Diabetes and Winter: सर्दियों में मधुमेह को कैसे करें कंट्रोल, जानिए महत्वपूर्ण टिप्स

ठंड के दिन शुरू हो चुके है। इस मौसम में हर किसी को अपने स्वास्थ्य का ख़ास ख्याल रखने की जरुरत पड़ती है। इस मौसम को ख़ास तौर पर मधुमेह के रोगियों के लिए बेहतर नहीं माना जाता है। मधुमेह पीड़ित को इस मौसम में खुद की देखभाल कर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।

यदि आप बहुत ज्यादा ठंडी जगह पर रहते है तो अपनी डायबिटीज़ को नियंत्रित करना एक बड़ी चुनौती है। ऐसे मौसम में सर्दी- जुकाम, खानपान में बदलाव, एक्सरसाइज में कमी आपकी शुगर लेवल को अनियत्रित कर देती है।

इसलिए सर्दियों का मौसम आपके लिए हानिकारक भी साबित हो सकता है। किंतु यदि आप थोड़ी सावधानी रखते है तो सर्दियों के मौसम में भी आप स्वस्थ रख सकते हैं और अपनी मधुमेह की समस्या को भी नियंत्रित रख सकते हैं।

आज के लेख में हम आपको बताएँगे सर्दियों के मौसम में मधुमेह की समस्या पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में। इसके माध्यम से आप मधुमेह की समस्या को ऐसे मौसम में नियंत्रित रख पाएंगे। पढ़ें Diabetes and Winter.

Diabetes and Winter: मधुमेह रोगियों के लिए सर्दियों की कुछ उपयोगी टिप्स

Diabetes and Winter

वैसे तो सर्दियों के इस मौसम को स्वास्थ्य की दृष्टि से हर किसी के लिए बहुत फ़ायदेमंद और अनुकूल माना जाता है, पर मधुमेह पीड़ित रोगियों के लिए यह समय परेशान करने वाला हो सकता है, ऐसे वक़्त में उनकी परेशानियां बढ़ जाती है। बता दें की इस समय मधुमेह पीड़ितों का इम्‍यून सिस्‍टम बाकी मौसमों के अपेक्षा कमजोर हो जाता है और इस दौरान खाना पचाने में परेशानी होने लग जाती है। इसके अलावा सर्दियों के मौसम में मधुमेह के कारण दिल संबंधित रोगों के होने का भी खतरा बढ़ जाता है। इसलिए मधुमेह से परेशान लोगों को सर्दियों मौसम में डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए ध्‍यान रखने की जरुरत होती है।

अपना ब्लड टेस्ट करवाते रहे

  • ठंड का मौसम कुछ लोगो को बिलकुल भी पसंद नहीं होता है, इसलिए इन दिनों लोग बाहर जाने से कतराते है।
  • लेकिन चाहे कितनी भी ठंड क्यों ना हो आपको अपने अपने टेस्ट हमेशा करवाते रहने चाहिए ।
  • इससे आपको ब्लड शुगर लेवल के बढ़ने और कम होने के बारे में जानकारी मिलती रहेगी और आप सही तरीके से अपना ख्याल रख पाएंगे।

शारीरिक गतिविधि को चालू रखे

  • हर दिन की जाने वाली थोड़ी सी भी शारीरिक गतिविधि आपके शरीर के ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित रखने में सहायक होती है।
  • व्यायाम या कोई भी शारीरिक कार्य करने से इंसुलिन की संवेदनशीलता बढ़ती है।
  • यह आपके शरीर को गर्म रखने में मदद करता है।
  • इससे आपका मूड भी सर्दी के मौसम में बेहतर हो जाता है।

आहार का ख्‍याल रखना जरुरी

  • जिन लोगो को बहुत ज्यादा पसंद होता है, उन लोगो को सर्दियाँ बहुत पसंद आती है, क्योंकि इस मौसम में वे मन भर कर खा सकते है।
  • लेकिन यदि आपको मधुमेह है तो सर्दियों में भी मन चाहा खाना आपके लिए नहीं है।
  • डायबिटीज़ पीड़ित मरीज़ों को मीठा और हाई कैलोरी युक्त चीज़ो से परहेज करना चाहिए।
  • इन्हे सही मात्रा में फल और सब्ज़ियाँ खानी चाहिए।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करें

