सौंदर्य और सेहत दोनों में असरकारी है गुड़हल के फूल के फायदे

गुड़हल का फूल बहुत ही सुंदर होता है। यह कई रंगो में देखने को मिलता है जैसे लाल, गुलाबी, पीला, सफेद और बेगानी आदि। इसको ‘हिबिस्कस-रोजा साइनेनसिस’ के नाम से भी जाना जाता है। यह देखने में तो सुंदर होता ही है साथ ही साथ यह हमारे स्वस्थ के लिए भी फायदेमंद होता है।
गुड़हल के फूल में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे विटामिन C, कैल्शियम, फाइबर, आइरन, वसा आदि उच्च मात्रा में पाए जाते है जो हमे स्वास्थ्य संबंधी कई प्रकार की बीमारियो से निजाद दिलाने में मदद करते है। इसके फूल का इस्तेमाल दवाओ में भी किया जाता है।
गुड़हल का फूल हमे कोलेस्टरॉल, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और संक्रमण आदि से बचाने में मदद करता है। कई लोग गुड़हल के फूल की चाय बनाकर भी पीते है, यह किड्नी की समस्याओ और डिप्रेशन की वजह से हुए खराब मूड को ठीक करने में मदद करती है। शायद आप यह जानते होंगे की गुड़हल की पत्तियां चबाने से मूह के छाले भी ठीक हो जाते है। आइये अब हम विएस्तर से जानते है गुड़हल के फूल के फायदे
 

जाने गुड़हल के फूल के फायदे – इन बीमारियों में है लाभकारी

 
Benefits of Hibiscus in Hindi
 

कोलेस्टरॉल लेवल को नियंत्रित रखे

गुड़हल की पत्तियो से बनी चाय हमारे शरीर के कोलेस्टरॉल के स्तर को बनाए रखने में मदद करती है। यह एलडीएल  को कम करने और एचडीएल को बनाने में सहायक होती है। इसमे उपस्थित पोषक तत्व आर्टरी में प्लाक को जमने से रोकता है। जिससे शरीर में कोलेस्टरॉल का लेवल कम हो जाता है। इस तरह से गुड़हल दिल से संबंधित सभी परेशानियो को दूर करने फयदेमंद होता है।

 

एनीमिया को दूर करे

हमारे शरीर में आइरन की कमी से एनीमिया की समस्या हो जाती है। गुड़हल के फूल में उपस्थति आइरन हमे एनीमिया की समस्या से निजाद दिलाने में सहायता करते है।

इसका इस्तेमाल करने के लिए 40 से 50 गुड़हल के फूल की कलियो को अच्छे से पीसकर उसके रस को एक टाइट डिब्बे में बंद कर ले। रोजाना सुबह और शाम एक महीने तक इस पाउडर को दूध के साथ लेने से एनीमिया की समस्या दूर हो जाती है साथ ही इसके सेवन से स्टैमिना भी बढ़ता है।

 

सर्दी-जुखाम में राहत दे

गुड़हल की पत्तियो में अच्छी मात्रा में विटामिन C पाया जाता है जिससे यह हमे सर्दी और जुखाम से राहत दिलाने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल के लिए गुड़हल की पत्तियो से बनी चाय का रोजाना सेवन करे इससे आपकी सर्दी जल्द ही ठीक हो जाएगी।

 

मासिक धर्म में लाभकारी

महिलाओ में होने वाली माहवारी के चक्र को नियमित बनाए रखने के लिए गुड़हल बहुत ही लाभकारी होता है। दरअसल, महिलाओ के शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर कम होने से हॉर्मोन्स का संतुलन बिगड़ जाता है। जिससे महिलाओ का मासिक चक्र सही समय पर नही आ पाता है। ऐसे में गुड़हल की पत्तियो से बनी चाय पीना चाहिए जिससे मेंस्ट्रुअल साइकिल में कोई भी दिक्कत नही आती है।

 

