Bhut Jolokia: जानें दुनिया की सबसे तीखी मिर्ची कहलाने वाली भूत झोलकिया से जुड़ी रोचक बातें

आज के लेख में हम आपको भूत झोलकिया के बारे में बता रहे है। यह नाम सुनकर आपको थोड़ा अजीब लग रहा होगा। लेकिन हम आपको बता दे की यह दुनिया की सबसे तीखी मिर्ची है। यह मिर्च इतनी ज़्यादा तीखी है की कोई इसे ज़रा सा भी चख ले तो अजीबो ग़रीब हरकत करने लगता है।

यह मिर्च साधारण मिर्च की तुलना में 400 गुना ज़्यादा तीखी है। कई लोगो ने इसे खाने का चॅलेंज भी स्वीकार किया लेकिन इसके खाने के बाद उनकी हालत बेहद खराब हो गयी। नेट पर दिखाई गयी कुछ वीडियोज में इसे खाने वाले लोगो ने कहा की वो अब मर ही जाएँगे।

इन्ही बातों से आप इसके तीखेपन का अंदाज़ा लगा सकते है। जब यह मिर्च इतनी ज़्यादा तीखी है फिर भी ताज्जुब की बात है की इससे कई तरह के लाभ भी प्राप्त हो सकते है। यह भारत के उत्तरी पश्चिम क्षेत्र में बहुतायत मात्रा में पाई जाती है।

इसका इस्तेमाल सुरक्षा सयंत्रों, हेल्थ रिलेटेड उत्पादों एवं दवाइयों के निर्माण में भी बृहत तौर पर किया जाता है। ये आपकी सुरक्षा के साथ साथ आपकी स्वास्थ्य सम्बन्धी सहायता भी करते हैं। आइए आज के लेख में हम Bhut Jolokia के बारे में विस्तार से जानते है।

Bhut Jolokia: सुरक्षा और सेहत दोनो के लिए होती है बहुत फ़ायदेमंद

Bhut Jolokia

भूत झोलकिया

  • Bhut Jolokia Chilli एक प्रकार की मिर्च होती है। इस मिर्च का उपयोग पूरी दुनिया में मसाले के रूप में किया जाता है।
  • इसके पौधे की उचाई लगभग 45 – 120 सेंटीमीटर तक पायी जाती है। इनके पौधे में जो मिर्च लगती है उनकी चौड़ाई 1-1.2 इंच तक मिलती है और यह लम्बाई में 3 इंच से भी अधिक होती है।
  • यदि इस मिर्च की खेती की जाए तो यह 75 से लेकर 90 दिनों में पूरी तरह से तैयार हो जाती है। इसलिए इसकी खेती करने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है।

भूत झोलकिया की खेती

भारत में भूत झोलकिया की खेती नागालैंड, असम, मणिपुर और उत्तरी पश्चिम क्षेत्र में होती है।

इस प्रकार होती है तीखेपन की जाँच

  • भूत झोलकिया के तीखेपन का पता लगाने के लिए स्कोवाइल हीट यूनिट (एसएचयू) का उपयोग किया जाता है।
  • इसके द्वारा यह पता किया जाता है की कौन सी मिर्च कितनी तीखी है। देखा जाए तो सामान्य मिर्च का एसएचयू 2500-5000 तक होता है।
  • परन्तु जब आप भूत झोलकिया मिर्च का एसएचयू नापेंगे तो वह 10,41,427 तक रहता है। इसी से अनुमान लगाया जा सकता है की यह मिर्च कितनी तीखी होगी।

भूत झोलकिया का असर

  • इसे खा लेने से यह व्यक्ति के गले में छेद तक कर देती है।
  • यदि यह मिर्च थोड़ी सी भी शरीर से छू जाती है तो इससे तीब्र जलन पैदा होने लगती है।
  • यदि यह आँखों में पड़ जाये तो आँखों में आंसू के साथ साथ जलन होती है।
  • इसे खाने से तुरंत उल्टियां आना भी शुरू हो सकती है और पेट में दर्द भी होने लगता है।
  • इन्ही कारणों से इसे दुनिया की सबसे अधिक ज्वलनशील मिर्च माना गया है।

भूत झोलकिया के अन्य नाम क्या है?

