Fortified Foods: पोषक तत्वों से भरपूर आहार होता है फोर्टिफाइड फूड

आप किस तरह का आहार लेते है उस अनुसार आपके शरीर को पोषण मिलता है। हर आहार में पोषण की विशिष्ठ रुपरेखा होती है और उसके अनुसार ही हम अपना भोजन तय करते है। हमारे शरीर को हर तरह का पोषण मिल सके इसके लिए हम कई तरह की चीज़े अपने आहार में शामिल करते है।

लेकिन विविधता से भरा भोजन करने के बावजूद भी कई बार शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। इसलिए बाहर बार संतुलित भोजन करने वाला व्यक्ति भी खनिजों की कमी से झुझता है। आपने देखा होगा अपनी डाइट का ख्याल रखने वाले व्यकित भी बीमार पढ़ते है। इस चीज़ का समाधान हमें फोर्टिफाइड फूड के जरिये मिल सकता है।

हम जो आहार लेते है उनमे से अधिकतर आहार एक ऐसी प्रोसेस से गुजरते है जिसके चलते उनकी नुट्रिशन वैल्यू कम हो जाती है। इस प्रोसेस को फ़ूड रिफाइनिंग कहा जाता है।

यदि फ़ूड मेनूफ्रेकचरर आहार को फोर्टिफाइड करते है तो उसमे वो सारे नुट्रिशन वापिस डाले जाते है, साथ ही उनमे ऐसे पोषक तत्व भी डाले जाते है जो उस आहार में पहले नहीं थे। आइये विस्तार से Fortified Food के बारे में जानते है।

Fortified Food: फोर्टिफाइड फूड का सेवन अआप्को रखेगा स्वस्थ और तंदुरुस्त

Fortified Food: पोषक तत्वों से भरपूर आहार, जानिए इसकी सूची

फोर्टिफाइड फूड क्या है?

  • फोर्टिफाइड फूड याने की आहार की एक ऐसी श्रृंखला, जिसमे अतिरित्क पोषक तत्वों का समावेश किया जाता है।
  • यदि आप इसका उदहारण जानना चाहते है तो सफ़ेद नमक इसका सबसे बढ़ा उदाहरण है
  • आपको बतादे की जो प्राकृतिक तौर पर नमक होता है उसमे आयोडीन नहीं होता है नमक को फोर्टिफाई कर इसमें आयोडीन मिलाया जाता है।
  • याने की फोर्टिफाइड फूड में सामान्य तौर पर मिलने वाले पोषण के साथ साथ अन्य पोषक तत्व भी प्राप्त होते है।

आइये नजर डालते है फोर्टिफाइड फूड की सूची पर:-

दूध

हड्डियों के विकास और मजबूती के लिए कैल्शियम बहुत जरुरी है। दूध कैल्शियम, प्रोटीन और कार्बोहायड्रेट का अच्छा स्त्रोत है। किन्तु बिना विटामिन डी के शरीर इसको ग्रहण नहीं कर सकता। इसलिए दूध को विटामिन ए और डी से फोर्टिफाई किया जाता है।

अनाज

अनाज में बहुत कम मात्रा में पोषक तत्व होते है, यहाँ ताकि उन्हें प्रोसेस करने से पहले भी। इसलिए बहुत सारे अनाज वाले नाश्ते में आयरन मिलाया जाता है। और साबुत अनाज को भी विटामिन बी से फोर्टिफाई करके बेचा जाता है। Fortified Breakfast Cereals आपके लिए फायदेमंद होते है।

एनर्जी ड्रिंक्स

आजकल बहुत सारे आहार और पेय पदार्थो में विटामिन बी डाला जा रहा है। यह खासकर उन लोगो के लिए है जो मीट नहीं खाते है। इसके अलावा आपको केवल डेरी प्रोडक्ट्स से विटामिन बी 12 मिलता है।

यह हमारे शरीर को ऊर्जा बनाने में मदद करता है, इसलिए बहुत जरुरी है हमारा शरीर इसे उचित मात्रा में ले। हम आपको यह तो नहीं कह रहे की एनर्जी ड्रिंक बहुत हेल्थी होती है। लेकिन इनमे अच्छी मात्रा में विटामिन बी और बी 12 होता है जो की शरीर के लिए जरुरी है।

