जब भी आप किसी से पूछेंगे की शराब पिने से क्या नुकसान होता है, तो कुछ लोगो का कहना होता है की इससे लिवर संबंधी बीमारिया होती है| वही कुछ लोग ह्रदय से जुडी बीमारियों के बारे में बताएंगे और कुछ इसे मानसिक स्वास्थ्य से जोड़कर देखेंगे|

बहुत कुछ एक लोग कैंसर के बारे में बताएंगे या नहीं भी बताएंगे| जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए, आपको इस बारे में जानकारी होना चाहिए की शराब पिने से कैंसर भी होता है और खासतौर पर ब्रेस्ट कैंसर|

ब्रेस्ट कैंसर जिसे हिंदी में स्तन कैंसर कहा जाता है| म​हिलाओं में इसकी समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। आपको बतादे की 40 वर्ष की उम्र से ज्यादा की अधिकतर महिलाओ में यह देखने को मिल रहा है|

इस पर एक शोध भी किया गया है जिसके अनुसार वर्ल्ड कैंसर रिसर्च फंड और अमेरिकन इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च ने जानकारी दी है कि महिलाओ द्वारा हर दिन एक गिलास शराब पीने से भी स्तन कैंसर होने की संभावना कई गुना बढ़ जाता है। तो आइये जानते है Alcohol and Breast Cancer के बारे में बात करते है|

Alcohol and Breast Cancer: शराब से बढ़ता स्तन कैंसर का प्रतिशत

Alcohol and Breast Cancer

शोध में सामने आया है की यदि कोई महिला हफ्ते में रेड वाइन के 2 से ज्यादा ग्लास लेती हैं तो उसे ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा दोगुना बढ़ जाता है।

हालांकि स्तनों में होने वाले कैंसर के पीछे का कारण केवल शराब ही नहीं है| और भी कई कारण है जिनसे महिलाओ में यह हो सकता है| लेकिन शराब भी इसके होने की वजहों में से एक है| यहाँ आप स्तन कैंसर के प्रकार भी जान सकती है|

जब शराब और स्तन कैंसर से जुड़े तथ्यों के बारे में पता लगाने के लिए प्रोफेसर वालेस से बात की गयी तो उनका कहना था की:-

  • शराब से स्तन कैंसर के विकास का खतरा बढ़ जाता है।
  • बेशक शराब पीने का मतलब यह भी नहीं है कि आपको जरूर ही ब्रेस्ट कैंसर हो जायेगा, लेकिन इससे ब्रेस्ट कैंसर विकसित होने का जोखिम बढ़ जाएगा।
  • आप अपने जीवन में कितनी शराब पीते हैं उस हिसाब से कैंसर की संभावना बढ़ती है|
  • आपको मालूम हो की ब्रिटेन में स्तन कैंसर के करीब 6% मामलों के पीछे का कारण अल्कोहल का सेवन है|
  • इसलिए सरकार सलाह देती है कि लोगों को स्वास्थ्य जोखिम से दूर रहने के लिए हफ्ते में 14 यूनिट से ज्यादा अल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए|

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर की संभावना को कम करने के लिए उन्हें भी शराब का सेवन कम करना चाहिए| किन्तु शोध के अनुसार अल्कोहल के कारण मेल ब्रेस्ट कैंसर होने के मामले बहुत ही ना के बराबर थे|

व्यायाम से दूर करे इसका खतरा

यदि सामान्य तौर पर बात करे तो मेनोपॉज से पहले महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा 5 प्रतिशत होता है और वही मेनोपॉज के बाद यह 9 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। ऐसे में अल्कोहल से दुरी बनाकर और नियमित व्यायाम से महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कई हद तक खुद से दूर रख रख सकती है|