Nano Robot: कैंसर और ट्यूमर से लड़ने आया नया योद्धा, अमेरिका में हुई नई खोज

दुनिया भर में बीमारियों की संख्या में वृद्धि होती जा रही है। तरह तरह की बीमारियाँ व्यक्ति को अपनी चपेट में ले रही है। कुछ बीमारियाँ इतनी घातक है की उनका सही उपचार न होने पर व्यक्ति की मौत तक हो जाती है।

बीमारियों से बचने के लिए कई प्रकार की दवाई और तकनीक की खोज निरंतर जारी है। वैज्ञानिकों ने बीमारियों से लड़ने के लिए कई तकनिकी उपकरणों का भी निर्माण किया है। कैंसर जैसी बीमारी का पूर्ण रूप से उपचार करने के लिए कई तकनीकों का निर्माण किया जा रहा है। इसी कड़ी में कैंसर से बचाव की नई तकनीक के बारे में एक रिसर्च सामने आई है।

वैज्ञानिकों ने नैनो रोबोट का निर्माण किया है जो की कई खतरनाक बीमारियों से व्यक्ति को मुक्ति दिलाने का कार्य करेंगे। यह कैंसर जैसी बीमारी से मुक्ति दिलाने का भी प्रयास करेंगे।

नैनो रोबोट व्यक्ति के शरीर के अंदर जाकर रोगों की रोकथाम में मदद करते है। जानते है Nano Robot के बारे में विस्तार से।

Nano Robot : क्या है, कैसे करता है कार्य और इसके फायदे

Nano Robot

क्या है नैनो रोबोट ?

  • नैनो रोबोट कैंसर को दूर करने का कार्य करते है।
  • नैनो रोबोट को वैज्ञानिकों ने डीएनए ओरिगेमी की सहायता से विकसित किया है।
  • प्रत्येक नैनो रोबोट को एक चपटे, डीएनए ओरिगेमी शीट के द्वारा निर्मित किया गया है।
  • नैनो रोबोट को शरीर की बीमारियों का पता लगाने और उनका उपचार करने के लिए रोगी के शरीर में प्रवेश कराया जाता है।
  • यह रोबोट सतह के चारों ओर खुद से ही चल सकता है साथ ही खास अणुओं को उठाकर निर्धारित किये गए स्थान तक भी पहुंचा सकता है।
  • यह रोबोट ट्यूमर तक रक्त आपूर्ति को नहीं पहुंचने देते है साथ ही उन्हें संकुचित भी कर देते है।

नैनो रोबोट कैसे करता है कार्य

  • नैनो रोबोट खून को जमने में मदद करते है। वैज्ञानिकों ने नैनो रोबोट के बारे में बताया की इसकी सतह पर थ्रोंबिन नामक इंजाइम मौजूद रहता है जो रक्त को जमाने में मदद करता करता है।
  • यह रक्त को थ्रोंबिन ट्यूमर तक पहुंचने नहीं देता है जो की ट्यूमर की वृद्धि में सहायक होते है।
  • साथ ही इनके कारण ट्यूमर में छोटा सा ‘ह्रदयाघात’ भी होता है जिसके कारण ट्यूमर की कोशिकाएं नष्ट हो जाती है।

पहला डीएनए रोबोटिक सिस्टम

  • अमेरिका की एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी के हाओ यान ने कैंसर थेरेपी और दवाओं के डिजाइन हेतु पहला स्वतंत्र डीएनए रोबोटिक सिस्टम का निर्माण किया है।
  • ट्यूमर में वृद्धि करने वाली सारी नसे करीब करीब एक जैसी होती है इसलिए इस तकनीक को कैंसर के और प्रकारों में भी उपयोग किया जा सकता है।

नैनो रोबोट्स के फायदे

  • नैनो रोबोट्स रोगी के शरीर में प्रवेश कर रोगों की पहचान कर सकते है और उनका उपचार भी कर सकते है।
  • उपचार होने के बाद इनका शरीर में ही पाचन भी हो जाता है क्योंकि यह डीएनए द्वारा निर्मित होते है।
  • नैनो रोबोट्स रोगियों के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है।

चिकित्सा में नैनो तकनीक का उपयोग

  • राष्ट्रीय अमेरिकन नैनो तकनीकी ने नैनो तकनीक में कई प्रकार के खोज किये है। जिसके द्वारा मानव जीवन को और भी बेहतर बनाया जा सकता है।
  • नैनो कण तत्वों को विशिष्ट कोशिकाओं तक पहुंचाने की प्रक्रिया में मदद करते है।
  • नैनो कणों को इस प्रकार बनाया गया है जो की कैंसर पीड़ित कोशिकाओं की तरफ आकर्षित होकर उनका उपचार करते है। साथ ही यह स्वस्थ्य कोशिकाओं को हानि होने से भी बचाते है।
  • जो लोग इंजेक्शन लेने से डरते है उनके लिए नैनो तकनीक मे दवा के माध्यम से नैनो कणो को शरीर में केंद्रित किया जाता है जिसे वह मुँह के द्वारा ले सकते है। जो की पेट के जरिये रक्त धमनियों मे प्रवाहित हो जाते है।
  • रेडिएशन थिरेपी में कैंसर ग्रस्त कोशिकाओं के साथ साथ स्वस्थ कोशिकाएं भी ख़राब हो जाती है इसलिए नैनो तकनीक कैंसर के लिए एक अच्छा विकल्प है।
  • इस तकनीक के द्वारा भविष्य मे कैंसर की गांठ की पहचान और निदान व् नमूना परीक्षण किया जा सकता है।
  • नैनो कणों का इस्तेमाल कैंसर ट्युमर के एमआरआई (MRI) से मिले इमेज में परिशुद्धता लाने में भी किया जाता है।
  • नैनो कण से निर्मित क्रीम छूत की बीमारियों को दूर करने में भी मदद करते है।
  • नैनो रोबोट का उपयोग बीमार हुये कोशिकाओं की मरम्म्त के लिये भी किया जाता है।
  • नैनो रोबोट एंटिबॉडीस की तरह ही कार्य करते है।
Spread the love