Alcohol and Breast Cancer: शराब से दोगुना हो जाता है स्तन कैंसर का खतरा

जब भी आप किसी से पूछेंगे की शराब पीने से क्या नुकसान होता है, तो कुछ लोगो का कहना होता है की इससे लिवर संबंधी बीमारियाँ होती है। वही कुछ लोग हृदय से जुड़ी बीमारियों के बारे में बताएंगे और कुछ इसे मानसिक स्वास्थ्य से जोड़कर देखेंगे।

इन सारी बीमारियों के अलावा एक और घातक बीमारी शराब के सेवन से होती है और और वो होती है कैंसर की बीमारी। आपको इस बात के बारे में जानकारी होना चाहिए की शराब पीने से कैंसर भी होता है और खासतौर पर ब्रेस्ट कैंसर की समस्या भी इसकी वजह से हो सकती है।

ब्रेस्ट कैंसर जिसे हिंदी में स्तन कैंसर कहा जाता है। महिलाओं में इसकी समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। आपको बता दे की 40 वर्ष की उम्र से ज्यादा की अधिकतर महिलाओ में यह देखने को मिल रहा है।

इस पर एक शोध भी किया गया है जिसके अनुसार वर्ल्ड कैंसर रिसर्च फंड और अमेरिकन इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च ने जानकारी दी है कि महिलाओ द्वारा हर दिन एक गिलास शराब पीने से भी स्तन कैंसर होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। तो आइये जानते है Alcohol and Breast Cancer के बारे में बात करते है।

Alcohol and Breast Cancer: शराब के सेवन से बढ़ता है स्तन कैंसर का खतरा

Alcohol and Breast Cancer

ब्रैस्ट कैंसर: Breast Cancer

  • ब्रैस्ट कैंसर को स्तन कैंसर के नाम से भी जाना जाता है। यह महिलाओं में होने वाली बीमारी होती है। ब्रेस्ट कैंसर एक तरह की त्वचा से सम्बंधित बीमारी होती है।
  • ब्रेस्ट कैंसर 8 में से एक महिला को होता है यह एक घातक बीमारी होती है यदि इसका सही समय पर उपचार नहीं किया जाए तो रोगी महिला की मृत्यु भी हो सकती है।

शोध में सामने आया है की यदि कोई महिला हफ्ते में रेड वाइन के 2 से ज्यादा ग्लास लेती हैं तो उसे ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा दोगुना बढ़ जाता है।

हालांकि स्तनों में होने वाले कैंसर के पीछे का कारण केवल शराब ही नहीं है बल्कि इसके और भी कई कारण है जिनसे महिलाओ में यह हो सकता है। लेकिन शराब भी इसके होने की वजहों में से एक है। यहाँ आप स्तन कैंसर के प्रकार भी जान सकती है।

जब शराब और स्तन कैंसर से जुड़े तथ्यों के बारे में पता लगाने के लिए प्रोफेसर वालेस से बात की गयी तो उनका Alcohol and Cancer पर कहना था की:-

  • शराब से स्तन कैंसर के विकास का खतरा बढ़ जाता है।
  • बेशक शराब पीने का मतलब यह भी नहीं है कि आपको ज़रूर ही ब्रेस्ट कैंसर हो जायेगा, लेकिन इससे ब्रेस्ट कैंसर विकसित होने का जोखिम बढ़ जाएगा।
  • आप अपने जीवन में कितनी शराब पीते हैं उस हिसाब से कैंसर की संभावना बढ़ती है।
  • आपको मालूम हो की ब्रिटेन में स्तन कैंसर के करीब 6% मामलों के पीछे का कारण अल्कोहल का सेवन है।
  • इसलिए सरकार सलाह देती है कि लोगों को स्वास्थ्य जोखिम से दूर रहने के लिए हफ्ते में 14 यूनिट से ज्यादा अल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए।

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर: Breast cancer In Man

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर की संभावना को कम करने के लिए उन्हें भी शराब का सेवन कम करना चाहिए। किन्तु शोध के अनुसार अल्कोहल के कारण मेल ब्रेस्ट कैंसर होने के मामले बहुत ही ना के बराबर थे।

