Home Remedies for Diarrhea: बार बार डायरिया होना होता है घातक, जानें बचाव के उपाय

लगातार पानी वाले पतले दस्त का होना डायरिया कहलाता है। कई बार आपको पेट में मरोड़, पतले दस्त, उल्टी, और पेट में दर्द जैसी समस्या हो जाती है जिसे डायरिया कहते है। डायरिया को घरेलू उपायों से आसानी से ठीक किया जा सकता है। पर अगर घरेलू नुस्खो को अपनाने के बाद भी Diarrhea ठीक नही हो रहा हो तो ऐसे में डॉक्टर को ज़रूर दिखाना चाहिए क्योंकि बहुत ज्यादा पतले दस्त होने पर शरीर में पानी की कमी हो जाती है जो जल्दी ठीक नही होने पर कोई भी गंभीर परेशानी बन सकती है। डायरिया को अतिसार भी कहा जाता है। बार बार डायरिया की परेशानी होने से आंतो में भी दर्द होने लग जाता है साथ ही आंते कमजोर भी हो जाती है। बच्चों में बार बार डायरिया की बीमारी होने से बच्चों के विकास पर बुरा असर पड़ता है इसलिए Diarrhea Cure पर ध्यान देने की जरुरत होती है।

मुख्य रूप से डायरिया गलत खान-पान की वजह से हो जाता है। बच्चों और बड़ों किसी को भी डायरिया हो सकता है। गर्मी, बारिश के मौसम में कुछ भी बाहर का खाने-पीने से डायरिया की परेशानी हो सकती है। इसलिए डॉक्टर भी इन मौसमो में बाहर का खाने के लिए सख्त मना करते है।

बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण के कारण भी डायरिया हो जाता है। दूषित पानी का सेवन करने से भी डायरिया की समस्या हो सकती है। जिनका लीवर कमजोर होता है उन्हें भी बार-बार डायरिया की परेशानी हो सकती है। डायरिया से शरीर में पानी की कमी होती है इसे डिहाइड्रेशन कहा जाता है। डायरिया से शरीर में पानी की कमी होने के कारण शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है इसलिए डायरिया का सही और उचित इलाज होना बहुत आवश्यक होता है। किसी दवा की गलत प्रतिक्रिया के स्वरूप भी डायरिया की तकलीफ़ उठानी पड़ सकती है।

आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिये कुछ ऐसे घरेलू उपाय बतायेंगे जिन्हें आजमाकर आप डायरिया का प्राथमिक रूप से उपचार कर सकते है बहुत हद तक आपको इन उपायों से डायरिया में आराम भी मिल जायेगा। अगर बच्चों को डायरिया की परेशानी हो रही हो तो उन्हें समय पर चिकित्सक को ज़रुर दिखाना चाहिए। जानते है Home Remedies for Diarrhea के बारे में।

Home Remedies for Diarrhea: जाने डायरिया के कारण, लक्षण और उपचार

Home Remedies for Diarrhea

डायरिया के कारण: Causes of Diarrhea

  • गलत खान पान
  • दूषित पानी
  • वाइरल संक्रमन
  • कमजोर लीवर
  • आंतो की परेशानी
  • बैक्टीरिया के संक्रमण से
  • पानी की कमी के कारण
  • संक्रमित भोजन
  • अत्यधिक गरम मौसम
  • फूड पॉइजनिंग

डायरिया के लक्षण: Symptoms of Diarrhea

  • पतले दस्त का बार-बार होना
  • उल्टी आना
  • पेट में दर्द होना
  • बार-बार प्यास लगना
  • बुखार आना
  • जी मचलना
  • भूख न लगना
  • डिहाइड्रेशन
  • चक्कर आना
  • बदहजमी होना

