Heat Stroke Treatment: गर्मियों के मौसम में हीट स्ट्रोक से बचने के लिए करें ये उपाय

बढ़ती गर्मी के चलते लोगो का बीमार होना काफी आम हो गया है। इस बीमारी में लोग ज्यादातर हीट स्ट्रोक का शिकार हो रहे है। यह एक ऐसी समस्या है जिसमे लोगो की बॉडी में गर्मी की वजह से तापमान काफी ज्यादा बढ़ जाता है।

जब शरीर से ज्यादा पसीना निकलने लगता है तो इसका मतलब होता है की शरीर में तापमान ज्यादा बढ़ गया है। सामान्य तौर पर शरीर का तपमान 98.6 डिग्री फारेनहाइट होना चाहिए। और जब मनुष्य का तपमान इसके ऊपर चला जाए तो बुखार हो जाता है।

अगर किसी मनुष्य का तापमान 100 डिग्री फारेनहाइट के ऊपर है तो हो सकता है ये लू हो । इसके लिए घरेलु उपचार स्टार्ट कर देना चाहिए। अगर इसके बाद तापमान कम न हो तो डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।

इस लेख में आप जाने की कैसे हीट स्ट्रोक होने पर उसका उपचार कर सकते है और किस तरह से बॉडी के तापमान को कम किया जा सकता है।  इस लेख में पढ़े Heat Stroke Treatment.

Heat Stroke Treatment: जाने हीट स्ट्रोक से होने वाले लू से बचने के उपचार के बारे में

Heat Stroke Treatment

लू होने के कारण

  • हीट स्ट्रोक तेज़ धुप के कारण होता है। इसमें शरीर का तापमान ज्यादा बढ़ जाता है।
  • शरीर में पानी का स्तर कम होना और थाइरोइड में असंतुलन होना भी लू लगने का कारण बनते है।
  • शरीर में ब्लड शुगर के कम होने से भी हीटस्ट्रोक होने का खतरा होता है।
  • शराब के सेवन तथा हाई ब्लड प्रेशर, और डिप्रेशन के दौरान ली जाने वाली दवाइयों की वजह से भी हीट स्ट्रोक हो जाता है।  

हीट स्ट्रोक के लक्षण

  • ज्यादा तेज़ धुप में घूमना या फिर काम करना।
  • हीट स्ट्रोक में चक्कर आने लगते है साथ ही सिरदर्द होता।  
  • शरीर में थकान बनी रहती है।
  • इसके अलावा डीहाइड्रेशन हो जाता है जिसमे बार बार उलटी भी होती है।
  • एकदम से ब्लड प्रेशर कम होने लग जाता है।
  • इसके कारण तेज़ बुखार भी हो जाता है।

हीट स्ट्रोक के उपचार हेतु करे ये चीज़े

कच्चा आम

  • कच्चे आम का पना पीने से हीट स्ट्रोक से बचा जा सकता है।
  • दिन में रोज़ाना एक ग्लास कच्चे आम का पना पीना गर्मियों के दिनों में राहत देता है।
  • यह शरीर को ठंडक पहुंचाता है और पानी की मात्रा को बढ़ाता है।

इमली का इस्तेमाल

  • इमली को पानी में अच्छी तरह उबाल लें और नमक डालें इसके बाद पानी को छान के पी लें।
  • गर्मियों में हीट स्ट्रोक में आने वाले बुखार से यह राहत दिलाती है।

प्याज का रस

  • यह एक बहुत ही प्रचलित उपचार है लू लगने में पर अक्सर लोग इसका इस्तेमाल करते है।
  • इसके लिए प्याज का रस निकाल ले और हाथों की हथेलियों और पैरों के तलवो पर इसे लगाए।
  • अगर आप धुप में निकलने के पहले अपने साथ एक छोटा प्याज लेकर निकलेंगे तो लू लगने के चांसेस कम हो जाते है।