ब्रेस्ट कैंसर के अन्य कारण

  • ब्रेस्ट कैंसर के अन्य कारणों में एक कारण अनुवांशिकता भी होती है जो की पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है। यदि परिवार में किसी को ब्रेस्ट कैंसर की समस्या है तो यह उसी परिवार के दूसरे सदस्य हो भी यह हो सकती है।
  • इसके आलावा ब्रेस्ट कैंसर का अन्य कारण हार्मोन्स भी होता है। 40 साल से अधिक उम्र की महिलाओ को इसकी संभावनाएं अधिक होती है।
  • वजन में वृद्धि के कारण भी ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है। राजोन्नति के बाद यदि महिलाओ का वजन बढ़ता है तो वह ब्रेस्ट कैंसर की चपेट में आ सकती है। इसलिए अपने वजन पर नियंत्रण रखना ज़रूरी होता है।

ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के उपाय

व्यायाम से दूर करे इसका खतरा

  • यदि सामान्य तौर पर बात करे तो मेनोपॉज से पहले महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा 5 प्रतिशत होता है और वही मेनोपॉज के बाद यह 9 प्रतिशत तक बढ़ जाता है।
  • ऐसे में अल्कोहल से दूरी बनाकर और नियमित व्यायाम से महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कई हद तक खुद से दूर रख सकती है। इसके अतिरिक्त आप योग और ध्यान का भी सहारा ले सकती हैं।

दैनिक जीवन में बदलाव

  • ब्रेस्ट कैंसर के बचाव करने के लिए अपने दैनिक जीवन में परिवर्तन करना बहुत ज़रुरी होता है।
  • यदि अपने परिवर्तन नहीं किया तो ब्रेस्ट कैंसर की संभावनाएं बढ़ जाती है।

वजन में नियंत्रण

  • ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के लिए अपने वजन में नियंत्रण रखने की भी जरुरत होती है।
  • वजन के बढ़ने से ब्रेस्ट कैंसर के साथ साथ अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए इस पर भी ध्यान दे।

शिशु को स्तनपान कराये

  • बहुत सी महिलाएं अपने फिगर को मेंटेन रखने के लिए बच्चों को स्तन पान नहीं कराती है।
  • ऐसा करना गलत होता है। यदि आप बच्चों को स्तनपान नहीं कराती है तो इससे ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

आहार पर ध्यान दे

  • ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए आहार पर ध्यान देना बहुत ही ज़रुरी होता है साथ ही ब्रेस्ट कैंसर के रोगी को भी आहार पर ध्यान देना चाहिए।
  • ब्रेस्ट कैंसर की वृद्धि को रोकने के लिए विटामिन डी युक्त पदार्थ खाने चाहिए। साथ ही सोयाबीन का भी सेवन किया जाना चाहिए।
  • हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ खाना भी इसके लिए बहुत ही लाभकारी होता है इसके अलावा फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ का भी सेवन किया जा सकता है।

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के दिखने पर अपने डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करे साथ ही यह लक्षण जब नजर आएं तो इसे अनदेखा ना करे क्योंकि जितने जल्दी इस बीमारी का पता चलेगा उसे उतने ही जल्दी इसे ठीक किया जा सकता है। देरी होने पर यह समस्या घातक हो सकती है।

नोट- ब्रेस्ट कैंसर के साथ साथ शराब पीने से भी कई समस्याएं उत्पन्न होती है इसलिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए और ना ही अपने परिवारवालों को करने देना चाहिए। यह सभी के लिए हानिकारक होती है। इससे दूरी बना कर रखे।

शराब की लत को छुड़ाने के लिए कई केंद्र और दवाएं भी बनाई गयी है। आप चाहे तो उनकी मदद भी ली जा सकती है।

तो ये थे कुछ Breast Cancer Facts जिसमे हमने आपको बताया की कैसे शराब के सेवन से कई महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर की समस्या का सामना करना पड़ता है इसलिए शराब का सेवन नहीं करें।


You may also like...