डायरिया के घरेलू ईलाज: Home Remedies for Diarrhea

  • बच्चों या बड़ों किसी को भी डायरिया की परेशानी होने पर सबसे पहले ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ओ.आर.एस) देना जरूरी होता है। ओ.आर.एस में नमक और शक्कर का घोल होता है जिसे बार-बार पीने से डायरिया होने के बाद भी शरीर में पानी की कमी नही होती है यह घोल पानी की कमी को पूरा करता है। आप घर में भी आसानी से नमक और शक्कर का घोल बनाकर पी सकते है या बाज़ार में भी ओ.आर.एस के पाउच आसानी से उपलब्ध हो जाते है।
  • इलेक्ट्रोल : डायरिया से शरीर में पानी की कमी न हो इसलिए इलेक्ट्रोल को पानी में मिलाकर पीना अच्छा होता है। कभी भी उलटी और दस्त की परेशानी होने पर इलेक्ट्रोल को ज़रूर पिए।
  • दही का सेवन करना डायरिया में अच्छा होता है। दही को चावल के साथ खाया जा सकता है।
  • एसाबोल 10 ग्राम लें और 125 ग्राम दही के साथ मिलाएं। इस मिश्रण को हर सुबह और शाम खाएं, आपको दस्त में राहत मिलेगी। यह बवासीर में भी फ़ायदेमंद है और यह डायरिया का एक सबसे अच्छा ईलाज है।
  • छाछ में थोड़ा सा नमक मिलाकर के इसे पिए। डायरिया में जितना पानी पीया जाये उतना अच्छा रहता है इससे पानी की पूर्ति होती रहती है।
  • सूखी आंवला 10 ग्राम लें और उसका बारीक पाउडर बनाने के लिए पीस लें। अब हर सुबह और शाम पानी के साथ इसकी 1 ग्राम की मात्रा लें। हर तरह के दस्त उपचार और कब्ज में इससे बहुत जल्दी राहत मिलती है।
  • आधा कप गर्म पानी ले और इसमें 1 चम्मच अदरक का रस मिलाकर पीयें। दस्त के उपचार के लिए हर घंटे के बाद इस प्रक्रिया का पालन करें।
  • सेब का सिरका भी डायरिया में बेहद फ़ायदेमंद है। सेब के सिरके का एसिडिक गुण, डायरिया के बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। उपचार के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच सिरका मिलाएं और पी लें। इस मिश्रण को एक दिन में दो से तीन बार तब तक पीएं जब तक डायरिया ठीक न हो जाए।
  • केले में काफी मात्रा में पैक्टिन तत्व और पौटेशियम होता है, इसलिए डायरिया में केला खाने की सलाह दी जाती है। डायरिया होने पर दो से तीन पके हुए केला रोज खाएं।
  • अगर आप रोज दूध पीते है तो डायरिया होने पर दूध का सेवन करना बंद कर दे जब तक डायरिया पूरी तरह ठीक न हो जाये।
  • मसालेदार खाना और तला-भुना खाना बंद कर दे। डायरिया होने पर दलिया, खिचड़ी या दही-चावल का ही सेवन करे।
  • जितना हो सके पेय और तरल पदार्थ का सेवन करे। जूस, नारियल पानी, छाछ आदि पीना डायरिया में लाभकारी होता है।
  • ताजा पुदीने के सेवन से भी पेट की गड़बड़ी ठीक होती है, पेट तथा आँतों के मरोड़ में आराम मिलता है और डायरिया पूरी तरह ठीक हो जाता है। ताजा पुदीने की कुछ पत्तियाँ पानी में उबालें तथा इसे थोड़ी थोड़ी देर में पीते रहे। इससे भी डायरिया में आराम मिलता है।
  • अदरक को कद्दूकस करके, उसमें शहद मिलाकर खाएं और इसके तुरंत बाद पानी न पीएं। अदरक से डायरिया में जल्दी आराम मिलता है।
  • नींबू की शिकंजी, चावल का मांड और ग्रीन टी का भी सेवन करना डायरिया में लाभप्रद रहता है।

उपरोक्त Diarrhea Treatment बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। इसका उपयोग किया जा सकता है।


You may also like...