  • घोस्ट पेपर (Ghost pepper)
  • घोस्ट चिली (Ghost Chili)
  • U-Moro
  • रेड नागा
  • नागा झोलकिया
  • घोस्ट झोलकिया
  • Hottest Chilli
  • घोस्ट चिल्ली पेपर: Ghost Chili Pepper

हथगोलों में होता है उपयोग

  • इस मिर्च का उपयोग दुश्मनों को भागने में भी किया जाता है।
  • इस मिर्च के Hottest Chilli in the World होने के कारण इसका उपयोग हाथ गोलों के अंदर भरने वाले पदार्थ के रूप में भी किया जाता है।
  • यदि यह एक बार किसी के शरीर पर गिर जाती है तो घाव उत्पन्न कर सकती है। इसके अलावा यह जलन भी पैदा करती है।

महिलाओ की सुरक्षा करेगी

  • यह तीखी मिर्च अब महिलाओ की सुरक्षा करने में भी मदद करेगी।
  • रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने महिलाओ के लिए एक सुरक्षा हथियार बनाया है, और उस हथियार में इस तीखी मिर्च का प्रयोग भी किया है।
  • यह हथियार मुसीबत में महिलाओ की रक्षा करेगा।

उपद्रवियों को कंट्रोल कर सकेंगे

  • यह तीखी Bhut Jolokia Mirchi केवल महिलाओ की सुरक्षा तक ही सीमित नही है। इसका प्रयोग बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स ने चिली ग्रेनेड बनाने में भी किया है।
  • इस तरह सिक्योरिटी फोर्स दंगा करने वाले को नियंत्रित कर सकती है। इस चिली ग्रेनेड से निकालने वाली मिर्च उपद्रवी के आँसू निकालकर, शरीर में जलन पैदा कर देती है।
  • जैसे ही इस मिर्च को उपद्रवियों पर दागा जाता है आँख में बहुत ज़्यादा जलन होने लगती है और दम भी घुटने लग जाता है।
  • यह मिर्च इतनी ज़्यादा तीखी है की इसका थोड़ा सा स्वाद भी जीभ पर लगने पर व्यक्ति अजीबो ग़रीब व्यवहार करने लगते है।
  • दरअसल इस मिर्ची में पाए जाना वाला ओलियोरेसिन तत्व इसका स्वाद तीखा करता है।
  • सुरक्षा बल इस मिर्च का उपयोग उपद्रवियों के विरुद्ध भी उपयोग करते है। आपको बता दे की हाथ गोले के अलावा भी इसका इस्तेमाल आँसू गैस के गोले बनाने में किया जाता है।
  • आँसू गैस के गोले का उपयोग करके उपद्रवियों को तीतर बितर किया जा सकता है।
  • बीएसएफ के लोग इसका इस्तेमाल करते है जिसके कारण वह उपद्रवियों पर नियंत्रण पाते है।

इसके हेल्थ से जुड़े फायदे भी है

  • इस मिर्ची से मेडिसिनल फायदे भी मिलते है। दरअसल इस मिर्च में मौजूद एक प्रमुख घातक कैप्साइसिन नामक तत्व आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • इस मिर्च से सबसे बड़ी आशा यह लगी हुई है की शायद इससे कैंसर का इलाज कर पाने में सफलता मिल जाए।
  • कैप्साइसिन के चिकित्सीय शोध से यह बात सामने आई है की यह प्रोस्टेट कैंसर की कोशिकाओं और फेफड़ों के कैंसर की कोशिकाओं को मार सकती है।
  • साथ ही यह ल्यूकेमिया सेल्स के विकास को भी रोकती है। यहाँ तक की भारत में कुछ लोग इस मिर्च से बने पाउडर से पेट की कई बीमारियों का इलाज भी करते है।
  • इसके अलावा कैप्साइसिन गठिया में होने वाले दर्द, रक्तचाप, मांसपेशियों में दर्द और तनाव, मोच लगना, पाचन से संबंधित समस्याएँ आदि में फ़ायदेमंद है।

नोट – जैसा की आप जान ही गए होंगे की यह मिर्च कितनी तीखी होती है जिसे खाना मुमकिन नहीं होता है। लेकिन दुनिया में ऐसे भी कई लोग है जिन्होंने इसे खाकर रिकॉर्ड को कायम भी किया है। हालाँकि इसके कारण उन्हें कुछ दिनों तक अस्पताल में भी रहना पड़ा है।

उपर आपने Bhut Jolokia मिर्च के बारे में जाना। इस मिर्च को पश्चिमी दुनिया में सन 2000 में पेश किया गया था। वर्ष 2007 में इसका नाम गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया। कहा गया की यह पूरे ग्रह की सबसे तीखी मिर्च है।


You may also like...