क्या कम नींद लेने से हो सकते है दिमागी रोग?

दुनिया भर में करोडो लोग नींद से जुड़ी बीमारियों से ग्रस्त है| कुछ लोगो को अनिद्रा के कारणवश नींद नहीं आती, तो वही कुछ लोगो को नींद तो आती है, लेकिन व्यस्तता के चलते वो सोने के लिए पर्याप्त समय नहीं निकाल पाते|

क्या आप जानते है कम सोने से आपका वजन बढ़ने की भी सम्भावना बढ़ जाती है| इससे आपका पाचन तंत्र बुरी तरह प्रभावित होता है| वजन के बढ़ने से बीमारिया होने का खतरा होता जैसे की इससे ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज होने के चान्सेस दोगुने हो जाते है|

पिछले किये गए कुछ शोधो के अनुसार जो लोग कम सोते हैं उनकी अवसाद से घिरने की समस्या आम लोगों की तुलना में दोगुनी नहीं बल्कि पांच गुना ज्यादा होती है|

वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि जो लोग कम नींद लेते है वे कम से कम 6 घंटे की नींद जरूर ले| कम नींद से अल्जाइमर और मस्तिष्क से जुड़े अन्य विकार होने का खतरा बढ़ जाता है| आइये इस बारे में और विस्तार पूर्वक जानते है|

अधूरी नींद लेते है तो हो जाये सावधान, हो सकता है अल्जाइमर  रोग

Incomplete sleep linked to alzheimers disease

नींद कम लेने से क्या होता है?

  1. स्वीडन की उपसाला यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है की अच्छी नींद, मस्तिष्क की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने में मददगार होती है|
  2. जब नींद पूरी नहीं होती है तब दिमाग को नुकसान पहुंचाने वाले अणु काम में लग जाते हैं|
  3. जब कुछ लोगो पर शोध किया गया तो शोध में शामिल लोगों के खून में इन अणुओं की संख्या में सिर्फ एक रात ना सोने की वजह से ही करीब 20 प्रतिशत इजाफा हुआ था|

नींद कम लेने से दिमाग को खतरा क्यों

  • इस बात का शोध करने के लिए इटली के मार्के पॉलिटेक्निक विश्वविद्यालय के रिसर्च करने वालो ने चूहों के दो समूहों के मस्तिष्क का अध्ययन किया|
  • अध्यन के दौरान इन्होने चूहों के एक समूह को उनकी इच्छा के अनुसार जब तक चाहे सोने दिया गया या 8 घंटे तक जगाया गया|
  • वही चूहों के अन्य समूह को लगातार पांच दिन तक जगा कर रखा गया|
  • इस तरह किये गए अध्ययन में पाया कि अबाधित नींद लेने वाले चूहों के मस्तिष्क के साइनैप्स में एस्ट्रोसाइट करीब 6 फीसदी सक्रिय थे|
  • वही जिन चूहों की बिल्कुल नहीं सोने दिया गया उनमे इसका स्तर साढ़े 13 प्रतिशत निकला|
  • एस्ट्रोसाइट की बात करे तो यह मस्तिष्क में अनावश्यक अंतर्ग्रंथियों को अलग करने का काम करता है|

शोधकर्ताओ का कहना है की जब आप लंबी अवधि तक ठीक से नहीं सोते तो इससे अल्जाइमर व अन्य मस्तिष्क विकार का खतरा बढ़ जाता है| इस अध्ययन का प्रकाशन ‘न्यू साइंटिस्ट जर्नल में किया गया है| अल्जाइमर की बीमारी के बारे में आप यहाँ से जान सकते है| नींद की कमी ह्रदय स्वास्थ्य के लिए भी सही नहीं है इसलिए वयस्कों को रोज 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए|


You may also like...