शलगम जमीन में पैदा होने वाली एक गूदेदार सब्जी है। खाने में इसका प्रयोग कई प्रकार से करते है। इसकी पत्तियो की सब्जी बनाई जाती है इसके अलावा इसकी जड़ को पकाकर खाया जाता है। शलगम दो रंगो में पाए जाते है, सफेद और लाल।

शलगम को शलजम भी कहा जाता है। यह हमारे स्वास्थ के लिए भी बहुत लाभप्रद होती है। यह बहुत से पोषक तत्व और पोटैशियम, फोस्फोरस, कैल्शियम विटामिन आदि से भरपूर होता है। इस प्रकार यह शरीर को कई प्रकार के रोगो और बीमारियो से दूर रखने में मदद करती है। शलजम की पत्तियो में भी कई प्रकार के खनिज-लवण और कैल्शियम की अधिकता पाई जाती है।

शलगम में सभी गूदेदार सब्जियो से अधिक स्वास्थ्यवर्धक गुण होते है। यह हमारे शरीर को पथरी, कैंसर, मुत्र संबंधी विकार, गठिया रोग आदि को ठीक करने में सहायता करता है। इसके साथ ही यह शरीर के ब्लड में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने में सहायक होता है।

शलगम हमारी त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है, साथ ही इसका सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। इसके अलावा इसके और भी कई फायदे है जिन्हे जानने के लिए यहा पढ़े Benefits of Turnip in Hindi.

Benefits of Turnip in Hindi: जानिए इसके आश्चर्यजनक फायदे

Benefits of Turnip in Hindi

शलजम का स्वाद कड़वा होता है, इस वजह से इसका प्रयोग कई प्रकार से किया जाता है जैसे इसका सूप बनाकर, सलाद और रायता बनाकर। इसमे कैलोरी की मात्रा बहुत कम पाई जाती है इस वजह से यह हमारे वजन को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है।

पाचन क्रिया में मदद करे

शलगम मे फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इस कारण से यह हमारे भोजन के पाचन में मदद करता है। इसके अलावा यह हमारे शरीर की आँतो और पेट को भी स्वस्थ रखता है।

आँखो की रोशनी बढ़ाए

शलजम में उपस्थित लुटेइन हमारी आँखो के स्वास्थ के लिए बहुत अच्छा होता है। इसके अलावा इसमे पाया जाने वाला केरोटेनोइड आँखो को मोतियाबिंद और मैकुलर डिजनरेशन को रोकने में मदद करता है। इसलिए अपनी आँखों को सुरक्षित रखने के लिए अपने दैनिक जीवन मई शलजम का प्रयोग करे।

हृदय के लिए लाभकारी

शलगम हमारे हृदय और दिल के स्वस्थ के लिए भी बहुत अच्छा होता है। इसमे उपस्थित फोलेट और विटामिन बी (Vitamin B), शरीर के कार्डियोवस्कुलर सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके अलावा इसमे एंटी-इंफ्लेमेटरी का गुण भी पाया जाता है जो की शरीर को दिल से संबंधित बीमारियो से दूर रखने में सहायक होता है।

हड्डियो को मजबूत करे

शलगम में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है जिससे यह हमारी हड्डियो को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसके अलावा यदि आप गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोगो से दूर रहना चाहते है तो शलगम का प्रयोग करना चाहिए। शलगम में कैल्शियम, पोटैशियम और हड्डियो के लिए ज़रूरी सभी मिनरल्स पाए जाते है जो की हड्डियो को मजबूती प्रदान करते है और उनके विकास में भी सहायक होते है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

शलगम हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसमे उपस्थित बेटा-केरोटीन शरीर में हेल्थी मेम्ब्रेन बनाने में मदद करता है। इसके अलावा इसमे उपस्थित पोटैशियम की मदद से शरीर की सभी मांसपेशियां और तंत्रिका तंत्र सही से काम करना शुरू कर देते है।

त्वचा को अच्छा बनाए

शलगम का प्रयोग न केवल हमारे शरीर को अनेको बीमारियो से बचाने में किया जाता है बल्कि यह हमारी त्वचा के लिए भी लाभदायक होता है। यह त्वचा से शुष्कपन (ड्राइनेस) को खत्म कर त्वचा को चिकनी और कोमल बनाने में मदद करता है। इसके प्रयोग के लिए आप रोजाना शलगम के जूस में गाजर के जूस को मिलकर पिए।

कैंसर के खतरे को रोके

शलगम हमारे शरीर को कैंसर से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। इसमे पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट और फीटोनुट्रिएंट्स, शरीर को कैंसर के खतरे से बचाते है। इसके अलावा इसमे उपस्थित प्लांट कॉंपाउंड और ग्लुकोसिनोलेट, शरीर में होने वाले ट्यूमर को बढ़ाने से रोकता है। साथ ही शलगम का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर और रेक्टल ट्यूमर का खतरा भी कम हो जाता है।

वजन कम करे

शलजम में उपस्थित फाइबर हमारे शरीर के मेटाबोलिज्म को रेग्युलेट करने में मदद करता है जिससे भोजन का पाचन सही तरह से होता रहता है। इसके अलावा इसमे कैलोरी की भी बहुत कम मात्रा पाई जाती है जिससे शरीर का वसा का लेवल बढ़ नही पाता है। इस वजह से शलगम हमारे शरीर के वजन को कम करने में सहायक होता है।

उच्च रक्तचाप के लिए

शलगम में उपस्थित मैग्नीशियम और विटामिन बी (Vitamin-B) शरीर के उच्च रक्तचाप को नॉर्मल बनाने में भी सहायक होता है। साथ ही इसमे उपस्थित मैग्नीशियम दिल और हड्डियो से संबंधित बीमारियो से भी दूर रखता है।

अस्थमा के लिए

शलगम में उपस्थित एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण, शरीर को अस्थमा से बचाने में मदद करते है। इसके लिए अपने दैनिक जीवन में नियमित रूप से शलगम का सेवन करे।

यहाँ आपने जाना Benefits of Turnip in Hindi. इन सभी बीमारियो के अलावा शलगम दमा, उंगलिओं में आने वाली सूजन और दांतो से संबंधित परेशानियो को भी दूर करने में मदद करता है। इसलिए अपने भोजन के साथ शलगम का उपयोग शुरू करें।