कैविटी दांतों में होने वाले छोटे छिद्र होते हैं जो दांतों की सडन के कारण होते हैं| दांतो में कीड़ा लगना लोगो में आम बात हो गयी है। जिसे लोग शुरुआत में नजरअंदाज कर देते है|

लेकिन जब यह समस्या बढ़ जाती है तो दांतो में दर्द होने लगता है। और तब सभी डॉक्टर के पास भागते है| कैविटी, दांतों की स्वच्छता में कमी, डाइट में आवश्यक मिनरल्स की कमी और दांतों की सतह पर बैक्टीरिया और प्लाक बनने के कारण होती हैं|

इनके उपचार के लिए डेंटिस्ट को फ्लोराइड ट्रीटमेंट देने, फिलिंग या एक्सट्रेक्टशन (दांत उखाड़ना) की आवश्यकता पड़ती है| इसलिए  कुछ महीनो के अंतराल में डॉक्टर से अपने दांतो की जाँच जरूर करवाए। नहीं तो आपके पुरे दांत ख़राब हो जाते है|

छोटे बच्चो को दांतो में कीड़े जल्दी लगते है इसलिए उनके दांतो की विशेष देखभाल करनी चाहिए| इसके लिए डॉक्टर भी अच्छी तरह से दांतो को साफ़ रखने की सलाह देते है| अच्छा रहेगा यदि आप सुबह और रात को सोते समय दांतो पर अच्छी तरह ब्रश करके सोये| आज के लेख में हम आपको Cavity Symptoms and Treatment के बारे में बता रहे है|

Cavity Symptoms and Treatment: दांतों में होने वाले छोटे छेद के कारण

Cavity Symptoms and Treatment

इन कारणों से दांतों में होती है कैविटी

  • हम सभी के मुँह में बैक्टीरिया पाए जाते है।
  • किसी भी रूप में यदि हमारे खाने पीने के वस्तु मे शक्कर है तो मुँह के बैक्टीरिया इस शक्कर को एसिड में परिवर्तित कर देते है।
  • भोजन के कण भी एसिड में बदल जाते है|
  • फिर यह एसिड धीरे धीरे दांत को अंदर तक खोखला कर देता है।
  • और यह कैविटी का कारण बनता है|
  • यह देखने पर ऊपर से सिर्फ छोटा सा काला दाग दिखाई देता है।
  • परन्तु हो सकता है की अंदर से दांत ज्यादा नष्ट हो चुका हो।

इसके ये कारण भी हो सकते है:-

इनेमल के कमजोर होने से भी कीड़ा लग सकता है। दांत में पाया जाने वाला इनेमल के कमजोर होने के बहुत से कारण हो सकते है।

  1. दांतों की सफाई उचित तरीके से नहीं कर पाना
  2. किसी प्रकार का तनाव या दिमागी बीमारी के कारण
  3. बार बार और बहुत ज्यादा मात्रा में मीठे पदार्थ खाना या पीना

अपने दांतो को कैविटी से कैसे बचाये:-

  • अपने भोजन में पौष्टिक खुराक जिसमे मैग्नीशियम, कैल्शियम, विटामिन डी आदि पर्याप्त मात्रा में हो उसे शामिल करेI
  • मिठाई ,चॉकलेट आदि मीठे चीजों का सेवन कम करे I
  • दाँतों पर चिपकने वाली चीजें खाने से बचें। यदि आपने ऐसा कुछ खाया पिया है तो उसके बाद ब्रश कर लें I
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएँ। क्यूँकि इससे मसूड़े गीले रहते है और उन पर भोजन चिपकता नहीं है।

कैविटी का इलाज

  • यदि आपको कीड़े लगने की आशंका हो तो डॉक्टर को तुरंत दिखाए|
  • डेंटिस्ट दांत को एक्स-रे करके देखता है की है दांत अंदर से कितना खोखला हो चूका है।
  • डेंटिस्ट दांत के ख़राब हुए काले हिस्से को छोटी ड्रिल मशीन से साफ करता है और उसमे चांदी या रेसिन भर देता है इसे दाँत की फिलिंग करना कहते है।