Petha Benefits: जाने स्वादिष्ट और मीठे Petha Sweet के स्वास्थ्य सम्बंधित फायदे

मीठी चीज़े जैसे पेड़े, मिठाई आदि किसे पसंद नही होते हैं? मीठी चीज़े अधिकतर लोगो को भाती है, ख़ासकर के बच्चों को मिठाइयां बहुत ही ज्यादा पसंद आती है। अगर मिठाइयों के अलग अलग प्रकार की बात करे तो पेठा एक ऐसा मिठाई है जो हर कहीं बहुत फेमस है। यदि आप इंडिया में रहते है तो गर्मियों के दिनों में आपको पेठा की दुकान कई जगह देखने को मिलेगी। यह ना केवल खाने में स्वादिष्ट होता है बल्कि सेहत के दृष्टिकोण से भी इसके कई फायदे मिल जाते है।

आपको बाजार में Petha Sweet दो रंगो में देखने को मिलेगा एक तो सफेद और दूसरा पीला। यह मिठाई भारत के लगभग सभी राज्यों में बनाया जाता है। लेकिन आगरा में मिलने वाला Agra ka Petha सबसे ज़्यादा मशहूर है। पेठे को बनाने के लिए बथुआ या फिर कोहंडा सब्जी का इस्तेमाल किया जाता है।

पेठे के औषधीय गुणों के कारण आयुर्वेद में भी पेठे को शरीर के लिए बहुत लाभदायक माना गया है। आप शायद नही जानते होंगे लेकिन इसका सेवन दमा रोग, मानसिक रोग, पेशाब के रोग आदि समस्याओं के समाधान के लिए किया जाता है।

इसके इतने फायदे है इसलिए आज हम आपको पेठे के सेवन से मिलने वाले स्वस्थ्य सम्बंधित फ़ायदों के बारे में विस्तार से बताएँगे। आप इसे खुद से अपने किचन में भी बना सकते है और अपने परिवार को खिला सकते हैं। यह एक ऐसा नाश्ता है जो आपके बच्चों को स्वाद के साथ साथ सेहत के भी फायदे देगा। आइये अब जानते हैं Petha Benefits.

Petha Benefits: जानिए स्वादिष्ट पेठा मिठाई के हेल्थ रिलेटेड फायदे

Petha Benefits

पेठे के गुणों के बारे मे जानने से पहले क्यों ना इसके इतिहास के बारे में जान लिया जाए। पेठे की बात करे तो वर्ष 1940 से भी पूर्व पेठे को आयुर्वेदिक औषधि के रूप में तैयार किया जाता था। दरअसल इसका उपयोग रक्त विकार, जिगर की बीमारी, अमलवित्ता आदि से राहत प्राप्त करने के लिए किया जाता था। औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण इसका उल्लेख संस्कृत के एक शब्द कूशमंड से आया है जिसे अनेक चिकित्सीय विधियो के लिए जाना जाता है।

लेकिन साल 1945 में इसके स्वाद में बदलाव किया गया और सूखे पेठे के साथ साथ रसीला पेठा भी बनाया गया। इसे अंगूरी पेठा कहा जाने लगा। इसे मिट्टी के हांडी में रखकर बेचा जाता था। इसका स्वाद काफ़ी उम्दा होता था और धीरे धीरे पेठे को कई तरह से बनाया जाने लगा। आइए जाने इस स्वादिष्ट पेठे से मिलने वाले फ़ायदों के बारे में।

मोटापा कम करे

  • सफेद पेठा मिठाई की बात करे तो यह कद्दू से बनता है और सफेद कद्दू में 96 प्रतिशत पानी होता है।
  • यह एक अधिक कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थ होता है। इससे वजन नियंत्रित होता है। इसके अतिरिक्त दुबले लोग भी इससे लाभ प्राप्त कर सकते है।

पित्त की समस्या से राहत

  • कच्चा पेठा पित्त की समस्या को जड़ से ख़तम करता है। वही पके पेठे को खाने के भी कई फायदे होते है जैसे इसे खाने से मूत्राशय शुद्ध होता है और शरीर के सारे दोष ठीक होते है।
  • लेकिन आधे कच्चे और आधे पके हुए पेठे का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, इससे कफ बढ़ता है।