इलेक्ट्रोलाइट पाउडर

  • अगर बॉडी डीहाइड्रेट हो जाती है तो ऐसे में इलेक्ट्रोलाइट का सेवन फायदेमंद होता है।
  • यह शरीर में ऊर्जा बढ़ाता है और पानी की कमी को पूरा करने में सहायक होता है।
  • यह बदन में, मांसपेशियों में दर्द की समस्या और कमजोरी को दूर करने में सक्षम होता है।

दूध का इस्तेमाल

  • लू लगने पर दूध में काली मिर्च डालें और उबाले।
  • इसके बाद दूध ठंडा कर लें और इस दूध से शरीर पर मसाज करे।
  • इससे शरीर को ठंडक मिलेगी और शरीर का बढ़ा हुआ तापमान कम होता है।

ताज़े फलो का रस

  • गर्मियों के दिनों में हीट स्ट्रोक से बचने के लिए मौसमी फलो का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए।
  • फलो के रस में गन्ने का जूस, नारियल पानी, गाजर, आम जैसे फलो का रस जरूर पिए।
  • ताज़े फलो के रस का सेवन करने से लू लगने के चांसेस कम हो जाते है।

निम्बू का रस

  • रोज़ाना धुप में बाहर जाने के पहले एक निम्बू के रस में थोड़ा नमक और एक ग्लास पानी मिलकर पीना चाहिए।
  • इससे लू लगने के चांसेस कम हो जाते है।
  • इसके अलावा ज्यादा कमजोरी और थकान होने पर निम्बू पानी का सेवन करे।
  • यह लू के लक्षणों को कम करने में भी मददगार होती है।

पानी अधिक पिए

  • गर्मियों में हीट स्ट्रोक होने का एक अहम् कारण होता है शरीर में पानी का स्तर कम होना।
  • शरीर को हाइड्रेट रखना चाहिए और साथ ही ध्यान रखे की कही भी बाहर जाते समय अपने साथ पानी की बॉटल साथ ले कर जाएँ ।
  • घर से भी निकलने के पहले खूब सारा पानी पी कर बाहर जाए।

दही खाए

  • गर्मियों को दिनों में एक बार जरूर दही का सेवन करे।   
  • दही का सेवन शरीर में सामान्य तापमान बनाने में मदद करता है।
  • अगर घर में दही का सेवन नहीं कर पाते है तो बाहर दही की लस्सी जरूर पी लें।

बेर का सेवन

  • शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए बेर का सेवन काफी फायदेमंद साबित होगा।
  • बेर एंटी ऑक्सीडेंट्स का भी बहुत अच्छा सोर्स है।
  • इसका सेवन बॉडी को शांत रखता है और ठंडक पहुंचाता है।
  • हीट स्ट्रोक में इसका सेवन करना चाहिए यह शरीर को हाइड्रेट करता है।
  • इसके लिए रातभर के लिए बेर को पानी में भिगो कर रखें फिर यह नरम हो जाए तो पानी में मैश कर ले और उस पानी को मिलकर इसका सेवन करे।

एप्पल साइडर विनेगर

  • हीट स्ट्रोक होने पर एप्पल साइडर विनेगर की कुछ बुँदे फलो के जूस में मिलाकर पीना चाहिए।
  • इससे यह एलेक्ट्रोल की तरह बॉडी में काम करता है।
  • इसके अलावा एप्पल साइडर विनेगर की कुछ बुँदे ठन्डे पानी और शहद में मिलाकर भी पी सकते है।
  • शरीर में पसीने के द्वारा खोया हुआ पोटैशियम और मैग्निशियम की पूर्ति करता है।

चंदन का पेस्ट

  • लू लगने पर चंदन के पेस्ट का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।
  • इसके लिए चंदन का पेस्ट बना ले और अपने माथे और चेस्ट पर लगा ले।
  • चंदन प्राकृतिक प्रकार से ठंडा होता है और इसका इस्तेमाल करने से शरीर को भी तुरंत ठंडक मिलती है।

इस ऊपर दिए लेख में अाप ने जाना की लू से किस तरह बचा जा सकता है और लू लगने पर किस तरह से उपचार करना चाहिए। हीट स्ट्रोक से राहत एके लिए ऊपर दिए सभी उपचारो को करे।


You may also like...