Diseases That Cause Eye Problems: ये बीमारियां करती है आँखों को प्रभावित

आँखे हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा होती हैं, इसलिए आँखों का ख्याल रखना भी बहुत ज़रुरी होता है। इन आँखों के जरिये ही हम इस दुनिया की खूबसूरती को देख सकते है और अपने लम्बे जीवनकाल में आने वाले अच्छे-बुरे समय को बिना किसी परेशानी के बिता सकते हैं।

आँख एक बहुत हीं सेंसिटिव अंग माना जाता है। शरीर के किसी भी हिस्से में परेशानी हो तो इसका असर आँखों पर भी पड़ता है। सरदर्द, तनाव, थकावट, बुखार आदि के समय हमारी आँखे लाल हो जाती हैं और कभी कभी दर्द भी करने लग जाती हैं। इसके अलावा भी हर परेशानी का असर आँखों में देखने को मिल जाता है।

अगर आपका शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त है तो यह भी आपकी आँखों से पता चल जाता है। ऐसे में आपकी आँखें फ्रेश और आत्मविश्वास से लबरेज दिखेंगी। यहाँ तक की भी आपकी ख़ुशी भी आँखों से जाहिर हो जाती है। अब आप समझ गए होंगे की आँखे हमारे जीवन के लिए कितनी महत्वपूर्ण है।

इसी कारण से हमे कभी भी अपनी आँखों में होने वाली समस्याओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए । छोटी से छोटी समस्याओं को भी गंभीरता से ले कर इस बारे में डॉक्टर से राय ले कर उपचार करवानी चाहिए। आपको बता दे की कुछ बीमारियों की वजह से भी आपकी आँखे प्रभावित होती है। इसलिए यह जानना आवश्यक है की किन बिमारियों की वजह से हमारी आँखे ख़राब हो सकती है। आईये जानते है Diseases That Cause Eye Problems.

Diseases That Cause Eye Problems: ये बीमारियाँ कर सकती हैं आपकी आँखें ख़राब

Diseases That Cause Eye Problems

डायबिटीज़ से हो सकता है मोतियाबिंद

  • मोतियाबिंद आँखों में होने वाली एक आम समस्या है जो बढ़ती उम्र में होता है।
  • मोतियाबिंद होने का एक कारण Diabetes भी माना जाता है।
  • डायबिटीज़ से लोगो के कई अंगों सहित आँखे भी ख़राब होने लग जाती है।
  • इसलिए जिन लोगो को डायबिटीज़ होता है उनको अपनी आँखे समय समय पर जाँच करवा लेनी चाहिए।
  • डायबिटीज़ रोगी को मोतियाबिंद होने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।
  • साथ ही कई डायबिटीज़ रोगी की तो आँखों की रौशनी भी धीरे धीरे जाने लगती है।

हाई कोलेस्ट्रॉल से होता है आँखों को डेमेज

  • शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बहुत हाई हो जाने से आँखों की आर्टरीज़ में सही तरीके से रक्त का प्रवाह नहीं हो पाता है। जिसके कारण आपको देखने में परेशानी होने लग जाती है।
  • इस समस्या के बढ़ने पर अच्छे प्रकाश भरे कमरे में भी आपको देखने में समस्याएं पेश आती हैं।
  • इस दौरान पीड़ित की आँखों में दर्द भी बढ़ जाता है।
  • आप ऐसे समय में अपनी आँखों के ऊपर या फिर किनारों में पीले रंग का कोलेस्ट्रॉल जमा हुआ भी देख सकते हैं।
  • High Cholesterol हो जाने से आँखों की रोशनी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • इस समस्या के होने पर कभी आपकी ठीक ठीक दिखाई देगा और कभी कभी दिखाई नहीं देगा ।

आँखों पर रेटिनल माइग्रेन

  • Retinal migraine, माइग्रेन का हीं एक दुर्लभ रूप होता है।
  • इसमें आपको आँखों में कुछ मिनटों के लिए ब्लैक स्पॉट्स दिखाई देने लग जाते हैं या फिर इस दौरान आँखों में दर्द भी होने लग जाता है।
  • इस तरह की बीमारी हो जाने के बाद जब कभी आँखों के सामने किसी लाइट की फ्लैश आती है तो ठीक से कुछ भी दिखाई नहीं देता है।

स्ट्रोक से जाती है आँखों की रौशनी

  • स्ट्रोक की समस्या भी आँखों के लिए खतरनाक मानी जाती है।
  • स्ट्रोक आने से कभी कभी एक आँख की रौशनी चली जाती है या फिर कभी कभी दोनों आँखों की भी रौशनी चली जाती है।
  • यह इसलिए होता है क्योंकि स्ट्रोक से आँखों की नर्व्स डैमेज होने लग जाते हैं।
  • कभी कभी स्ट्रोक आने से एक चीज़ दो दो दिखने लग जाती हैं।

थाइरॉइड से डबल विज़न की समस्या

  • थाइरॉइड की बीमारी होने पर भी इसका असर आँखों पर पड़ सकता है।
  • जो लोग Thyroid से पीड़ित होते है उनकी आँखे बाहर निकली हुई नजर आत हैं।
  • थाइरॉइड से पीढ़ी रोगी को एक वस्तु दो दो भी दिख सकते हैं।

ऑटोइम्‍यून रोग से आंखों को नुकसान

  • Autoimmune Disease एक ऐसा रोग होता है जिसमें कई प्रकार की बीमारियाँ होने लग जाती है।
  • यह बीमारी शरीर के कई सारे अलग-अलग अंगों को प्रभावित कर देता है।
  • नेत्र चिकित्सकों के लिए एक पेशेवर संगठन अमेरिकन अकेडमी ऑफ ऑप्थाल्मोलॉजी ने कहा है की ऑटोइम्यून बीमारी से ग्रस्त सभी वयस्कों को 40 साल की आयु तक अगर आँखों की जांच ना करवाई हो तो एक बार आँख की जांच ज़रूर करवा लेनी चाहिए।
  • ऑटोइम्‍यून रोग के कारण आँखों की परेशानी बढ़ सकती है और धीरे धीरे देखने की क्षमता भी जा सकती है।

यूवाइटिस

  • Uveitis आंखों में सीधे परितारिका के वर्णक कोशिकाओं को प्रभावित करता है, और कभी-कभी आंखों की बीच की परतों को भी नुकसान पहुंचाता है ।
  • यह सूजन का कारण बनता है, जिससे धुंधली दृष्टि, फ्लोटर्स और आँखों के लाल हो जाने की परेशानी बढ़ जाती है ।

सोरायसिस

  • Psoriasis स्किन की एक सामान्य समस्‍या होती है। इसकी वजह से आँखों की परेशानी भी बढ़ जाती है।
  • नेत्रशोथ की सूजन आपकी आंखों में लाली और दर्द पैदा कर सकता है।

इस लेख के माध्यम से आपने जाने कुछ ऐसे बीमारियों के बारे में जिनके प्रभाव से आँखों की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। आँखें हमारे शरीर के मुख्य अंग हैं जिनके बगैर हमारा जीवन सुगमता से व्यतीत नहीं हो सकता हैं। हमें अपनी आँखों को स्वस्थ्य रखने के लिए इस लेख में बताये गए बातों का ख्याल रखना चाहिए।


You may also like...