Health Benefits Of Green Beans: सेम की फली होती है सेहत के लिए वरदान

आप ये तो जानते ही होंगे की शरीर को स्वस्थ रहने के लिए विटामिन्स, प्रोटीन्स, कैल्शियम और मिनरल्स की सही मात्रा का सेवन करना बहुत ज़रूरी है। बहुत से फल और सब्जियों को लोग सिर्फ इसलिए नहीं खाते हैं क्योंकि यह उनको खाने में स्वादिष्ट लगती है बल्कि इसलिए खाते हैं क्योंकि इन फल-फ्रूट में इतने सेहतमंद फायदे है जो आपके लिए लाभकारी होते हैं। ऐसी कई सारी सब्ज़ियाँ और फ्रूट्स आपको मिल जायेंगे जो हमारे स्वास्थ के लिए बहुत लाभदायक है।

हरी साग-सब्जियों में जरूरी पोषक तत्‍वों के उपस्थित होने के कारण यह सेहत को चुस्‍त-दुरूस्‍त रखने में लाभकारी है। हरी सब्जियों के अंतर्गत पालक, पुदीना, मेथी, बथुआ, सेम, बींस इत्‍यादि सब्जियों को शामिल किया जाता है। फ्रूट्स और वेजिटेबल आपकी आंखों को भी हेल्दी बनाती है। इसके अलावा बीन्स भी हमारे शरीर के लिए लाभदायक होती है। बीन्स हरे रंग की फलियां होती है। बीन्स हरी सब्जी के रूप में खायी जाती है तथा सुखा कर इसे राजमा, लोबिया इत्यादि के रूप में भी खाया जाता है।

भारत में सब्ज़ियों की खेती में सेम उत्पादन का एक अलग स्थान है। इसकी खेती भारत के विभिन्न राज्यों जैसे – उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र व तमिलनाडु में बड़े पैमाने पर की जाती है। इसकी हरी फलियाँ लोग सब्ज़ी बनाकर बड़े चाव से खाते हैं । साथ ही हरी फलियों से अचार भी बनाया जाता है। कई लोग जहाँ बीन्स को पका कर खाते हैं तो कई लोग इसे कच्चा ही सलाद के रूप में भी खाते है। इसे हर जगह अलग अलग नाम से पुकारा जाता है। जैसे – फवा बीन्स, सेम, सेम की फली, ब्रॉड बीन्स आदि।

इसका पौधा लताओं में लगता है जिसमे फलियां लगती है। आयुर्वेद में सेम को कई बीमारियों को ठीक करने की अचूक औषधि बताया गया है। सेम को दाहजनक, बलकारी, शीतल, कफनाशक और पित्त को खत्म करने वाला कहा गया है। इसमें कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते है जो हमारे सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद होते है। आइये आज इस लेख में जानते है Sem ki Phalli खाने के क्या फायदे है और इसमें कौन कौन से गुण पाए जाते है। आइये जानते है Health Benefits Of Green Beans.

Health Benefits Of Green Beans: जाने सेम की फली स्वास्थ्य वर्धक फायदे

Health Benefits Of Green Beans in Hindi

सेम फली में पाए जाने वाले गुण

  • सेम में विटामिन बी 6, थायमीन, पैंटोथैनिक एसिड और नियासिन पाया जाता है, ये सभी तत्व शरीर की विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।
  • सेम में विटामिन ए, विटामिन ई, आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस के अलावा कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है।
  • इसके बीजों में मौजूद प्रोटीन हमारे शरीर में पोषण और पौष्टिकता की कमी को आसानी से दूर कर देता है।
  • इसमें फाइबर तत्व भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है।