एंटी-एजिंग की समस्या दूर करे

गुड़हल की पत्तियां महिलाओ के एंटी-एजिंग की समस्या को दूर करने की सबसे असरकारी औषधि का कम करती है। गुड़हल की पत्तियां हमारे शरीर के फ्री रेडिकल्स को हटाने का कम करती है जिससे उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। जिससे हमारी त्वचा जवा और खूबसूरत दिखाई देने लगती है।

 

उच्च रक्तचाप के लिए

उच्च रक्तचाप से पीड़ित व्यक्तियो के लिए गुड़हल के फायदे है। इसकी पत्तियो से बनी चाय बहुत ही लाभकारी होती है। इसके सेवन से हमारी हृदय गति सामान्य हो जाती है और हम रिलैक्स महसूस करने लगते है।

 

वजन कम करे

गुड़हल का सेवन करने से हमे बार-बार भूक लगने की समस्या बंद हो जाती है। इसकी पत्तियो से बनी चाय बहुत ही एनर्जेटिक होती है जिससे हमे लंबे समय तक भूक नही लगती है। कम खाने से हमारी पाचन क्रिया तेज होती है। जिससे शरीर में अनावश्यक फैट जम नहीं पाता है और वजन कम होने में मदद मिलती है।

 

त्वचा के लिए फायदेमंद 

गुड़हल की पत्तियो में आइरन, विटामिन C और प्रतिऑक्सीकारक का गुण होता है जो कि हमारे चेहरे की झुर्रिया, मुहासे, उनके दागो को ठीक करने और चेहरे से जुड़ी कई प्रकार की समस्याओ से निजाद दिलाने में मदद करते है। इसके इस्तेमाल के लिए लाल गुड़हल की पत्तियो को पानी में उबाल कर अच्छी तरह पीस ले। अब इसमे थोड़ा शहद को मिलाए और अपने चेहरे पर लगाए। ऐसा करने से आपके चेहरे का रूखापन दूर होगा और चेहरे पर ताज़गी भी दिखाई देने लगेगी।

 

बालो की सही देखभाल करे

  1. कुछ लोग अपने बालो के झरने से बहुत परेशान रहते है। ऐसे में गुड़हल की पत्तिया बालो से जुड़ी कई प्रकार की समस्याओ को दूर करने में सहायक होती है।
  2. गुड़हल की पत्तियो को अच्छी तरह से पीसकर जैतून के पत्तो के साथ मिलाए। अब इस पेस्ट को अपने सिर पर 10 से 15 मिनिट के लिए लगाकर रखे फिर कुछ देर बाद हल्के गुनगुने पानी से अपने सिर को धो ले। ऐसा करने से बाल घने दिखाई देने लगेंगे।
  3. गुड़हल की पत्तियो को पीसकर नारियल के तेल के साथ मिलाकर कुछ देर के लिए उबाल ले। ठंडा होने के बाद इस तेल से अपने सर की मालिश करे। ऐसा करने से बाल चमकदार दिखाई देते है और बालो में मजबूती आती है साथ ही रूसी की समस्या से भी निजाद मिलता है।
  4. इसके अलावा गुड़हल की पट्टी और फूल से बना पेस्ट बालो के लिए नेचरल हेयर कंडीशनर का काम करता है। इसे लगाने के लिए बालो को पहले शैम्पू से धो ले फिर इसे लगाए। ऐसा करने से बालो का रंग काला होता है और रूसी से छुटकारा मिलता है।
  5. गुड़हल की पत्तियो को पानी और आमला पाउडर डालकर पीसकर सिर की मालिश करने से बालो का झड़ना बंद होता है और बाल लंबे होते है।

 

गुड़हल के फूल के अन्य लाभ

  • गुड़हल की पत्तियो को पीसकर त्वचा पर लगाने से सूजन और जलन में आराम मिलता है।
  • गुड़हल की पत्तियो और फूल को पीसकर बने पाउडर को दूध के साथ लेने से मेमोरी पावर बढ़ती है।

 

यहाँ आपने जाने गुड़हल के फूल के फायदे। यदि आप भी अपने बाल और शरीर को स्वस्थ रखना चाहते है तो आज से ही गुड़हल के फूल और पत्तियों का इस्तेमाल करना शुरू कर दे।

Related Post