Sleep Jerk: क्या आपको भी आते है नींद में झटके? जाने इसका कारण

दिन भर की थकान के बाद जब सोने के लिए बिस्तर पर आते है तो स्वर्ग सा अनुभव होता है। वह सुकून भरी नींद बहुत ही आरामदायक होती है। ऐसी नींद हर किसी को पसंद होती है।

परन्तु कुछ लोगो के साथ सोते समय कई चीजें होने लगती है जैसे की नींद में बड़बड़ाना, नींद में चलने की आदत का होना आदि।इसी तरह कुछ लोगो को सोते समय नींद में झटके लगते है।

क्या आप जानते है की ऐसा क्यों होता है? क्या वजह होती है नींद में एकाएक ही झटके आने लगते है? और यह कब होता है जब हम नींद में होते है या फिर जब हम कच्ची नींद में होते है?

सोते समय नींद में झटके लगना स्लीप जर्क कहलाता है। तो आईये इस लेख के जरिये जानते है Sleep Jerk के बारे में विस्तार से।

Sleep Jerk: क्या है यह समस्या? जाने इसका कारण और बचाव

Sleep Jerk in Hindi

स्लीप जर्क क्या होता है?

  • स्लीप जर्क को हाइपेनिक जर्क के नाम से भी जाना जाता है।
  • इसमें झटके उस समय महसूस किये जाते हैं जब व्यक्ति गहरी नींद में नहीं होता है यानी न तो पूरी तरह उठा होता है और न ही पूरी तरह सोया हुआ। जिसे कच्ची नींद कहा जाता है।
  • कभी-कभी दिमाग की नसों में संकुचन होता है जिसके कारण दिमाग कुछ ऐसी प्रतिक्रियाएं करता है जो झटके के रूप में महसूस होती है।
  • इसमें कभी कभी ऐसी स्थिति आ जाती है की लोग अपने बिस्तर से नीचे भी गिर जाते है या फिर जोर-जोर से चिल्लाने लगते है।

स्लीप जर्क के आने की वजह

  • इसके होने के कारण अलग-अलग लोग अलग-अलग बताते है जैसे की उनका मानना होता है की जब लोग सपने में उलझे रहते है या फिर किसी सपने में गिर रहे होते है तो झटके लगते है।
  • शोध के अनुसार सोते समय मांसपेशियों में ऐंठन होने की वजह से भी झटके महसूस होने लगते हैं।
  • तनाव में होना, थकान का अनुभव करना या फिर कैफिन का अधिक मात्रा में सेवन करना भी नींद में झटके लगने का कारण होता है।
  • आजकल की भागदौड़ वाली जिंदगी में आराम करने की बजाय केवल काम करते रहना, देर रात तक जागना और टीवी देखना आदि के कारण दिमाग को आराम नहीं मिल पाता है जिसके कारण भी झटके लगते है।
  • जेनेटिक डिसऑर्डर के कारण भी स्लीप जर्क की समस्या होती है।

कैसे करे स्पील जर्क से बचाव

  • शराब का सेवन न करे।
  • चिंता और अवसाद को खुद से दूर रखे।
  • इसके अतिरिक्त सोते समय व्यायाम करके इसे कम कर सकते है।
  • कैफीन के सेवन में कमी भी इसके लिए फ़ायदेमंद होती है।
  • स्लीप जर्क के लिए वैसे तो कोई कारगर इलाज नहीं होता है परन्तु इसे पर्याप्त नींद के जरिये ठीक किया जा सकता है।

You may also like...