  • मधुमेह रोगी को सर्दियों के दौरान ग्रीन टी, लेमन टी या तुलसी की चाय पीनी चाहिए, ये स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती है।
  • इसके अलावा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आमला, तुलसी, हल्दी, लहुसन आदि का इस्तेमाल करना चाहिए।

गर्म रहें

  • गर्म रहने के लिए अपने सिर को कवर करे और हाथों में भी दस्ताने पहने।
  • अपने पैरों को गर्म रखने के लिए आरामदायक जूते और मोजे पहने।
  • साथ ही इन्फेक्शन आदि से बचने के लिए कुछ भी खाने पिने से पहले हाथो को अच्छी तरह से धोये।

प्रोटीन का खूब सेवन करें

  • हम जानते हैं की ग्लूकोज हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है, पर मधुमेह पीड़ितों के शरीर में इस ग्लूकोज का पाचन अच्छे से नहीं हो पाता है।
  • ग्लुकोज की जगह मधुमेह पीड़ितों में प्रोटीन का पाचन होने लग जाता है जिसकी वजह से मधुमेह का रोगी दुबला होने लग जाता है। इस बीमारी के कारण पीड़ितों का इम्यून सिस्टम भी कमजोर हो जाता है।
  • इसी वजह से मधुमेह पीड़ितों में प्रोटीन की ज्यादा जरूरत होती है।
  • इसलिए मधुमेह के रोगियों को ठंढ के मौसम में प्रोटीन से भरपूर आहार के सेवन की राय दी जाती है।
  • मधुमेह रोगियों को सर्दियों में आराम फरमाने से अच्छा इसका फायदा उठाना चाहिए।
  • इस दौरान उन्हें शरीर में बढ़ रही ग्लूकोज की मात्रा को कम कर प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाना चाहिए। इससे वे अपनी मधुमेह की समस्या को ज़रुर कम कर लेंगे।

तैलिये आहार से बचें

  • वैसे तो मधुमेह के रोगियों को हर मौसम के दौरान तैलिये आहार का सेवन करने से बचने की राय दी जाती है। लेकिन ठंढ के मौसम में तैलिये खाने से परहेज बहुत ज्यादा ज़रुरी होती है।
  • इस मौसम में मधुमेह पीड़ितों को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि इस मौसम में प्रतिरोधक क्षमता बहुत ज्यादा कमजोर हो जाती है।
  • इसीलिए मधुमेह रोगियों को तेल, घी, चिकनाई एवं वसा वाली किसी तरह के आहार से परहेज करने को कहा जाता है।
  • इन आहारों के अलावा डिब्बाबंद, बोतलबंद एवं प्रोसेस्ड तथा रिफाइंड वस्तुओं से इस दौरान परहेज रखना अच्छा माना जाता है।

चोट और घाव से बच कर रहें

  • सर्दियों के मौसम में वैसे भी त्वचा में रूखेपन की समस्या हो जाती है जिसके कारण खुजली होने लग जाती है।
  • ऐसी अवस्था में अत्यधिक खुजली करने स्किन की ऊपरी परत छिल जाती है। इससे पानी निकलने लगता है और घाव जैसा हो जाते हैं।
  • मधुमेह रोगियों के लिए यहां बड़ी परेशानी खड़ी हो जाती है, क्‍योंकि इनके घाव को भरने में आम लोगों की अपेक्षा कुछ ज्यादा समय लग जाता है।
  • ऐसे में मधुमेह के रोगी की त्वचा का छिलना या घाव हो जाना खतरनाक हो जाता है।

इस लेख में आज आपने पढ़ा सर्दियों के मौसम में मधुमेह रोगियों को होने वाली परेशानियों और उससे बचाव के बारे में। अगर आप मधुमेह की समस्या से ग्रसित है तो आपको भी सर्दियों के मौसम में अपना ख्याल रखने की जरुरत है। अपना ख्याल रख कर आप सर्दियों का आराम से मजा ले सकते हैं।


You may also like...