मानसिक रोग को दूर करे

  • जिन लोगो की याददाश्त कमजोर हो उन्हे पेठे का सेवन ज़रूर करना चाहिए। याददाश्त कमजोर हो या फिर किसी तरह की दिमागी बीमारी हो, पेठे का सेवन ऐसे रोगियो के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है।
  • याददाश्त कमजोर होने पर या फिर दिमागी बीमारी पर रोगी को पेठा के फल का 10-20 ग्राम गूदा खाना चाहिए और साथ ही पेठे से तैयार कारस पीना चाहिए।
  • मानसिक रोगों में फायदा पाने के लिए पेठे के फल का रस भी पीना चाहिए। इसके अतिरिक्त इससे मिर्गी और पागलपन आदि में भी लाभ पहुँचाता है।

बवासीर से निजात

  • पाइल्स के रोगियों के लिए भी पेठा बहुत लाभप्रद साबित होता है। इसका सेवन करने से बवासीर में रक्त निकलना बंद हो जाता है।
  • यह पेट संबंधित हर प्रकार की समस्या जैसे की कब्ज आदि में भी बहुत फ़ायदेमंद होता है।

आँतो की सूजन ठीक करे

  • कई बार आँतो में सूजन आने के कारण भी भूख ना लगने की समस्या शुरू हो जाती है।
  • यदि आपको भूख नही लगती है तो सुबह के वक्त दो कप पेठे का रस पिए।
  • इससे आपको खुल के भूख लगने लगेगी और आँतो की सूजन भी ठीक हो जाएगी।

शरीर को ठंडक दे

  • यदि आपके शरीर में बहुत गर्मी है और वो हमेशा गरम रहता है तो पेठे का सेवन ज़रूर करे।
  • साथ ही पेठा जिस सब्जी से बनता है उसके गूदे तथा पत्तों को पीस कर लेप कर ले।

उच्च रक्तचाप नियंत्रित करे

  • रक्तचाप को नियंत्रित रखने के लिए पोटैशियम की जरुरत पड़ती है और पेठे में अच्छी मात्रा में पोटैशियम मौजूद होता है।
  • इसके सेवन से रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है।

शरीर की जलन की समस्या से राहत दे

  • अगर किसी वजह से आपके शरीर में जलन की समस्या उत्पन्न होती है और शरीर वह हमेशा गरम रहता है तो इसमें पेठे के गूदे तथा पत्तों से बने लेप का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • इसके अलावा आप इसके बीजों को पीसकर ठंढई बनाकर पी सकते हैं।

Petha Sweet Benefits: अन्य फायदे इन्हे भी जाने

  • पेठे में रेशा पाया जाता है जो की कब्ज जैसी पेट की समस्या आदि को दूर करता है।
  • पेठा खाने से शरीर में लचीलापन और स्फूर्ति आती है।
  • दमा के रोगियो के लिए पेठा बहुत फयदेमंद है। इसे खाने से फेफड़ो को बहुत फायदा मिलता है।
  • नकसीर फूटने की समस्या को दूर करने के लिए भी पेठे का रस पिए या फिर उसका गुदा खाए।
  • पेठे का गूदा और बीज पेशाब सम्बन्धी समस्याओं में लाभकारी होता है। अगर पेशाब रूक-रूककर या पथरी बन गई हो तो पेठा का प्रयोग ज़रूर करें लाभ मिलेगा।
  • जिन लोगों को वीर्य कम आने की समस्या हो उनके लिए भी पेठे का सेवन वरदान की तरह है। इसके सेवन से वीर्य की बढ़ोतरी होती है।

आज के लेख में आपने पेठे के सेवन से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभ जाने। तो देर किस बात की आप भी इस हेल्दी Agra Petha का सेवन ज़रुर करें और कई प्रकार के रोगों से अपना बचाव करें। आप चाहे तो अपने परिवार वालों को भी इस मिठाई का सेवन करवा सकते हैं और अपने परिवार को भी इसके लाभ दिलवा सकते हैं।


You may also like...