क्या हैं सेम के फायदे: Sem Phali Benefits

आइये जानते है सेम फली खाने के सेहतमंद फायदे क्या है। आइये जाने –

हरी बीन्स ऊर्जा के लिए

  • ऊर्जा के लिए लौह (आयरन) की आवश्यक होती है क्योंकि यह आपके लाल रक्त कोशिकाओं को आपके शरीर में ऑक्सीजन को सहायता करता है।
  • हरी बीन्स में आयरन की मात्रा लगभग दोगुनी होती है। यह महिलाओं के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है क्योंकि अक्सर महिलाओं में हीमोग्लोबिन की मात्रा पुरुषों की तुलना में कम होती है।
  • यह शरीर की कमज़ोरी को दूर करके शरीर को चुस्त और दुरुस्त करता है।

हड्डियों के लिए हरी फलियां:

  • हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम की बहुत आवश्यक है।
  • कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए फलियां और बीन्स सबसे अच्छा आहार है।
  • हरी फली का सेवन करने से आपकी हड्डियाँ मजबूत बनती है।

Green Beans हार्ट के लिए

  • हरी बीन्स फ्लेवोनोइड के उच्च स्तर के कारण हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करता हैं। एक शोध से मालूम पड़ा की फ्लेवोनोइड हमारी धमनियों और नसों में रक्त के थक्कों को जमने से रोकते हैं, जो हार्ट ब्लॉकेज को रोकता है ।
  • इसके अलावा यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को ही कम कर देता है। जिसके कारण हार्ट अटैक, स्ट्रोक्स का खतरा कम हो जाता है।

सेम फली आँखों के लिए

  • सेम फली आँखों के लिए लाभदायक साबित हो सकती है क्योंकि फबा फली या सेम फली ल्यूटिन से समृद्ध होती है जो अच्छी दृष्टि और रात की दृष्टि बनाए रखने में मदद करते हैं।
  • इसलिए यदि आप आखों की रौशनी को बढ़ाना चाहते है तो नियमित रूप से हरी फली का सेवन करें।

फाइबर का स्त्रोत

  • पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने के लिए आहार में फाइबर की अच्छी मात्रा का होना बहुत जरूरी होता है और सेम फली से आपको फाइबर अच्छी मात्रा में मिलता है।
  • घुलनशील फाइबर पानी को अवशोषित करके पाचन को बेहतर करता है। इसलिए आप सेम की फली का सेवन करके पाचन तंत्र को मजबूत बना सकते है।
  • यह आपको कब्ज और अपच जैसी समस्या से छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है।

कैंसर से लड़ने के लिए

  • एक अध्ययन से पता चलता है कि हरे रंग की फलियों का सेवन कैंसर से पहले होने वाले पॉलीप्स को रोकने के लिए फ़ायदेमंद है, जो आमतौर पर कोलोन कैंसर का कारण बनते हैं।
  • हरी बीन्स की वृद्धि कैंसर एडेनोमा सुधार और कोलोरेक्टल कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद करती है।
  • सेम की फली मे भरपूर मात्रा मे एंटीऑक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर मे कैंसर सेल को निष्क्रिय करते हैं। इसके लिए आप कच्ची फली का सेवन भी कर सकते है।

सेम फली मधुमेह को नियंत्रित के लिए:

  • सेम मधुमेह रोगियों के लिए बहुत अधिक फ़ायदेमंद होती है।
  • हरी बीन्स पोषण में पाए जाने वाले आहार फाइबर और कार्बोहाइड्रेट के प्रकार के कारण, सेम फली को कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड माना जाता है।
  • इसके कारण कार्बोहाइड्रेट आपके सिस्टम में धीरे-धीरे रिलीज होते हैं और आपके शरीर में ग्लूकोज स्तर को नियंत्रित रखते हैं।

इम्यून सिस्टम को बेहतर रखने के लिए

  • हरी बीन्स में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाते हैं।
  • यह क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ठीक करके नई कोशिकाओं के निर्माण को प्रोत्साहित करता है।

इसके अलावा भी Sem ki Fali के कई सारे फायदे है। तो अगर आप भी ये चाहते हैं कि आप कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बचे रहे तो आज से सेम की फली का सेवन करना चालू कर दें। सेम फली के अलावा इसकी पत्तियों का उपयोग चेहरे से काले धब्बे को हटाने के लिए भी किया जाता है।

You may also like...