Yoga for Back Pain in Hindi: इन योग के आसनों की मदद से करें अपने कमर दर्द को दूर

व्यायाम करने से शरीर की बहुत सारी परेशानियों को दूर किया जा सकता है। शरीर में होने वाले दर्द जैसे कमर दर्द, पीठ दर्द, मांसपेशियों में दर्द आदि सभी को थोड़े से योगाभ्यास से बहुत हद तक दूर किया जा सकता है। भागमभाग के आजकल के दौर में सभी के लिए व्यायाम करना बहुत जरूरी होता है। व्यायाम से आप एक स्वस्थ्य और खुशहाल जीवन की कामना कर सकते है। सुबह-सुबह की ताज़ी हवा में किया हुआ व्यायाम और भी ज्यादा लाभदायक रहता है। अगर संभव हो तो घर के बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सभी को प्रतिदिन व्यायाम करने की आदत होनी चाहिए।

अगर आपको कमर दर्द की शिकायत रहती है तो आज हम आपको इस आर्टिकल में कुछ ऐसे व्यायाम बतायेंगे जिन्हें अपनाकर आप अपनी कमर दर्द की इस शिकायत से निजात पा सकते है। कमर दर्द (Back Pain) होने पर कई लोग पेन किलर खाते है जो सही नही है क्योंकि मेडिसिन लेने से आपको कुछ देर के लिए तो दर्द से छुटकारा मिल जाता है पर इसका असर खत्म होते ही हो सकता है वापस आपको दर्द का सामना करना पड़े। साथ ही पेन किलर को ज्यादा मात्रा में लेने से आपके लीवर पर भी असर पड़ता है इसलिए जितना हो सके पेन किलर लेने से बचना चाहिए। इसलिए कमर दर्द होने पर योगा करना सबसे अच्छा विकल्प है जिसे आप कभी भी कर सकते है।

अगर आप थोड़ी सी सावधानियां रखे तो शायद कमर दर्द से कुछ हद तक बचा भी जा सकता है जैसे बैठते समय सही पोजीशन का होना, सीढ़ियां उतरते और चढ़ते समय सावधानी रखना, अपनी क्षमता से ज्यादा वजन नही उठाना, तनाव और धुम्रपान से बचना आदि कुछ बातों का ध्यान रखकर भी आप कमर दर्द से बच सकते है। अगर नियमित व्यायाम का अभ्यास किया जाये तो इससे भी कमर और पीठ दर्द जैसी तकलीफों से बचा जा सकता है।

कमर दर्द के लिए आज हम आपको जो आसन बतायेंगे आप इन योगासन को कभी भी और कही भी कर सकते है जैसे की ऑफिस की कुर्सी पर, एयरप्लेन में, अपने टीवी के सामने, ब्रेक के समय या योग मैट पर। व्यायाम करने से कई तरह की बिमारियों से खुद को बचाकर रखा जा सकता है। अगर दिन की शुरुआत व्यायाम से की जाये तो आपको पूरे दिन अपने शरीर में एक अलग सी ताज़गी का अनुभव होता है। आइये जानते हैं आज के लेख में Yoga for Back Pain in Hindi.

Yoga for Back Pain in Hindi: जाने कौन कौन से आसन है लाभकारी

Yoga for Back Pain in Hindi

कमर दर्द के लिए व्यायाम: Kamar Dard Yoga Hindi

मकरासन: Makarasana

  • मकरासन को करते समय आपको पेट के बल लेटकर के इस आसन को करना होता है।
  • इस आसन की अंतिम अवस्था में हमारे शरीर की आकृति एक मगर की तरह प्रतीत होती है इसीलिए इसे मकरासन कहते है।
  • सबसे पहले पेट के बल लेट जाएँ और अपनी ठोड़ी को भूमि पर टिकाएँ, फिर दोनों हाथ कमर से सटे हुए और हथेलियाँ उपर की तरफ रखें।
  • दोनों पैर भी एक दूसरे से सटे हुए हो और फिर सर्व प्रथम दोनों हाथों को उपर उठाते हुए उसकी कैंची जैसी आकृति बनाकर उस पर सिर रखते हैं।
  • इसके बाद पैरों में सुविधानुसार दूरी बनाए रखें। यह आसन कमर दर्द में एक रामबाण उपाय की तरह काम करता है, साथ ही इस आसन से दमा और सांस से संबंधी रोग में भी आराम मिलता है।
  • निरंतर अभ्यास के बाद इस आसन को आसानी से किया जा सकता है।

