शिमला मिर्च का नाम तो आप सबने सुना होगा। यह खाने में  बेहद स्वादिष्ट लगती है इसलिए इसका प्रयोग कई व्यंजनो में किया जाता है। इसे सलाद के रूप में, सब्जी के रूप में, चाइनीस फास्ट फुड में आदि खाद्य आहरो में  शामिल किया जाता है। यह तीन रंगो में देखने को मिलती है जैसे लाल, पीली और हरी।

शिमला मिर्च पोष्टिक सब्जियो में से एक है। आपने भले ही इसे केवल एक साधारण सब्जी के रूप में खाया होगा लेकिन यह स्वास्थ्य से संबंधित कई फायदे पहुंचाती है।

हम आपको बताना चाहते है की शिमला मिर्च को बहुत पुराने समय से अस्थमा और कैंसर जैसी ख़तरनाक बीमारियो के उपचार के लिए प्रयोग किया जा रहा है।

शिमला मिर्च कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वो जैसे विटामिन सी, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। इसमे पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स भी मौजूद होते है। इसलिए आज से ही इसे अपनी डाइट में शामिल कर लीजिए। आइए जाने और भी कई Capsicum Benefits in Hindi.

Capsicum Benefits in Hindi: जानिए शिमला मिर्च से मिलने वाले फायदे

Capsicum Benefits in Hindi

हरी, लाल, पीली तीनो शिमला मिर्च ही सेहत के लिहाज से लाभप्रद होती है। तीनो में ही विटामिन ए, विटामिन सी और बेटा कैरोटीन की भरपूर मात्रा होती है। इस  सब्जी में बिल्कुल भी कैलोरी नही होती है। इसलिए वजन घटाने की चाहत वालो के लिए यह सब्जी लाभकारी है। तो आइए जानते है Shimla Mirch Benefits:- 

पाचन तंत्र दुरुस्त करे

हमारे शरीर की अधिकतर समस्याए हमारे पाचन तंत्र से जुड़ी होती है। यदि खाने का पाचन ठीक से नही होता है तो दस्त, कमज़ोरी आदि परेशानिया शरीर को लग जाती है। इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पाचन तंत्र का स्वस्थ रहना सबसे पहले ज़रूरी है।

शिमला मिर्च में पाचन से संबंधित समस्याओ को दूर करने के कई गुण होते है। इसका सेवन करने से पाचन क्रिया सुचारू रूप से कार्य करने लगती है। जिससे पेट में दर्द रहना, गॅस बनना, कब्ज आदि से निजाद मिलती है। इसके अतिरिक्त इसको खाने से वाले छाले भी दूर हो जाते है।

कैंसर से बचाव

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। यदि आपको शरीर में किसी तरह की साधारण गाँठ भी हो तब भी आपको कैंसर होने का ख़तरा बना रहता है। माना जाता है की शिमला मिर्च में कैंसर से बचाव करने के भी गुण होते है। इसका सेवन आपके शरीर में कैंसर के सेल्स को विकसित नही होने देता है। इसलिए हर रोज किसी ना किसी रूप में  इस सब्जी का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

वजन घटाने में मददगार

यदि आप अपने बढ़ते वजन से परेशान है तो आपको बिना कुछ सोचे शिमला मिर्च को अपने आहार में शामिल कर लेना चाहिए। इसमे क्लोरी की मात्रा ना के बराबर होती है। इसलिए इसे खाने से आपका वेट लॉस होता है। साथ ही इससे मेटाबोलिज्म भी सुधरता है।

दरहसल इसका सेवन करने से आपका पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है। यह शरीर से सारे विशेले पदार्थो को बाहर निकल देती है। इसलिए इससे वसा घटता है।

मधुमेह में फायदेमंद

यदि हम अपने आसपास देखे तो हमे हर चौथा इंसान मिल जाता है जो मधुमेह से ग्रस्त है। यह आजकल की एक आम बीमारी बन गयी है। लेकिन शिमला मिर्च के सेहतमंद फायदों की बात करे तो इसका सेवन करने से मधुमेह से राहत मिलती है। इससे शरीर में शर्करा का स्तर सही होता है।

हृदय को स्वस्थ रखे

शिमला मिर्च में आपके दिल की सेहत को अच्छे रखने वाले भी कई गुण होते है। दरह्सल इसमे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत कम होती है इसलिए इसका सेवन करने से हृदय की धमनिया कभी भी बंद नही होती है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

इसमे विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है। इसलिए इसका सेवन आपके त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। इससे त्वचा में कसाव आता है। इससे हड्डिया भी मजबूत बनती है।

वही यदि हम लाल शिमला मिर्च की बात करे तो इसमे बेटा करोटीन होता है। यह शरीर में प्रवेश कर विटामिन ए में परिवर्तित हो जाती है। इसलिए झुर्रियो के विकास को रोकने और रंग को साफ करने में इसका सेवन लाभप्रद है।

बालो के लिए लाभप्रद

आप भले ही शिमला मिर्च को केवल एक सलाद समझकर इसका सेवन करते है। लेकिन यदि हम लाल शिमला मिर्च की बात करे तो इससे बालो की झड़ने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। क्योकि यह विटामिन बी 6 का अच्छा स्त्रोत है।

