नहीं फेकना चाहिए।
  • इसके बजाय इन वस्तुओं को किसी नदी में प्रवाहित कर देना चाहिए।

इस तरह आप छोटी छोटी चीजों को ध्यान में रख कर करवा चौथ को पूरे विधि विधान से कर सकती है। साथ ही ऐसा करने से आपको प्रसन्नता भी होगी। करवा चौथ के दिन अपने मन को शुद्ध रखे। साज शृंगार करे। हाथों में मेंहदी लगाए। विधि विधान से पूजन करे और फिर अपना व्रत खोले। माँ गौरी की पूजा करने के बाद आप चाहे तो ग़रीबों को खाना भी खिला सकती है यह भी बहुत शुभ होता है। साथ ही माता की कृपा आप पर बनी रहती है

नोट – हिन्दू धर्म में लाल रंग को बहुत ही शुभ माना गया है इसलिए आप चाहे तो करवा चौथ के दिन लाल रंग के वस्त्र को पहन सकती है। तो फिर इस करवा चौथ को बांये यादगार और रखे उपरोक्त बातों का ध्यान। तभी आपके और आपके परिवार में बनी रहेगी खुशहाली बनी रहेगी।