ताड़ासन: Tadasana

  • इसको करने के लिये सीधे खड़े हो जाएं और एड़ी-पंजों को समानान्तर क्रम में थोड़ा दूर रखें।
  • हाथों को ऊपर ले जाते वक्‍त अंदर की ओर सांस भरें।
  • पैर की एड़ी जमीन से ऊपर उठाकर सावधानी से पंजों के बल खड़े हो जाएं।
  • थोड़ी देर ऐसे ही रहें और फिर हाथों को नीचे की ओर लाते वक्‍त सांस छोडे़।
  • पैरों की ऐड़ी को नीचे भूमि पर टिका दें।

गरुड़ासन: Garudasana

  • गरुड़ासन को Yoga for Back Pain Relief के तौर पर जाना जाता है।
  • गरुड़ासन करने के लिए सबसे पहले ताड़ासन की मुद्रा में खड़े हो जाये।
  • अब घुटनों को थोड़ा सा मोड़ते हुए अपना दाहिना पैर उठाये और अपनी बाई और अपनी दाई जांघ पर रखे।
  • अब जमीन पर अपनी उँगलियों के साथ संतुलन बनाये रखे। बाहों के लिए बायीं तरफ अपनी दाहिनी बांह को ले जाये और कोहनी को झुकाने के साथ ही अपने हथेलियों को एक साथ लायें।
  • आप अपनी कोहनियों को खींचकर एक शक्तिशाली खिचांव ले और अपने चेहरे से उपर हाथ निकाल ले।
  • श्वास लेते हुये धीरे धीरे दोनों भुजाओं को ऊपर की ओर उठाएँ। अपनी उंगलियों को आपस में इस प्रकार फ़साये कि दोनों अंगूठे एक दूसरे को आराम से स्पर्श करें।
  • आराम से बिना अनावश्यक जोर लगाये हुए शरीर को पूरी तरह खींचिए और कोहनियों को सीधा रखें।
  • ध्यान दे आपकी भुजंग आपके कान को छुए। इस स्थिति मे स्थिर रहते हुये 2-3 गहरी श्वास लें।
  • कमर मे खिंचाव को ग्रहण करने के लिए एक आसान सुझाव: धीरे से नाभि को कमर की तरफ अंदर की ओर खीचे।

भुजंग आसन: Bhujangasana

  • इसके लिए आप पहले पेट के बल लेट जायें और अपने हाथ आगे की ओर रखें।
  • अपने शरीर के ऊपरी हिस्‍से को ऊपर उठायें और कंधों को पीछे की ओर धकेलें।
  • इससे आपके सीने और पेट की मांसपेशियों में खिंचाव होगा। इसी पोजीशन में करीब 15 सेकेंड तक रहें।

हलासन: Halasana

  • हलासन में शरीर को हल की मुद्रा में रखा जाता है। पीठ के बल भूमि पर लेट जाएं।
  • पैरों को मोड़ें और पैर की उंगलियों को सिर के पीछे ज़मीन से टिकाएं।
  • पैरों को सीधा करते हुए ऐड़ियों को शरीर से दूर ले जाने की कोशिश करें।
  • बांहों को ज़मीन पर टिकाए रखें, इस दौरान हथेलियां ज़मीन की दिशा में रहनी चाहिए।
  • इस मुद्रा में 30 सेकेंड से 2 मिनट तक बने रहें।
  • कमर पर हाथ को रखें और धीरे धीरे वापस सामान्य स्थिति में लौट आएं।
  • Kamar Dard Yoga के तौर पर यह बहुत हेल्पफुल होता है।

अर्ध-मत्स्येन्द्रासन: Ardha Matsyendrasana

  • मैट पर बैठकर दोनों पैरो को लम्बा कीजिये और इसके बाद बाएँ पैर को घुटने से मोड़कर एड़ी को गुदाद्वार के नीचे जमाएँ।
  • अब दाहिने पैर को घुटने से मोड़ते हुए खड़ा कर दें और बाएँ पैर की जंघा से ऊपर ले जाते हुए जंघा के पीछे जमीन पर रख दें।
  • अब बाएँ हाथ को दाहिने पैर के घुटने से पार करके अर्थात घुटने को बगल में दबाते हुए बाएँ हाथ से दाहिने पैर का अँगूठा पकड़ें।
  • अब दाहिने हाथ को पीठ के पीछे से घुमाते हुए बाएँ पैर की जाँघ का निम्न भाग पकड़ें।
  • अपने सिर को दाहिनी ओर इतना घुमाएँ की ठोड़ी और बायाँ कंधा एक सीधी रेखा में आ जाए।
  • इस आसन को करते समय आपकी छाती बिल्कुल तनी हुई रहनी चाहिए।

उपरोक्त Yoga for Back Pain Relief को करके आप कमर दर्द से छुटकारा पा सकते है।


You may also like...