यह बालो के रोम को ऑक्सिजन की भरपूर मात्रा पहुचता है। साथ ही यह बालो की जड़ में रक्त का संचार सुधरता है। इससे बालो का विकास होता है और बाल झड़ना बंद हो जाते है। यह बालो को सफेद होने से भी रोकता है।

अन्या फायदे इन्हे भी जाने:-

  1. लाल शिमला मिर्च आँतो में होने वाली सिकुड़न को कम करती है। इसलिए यह अल्सर के इलाज में फायदेमंद है। साथ ही यह गैस्ट्रिक समस्याओ को दूर करने में भी सहायक है।
  2. शिमला मिर्च में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, सी और एंटीऑक्सीडेंट होता है। इससे दिल से जुड़ी बीमारियो और मोतियाबिंद से बचाव होता है।
  3. इसमे दर्द निवारक तत्व पाया जाता है। यह दर्द को त्वचा से स्पाइनल कॉर्ड तक जाने से रोकती है। इसलिए नसो के दर्द के इलाज में यह सहायक है। इसके अतिरिक्त गठिया की समस्या से भी इसमे राहत मिलती है।
  4. इसमे विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। इसलिए यह व्हाइट सेल्स को इन्फेक्शन से लड़ने में उत्तेजित करती है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।
  5. शिमला मिर्च सास से संबंधित समस्याए जैसे फेफड़े का इन्फेक्शन और अस्थमा से बचाव करती है।
  6. यह शरीर में समाए ट्राइग्लिसराइड के लेवल को कम करती है। इससे कैलोरी को जलाने में मदद मिलती है।
  7. लाल शिमला मिर्च में कैप्सीकन मौजूद होता है। यह शरीर के रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करता है। इसलिए हाइपरटेंशन के मरीज़ो को इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए। इससे भी रक्तचाप के स्तर में कमी पा सकते है।
  8. कमजोर दृष्टि वालो के लिए भी शिमला मिर्च बहुत उपयोगी है। दरहसल इसमे मौजूद विटामिन ए आँखो के लिए उपयोगी होता है। वही इसमे मौजूद अन्य योगिक उम्र से संबधित आँखो की समस्याओ के ख़तरे को कम करने में सहायक है।
  9. विटामिन सी से भरपूर होने की वजह से यह संक्रामक रोगो से लडमे में मदद करती है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने भी कारगर है। इससे लंग इन्फेक्षन से बचाव होता है।

आपने शिमला मिर्च के फायदों के बारे में तो जान ही लिया है तो फिर ज़रूर आप इससे बने व्यंजनो के बारे में  जानने की चाहत रख रहे होंगे। तो आइए जाने:-

शिमला मिर्च रेसिपी: जाने इसके स्वादिष्ट व्यंजन

Shimla Mirch Recipe in Hindi

वैसे तो शिमला मिर्च से कई तरह के व्यंजन बनते है। लेकिन पनीर बहुत लोगो को पसंद होता है इसलिए आज हम आपको पनीर भरवा शिमला मिर्च रेसिपी को बनाना बता रहे है।

सामग्री:

  • 4 बड़े आकर की शिमला मिर्च
  • 1 प्याज
  •  250 ग्राम पनीर
  • अदरक – लहसुन का पेस्ट
  • लाल मिर्च पाउडर
  •  जीरा पाउडर
  • धनिया पाउडर( सभी 1 चम्मच)
  • चाट मसाला 2 चम्मच
  • तेल 3 चम्मच
  • चुटकीभर गरम मसाला और स्वादानुसार नमक

 

विधि:

शिमला मिर्च को अच्छी तरह धो ले और बीच में उपर की और छेड़ कर ले। अब उसके बीजो को स्कूफर की मदद से बीज निकाल ले। अब शिमला मिर्च के चारो और तेल और हल्का नमक लगाए। इसके बाद पेन में थोडा सा तेल डाले और उसमे शिमला मिर्च को गोल्डन ब्राउन फ्राइ कर ले। अब इसे अलग हटाडे और उसी पैन में 2 चम्मच तेल डाले, फिर जीरा डाले। अब कटी प्याज को डालकर गोल्डन ब्राउन होने तक भुन ले।

अब पेन में अदरक और लहसुन का पेस्ट, निर्देशानुसार लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, धनिया पाउडर और चाट मसाला डाले। अब 5 मिनिट धीमी आँच पर फ्राइ कीजिए। अब पनीर मसल कर डाले और फिर नमक डालकर हिलाए। फिर गरम मसाला डालकर इसे पूरी तरह पकाए। जब आपका मिश्रण तैयार हो जाएगा तब आँच बंद कर दे और उसे ठंडा होने के लिए रख दे। अब इसे शिमला मिर्च में भर ले और अच्छी सी प्लेट में सर्व करे|

उपर आपने जाना Capsicum Benefits in Hindi और शिमला मिर्च से बनने वाले व्यंजनो के बारे में| ज्यादातर बच्चे शिमला मिर्ची की सब्जी खाना पसंद नही करते है। इसलिए आप उन्हे अलग अलग तरह से उसके पकवान बना के दे या उपर दी गयी रेसिपी को भी दे सकते है। इससे उन्हे अच्छा स्वाद मिलेगा और आपको उनकी सेहत।