सोरायसिस एक ऑटोइम्यून स्थिति है जो आपकी त्वचा को प्रभावित करती है। यह एक प्रकार का चर्म रोग है। इसका मुख्य लक्षण त्वचा पर धब्बे होते हैं जो लाल या चांदी जैसे सफेद होते हैं।

सोरायसिस किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यदि आप सोरायसिस से पीड़ित हो जाते है तो सामान्य लक्षण आपको अपने अंदर दिख सकते है जैसे त्वचा में खुजली होना, त्वचा का लाल रंग का होना तथा उसमे दर्द, कभी-कभी त्वचा रूखी हो जाती है और उससे रक्तस्राव होने लगता है|

सोरायसिस कम से कम 2 प्रतिशत आबादी को प्रभावित करता है| सोरायसिस के बारे में अच्छी खबर यह है कि इसके लिए बहुत से हर्बल उपचार हैं। प्राकृतिक हर्बल उपचारों के उपयोग से आप सोरायसिस से राहत पा सकते है।

इसके इलाज के लिए प्राकृतिक उपचार की खोज के लिए अधिक से अधिक शोध निरंतर हो रहे है| आइये जानते है कुछ Herbs for Psoriasis जो इस त्वचा रोग को कम करने में मदद करते है|

Herbs for Psoriasis: हर्ब्स जो सोरायसिस में है मददगार

Herbs for Psoriasis

एलो वेरा

  • एलो वेरा कोमल और ठंडा होता है। एलो वेरा त्वचा कोशिकाओं को पुनर्जन्म करने में भी मददगार होता है|
  • सोरायसिस के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली क्रीम्स में भी 0.5 प्रतिशत एलो वेरा का इस्तेमाल किया जाता है|
  • मायो क्लिनिक के मुताबिक एलो वेरा क्रीम को प्रति दिन 3 बार 5 दिनों तक लगाने से सूजन कम हो सकती है I
  • यह त्वचा पर हो रही खुजली को भी कम करती है और कम मात्रा में हो रहे सोरायसिस को हल्का करने में मदद मिल सकती है।
  • इस उपचार को लगातार इस्तेमाल करने से 3 से 4 सप्ताह के बाद त्वचा की लालिमा कम होती है|

कैप्साइसिन

  • चीली पेपर में कैप्साइसिन नामक एक घटक होता है। यही कारण है कि जब आप मिर्च के साथ खाना खाते हैं तो आपको जलन महसूस होता है I
  • पर क्या आप जानते है की कोशिकाओं के इस तरह “जलने” की क्षमता ही सोरायसिस में मददगार होती है।
  • इसलिए टोपिकल कैप्साइसिन की मदद से सोरायसिस के उपचार पर अध्यन किया गया| यह अध्यन पुरे 6 हफ्तों तक चला|
  • जब आप पहली बार कैप्साइसिन का उपयोग करना शुरू करते हैं, तो आपको जलन का अनुभव हो सकता है।

हल्दी

  • हल्दी में एक सक्रिय संघटक मौजूद होता है जिसे curcumin कहा जाता है।
  • इसके अलावा हल्दी में एंटी -इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो की सोरायसिस को कम करने में मदद करते है|

ओट्स

  • लोगो का कहना है की ओट्स त्वचा के लिए बहुत अच्छी होती है|
  • यदि आप एक टब पानी में ओट्स डालकर खुद को भिगोते हो तो इससे आपको खुजली की समस्या में राहत मिलती है|
  • इसके बाद एक अच्छी गुणवत्ता वाला मॉइस्चराइजर लगाए आपको तत्काल असर दिखाई देगा।

सेंधा नमक

  • अपने नहाने के गर्म पानी में 15 या 20 मिनट के लिए इस नमक को भिगो दे।
  • यह खुजली को रोकने में सहायक होता है।

इसके अतिरिक्त ऑरेगोन ग्रेप, टी ट्री आयल ,गोटू कोला, सेब का सिरका, मुलैठी की जड़, विच हैज़ल और गेंदा भी सोरायसिस का उपचार करने में मदद करते है|