अगर आप होमियोपैथिक दवाएँ लेते हैं, तो रखें इन ख़ास बातों का ध्यान

एलोपैथी के भिन्न भिन्न तरह के दुष्प्रभाव से परेशान मरीज़ अब होम्योपैथी के दुष्प्रभावरहित चिकित्सा की और आकर्षित हो रहे हैं। एलोपैथ जहाँ रोग को दबा कर तुरंत राहत देता हैं वहीं होमियोपैथ रोग की जड़ तक पहुंच के उसे पूरी तरह से खत्म करने पर ज्यादा फोकस करता है।

होम्योपैथी की दवाएँ असरकारक तो होती हैं पर इसका असर तभी ज्यादा बेहतर करती हैं जब इसे ग्रहण करने के लिए इसे बताये गए तरीके से हीं लिया जाए।

अगर रोगी दवाएँ लेते समय बताये गए तरीके का अनुसरण नहीं करता है तो उसके जल्द ठीक होने की संभावनाएं भी कम हो जाती हैं। असल में होम्योपैथी बड़े हीं अनुशासित तरीके से किया जाने वाला एक इलाज है, बिना अनुशासन इसके परिणाम अच्छे नहीं मिल सकते।

इसलिए आज के लेख में हम होम्योपैथी का इलाज कराते समय ध्यान दी जाने वाली कुछ प्रमुख बातें बता रहे है, जिसका आपको हमेशा ध्यान रखना चाहिए। जानिए Rules of Taking Homeopathic Medicine in Hindi.

Rules of Taking Homeopathic Medicine: होमियोपैथिक दवा लेने के नियम और कायदे

Rules of Taking Homeopathic Medicine in Hindi

दवाओं को खुले में न रखें

  • होमियोपैथ की दवाओं को ज्यादा देर तक खुली हवा में ना रखें।
  • इन दवाओं को फ्रिज या इस जैसी किसी ठंढी जगह पर बताये गए तापमान पे रखना बेहतर होता है।

दवाओं को हाथों से ना छुएँ

  • होमियोपैथिक दवाओं को कभी भी अपने हाथों के प्रत्यक्ष संपर्क में ना लाएं।
  • दवाओं को सीधे बोतल से या फिर बोतल की ढक्कन से निकाल के खाना बेहतर होता है।
  • हाथों के प्रत्यक्ष उपयोग से दवाओं की क्षमता क्षीण होती है।

कुछ खाद्य पदार्थों का ना करे सेवन

  • इन दवाओं के सेवन करते समय कांदा, अदरक और लहसुन आदि कुछ खाद्य पदार्थों से परहेज ज़रुरी है।
  • इमली और इस जैसे अन्य खट्टे खाद्य पदार्थों से भी परहेज रखें।
  • परहेज से संबंधित सलाह डॉक्टर से ज़रूर लें।

दवाओं को लेने से पहले और बाद में रखे ये ध्यान

  • होमियोपैथिक दवाओं को लेते समय कुछ नियमों का कड़ाई से पालन करना ज़रुरी है।
  • इन दवाओं को लेने से पहले और बाद में कम से कम आधे घंटे तक कुछ भी खाना और पीना नहीं चाहिए।

दवा लेने के बाद नशे से दूर रहें

  • दवाओं के प्रयोग के बाद नशा का प्रयोग वर्जित है।
  • नशे में लिए गए पदार्थों में कई तरह के घातक सप्लीमेंट होते हैं जो दवाओं में मिलकर बुरा प्रभाव छोड़ सकते हैं।

अलग अलग दवाओं को एक साथ न मिलाएँ

  • हमें आदत होती है सारी दवाओं को एक साथ रखने की।
  • पर हमें कभी भी होमियोपैथ, एलोपैथ या आयुर्वैदिक दवाओं को एक साथ मिक्स कर के नहीं रखना चाहिए।
Spread the love

You may also like...