ब्रेड्स

होल ग्रेन ब्रेड भी मार्किट में फोर्टिफाइड मिलती है। इस होल ग्रेन ब्रेड को फोर्टिफाई करते समय इसमें फोलिक एसिड और विटामिन बी डाला जाता है। फोलिक एसिड भी विटामिन बी का एक पार्ट होता है और इसके अलावा विटामिन बी जो हरी पत्तेदार सब्जियों, बीन्स और ऑरेंज जूस से भी प्राप्त होता है।

फोर्टिफाइड होल ग्रेन ब्रेड का सेवन करने से बचपन में हुई रीढ़ की हड्डी की समस्या में फायदा मिलता है कई पार नवजात शिशु को स्पाइना बाइफिडा की समस्या हो जाती है इस उस समस्या को सुधरने में फ़ायदेमंद साबित होता है।

ऑरेंज जूस

दूध की तरह ऑरेंज जूस भी स्वस्थ रहने के लिए ज़रूरी होता है। यह शरीर को हमेशा सेहतमंद रखता है। स्वस्थ रहने के लिए ऑरेंज जूस को सभी लोगो को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। इस ऑरेंज जूस में पहले से कई पोषक तत्व होते है लेकिन रिफाइनिंग के समय कई प्रकार के पोषक तत्व छट जाते है इसके लिए ऑरेंज जूस को फोर्टिफाई कर के इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स डाले जाते है। इस एंटी ऑक्सीडेंट्स के साथ साथ इसमें हड्डियों को मजबूत बनाने वाला कैल्शियम और विटामिन डी भी डाला जाता है। इसे शरीर को पूरी तरह स्वस्थ रखने के लिए तैयार किया जाता है।

अंडे

अंडे के फ़ायदों को बारे में सभी जानते है की यह कितना प्रोटीन युक्त होता है और इसके अलावा भी इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते है। लेकिन अब मार्किट में अंडे भी फोर्टिफाइड मिलते है जो इससे भी ज्यादा पौष्टिक होते है इसका सेवन शरीर को काफी स्वस्थ रखता है। अंडो को ओमेगा 3 फैटी एसिड के साथ फोर्टिफाई किया जाता है।

वैसे तो ओमेगा 3 फैटी एसिड फिश से प्राप्त होता है लेकिन फोर्टिफाई करते समय अंडो में भी इसे डाला जाता है जो कई प्रकार की दिल की बीमारियों से बचाव के लिए काफी फ़ायदेमंद होता है। साथ ही यह दिमाग की कार्य-क्षमता को बढ़ाने का भी कार्य करता है। कैंसर के सेल्स को बढ़ने से रोकने में भी यह सहायक होता है। साथ हीं गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्चों को भी यह स्वस्थ रखता है। साथ ही आर्थराइटिस के दर्द में भी काफी मददगार साबित होता है। यह उन लोगो के लिए एक बहुत अच्छा सोर्स है ओमेगा 3 फैटी एसिड का जो फिश नहीं खाते है।

ऐसे पहचाने फोर्टिफाइड फूड को

  • जब कभी भी आप कोई फ़ूड मार्किट में लेने जाए तो जरूर चेक करे की वह फोर्टिफाइड है यह नहीं।
  • जो Food Fortification होते है उन के पैक पर ऍफ़ का साइन होता है।
  • इससे आप आसानी से पहचान सकते है की यह फ़ूड फोर्टिफाइड है की नहीं है।
  • अभी एफएसएसएआई (फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया) पांच फ़ूड को फोर्टिफाइड बनाने के लिए स्टेप लिया है।
  • इन फूड्स में शामिल है – गेहूं का आटा, चावल, खाद्य तेल, नमक और दूध है।
  • इसके अलाव अन्य कंपनीज ने भी अपने कुछ चुनिंदा फूड्स को फोर्टिफाइड बनाने का फैसला लिया है।

ऊपर बताये गए Fortified Food के अलावा ब्रेड, सोयाबीन का दूध, नमक आदि चीज़ो को फोर्टिफाइड किया जाता है। देखा गया है की यह आहार लेने वालो में ह्रदय की समस्या होने के चान्सेज कम होते है। यह सब सुनकर आपको लग रहा है की यह प्राकृतिक प्रोसेस नहीं है, लेकिन यह आपके आहार को स्वस्थ बनाने में मदद करती है।