Trans Fat Foods: ट्रांस फैट से बनाले दुरी नहीं तो हो सकती है कई बीमारिया

बस अब जुलाई का महीना खत्म होते ही, एक के बाद एक कई त्यौहार आने लगेंगे| और जहा त्यौहार शुरू वहा लोगो का फ़ास्ट फ़ूड और स्वीट खाना शुरू हो जाता है| इन दिनों पकौड़े, जलेबी, फ्राइड फूड्स व मिठाइयों की बिक्री बहुत ज्यादा होती है|

आपको यह बहुत स्वादिष्ट लगते है लेकिन क्या आप जानते है इन सब Trans Fat Foods को खाने से आप अनहेल्थी ट्रांसफैट ले रहे है जो कई बीमारियों का कारण है| यह सोचकर लोग घर पर ही यह सब चीज़े पकाने लगते है| लेकिन इसके बावजूद भी वे बीमार पढ़ जाते है|

दरहसल शरीर में ट्रांस फैट मुख्य तौर पर खाने के तेलों के जरिये पहुंचता है| और इस बात से कोई फर्क नहीं पढता की आप कौनसा तेल इस्तेमाल करते है|जब तेल को गर्म किया जाता है उसमें अपने आप ट्रांस फैट उत्पन्न होता है।

बाजार में जो ब्रांड हैं ऐसा दावा करते हैं कि उनके तेल में ट्रांस फैट नहीं है, लेकिन यह बात तब तक सही है जब तक तेल को गर्म न किया जाए| जब तेल को गर्म करते है और जितने बार गर्म करते है उसमें ट्रांस फैट की मात्रा उतनी ही बढ़ती जाती है|

Trans Fat Foods: बाहर मिलने वाले ही नहीं घर के खाने में भी ट्रांसफैट

Trans Fat Foods

What is Trans Fat: ट्रांस फैट क्या होता है ?

  • ट्रांस फैट तेल में पाया जाता है।
  • ट्रांस फैट तेल में हाइड्रोजनेटेड के फोर्म में होता है।
  • इसका सेवन खाने के माध्यम से करना हेल्थ के नुकसानदायक हो सकता है।
  • वैसे यह तेल में तब तक नहीं होता है जब तक की तेल गर्म नहीं किया जाए।
  • जैसे तेल गर्म होता है यह उसमे हाइड्रोजन मोलेक्युल्स को बढ़ाता है।
  • यह आयल की केमिकल प्रॉपर्टी को बदल देता है।

क्या कहता है अध्ययन?

  • अध्ययन में बाजार में मिलने वाले कई तेल ब्रांडों को लेकर प्रयोगशाला में अध्ययन किया गया|
  • इसमें देखा गया की बाजार में मिलने वाले खाद्य पदार्थों जैसे की समोसा, केक-पेस्ट्रीज व अन्य फास्ट फूड में बड़ी मात्रा में ट्रांस फैट मौजूद था|
  • और आश्चर्य की बात यह थी की सिर्फ सडक़ किनारे के ढाबे से लिए गए सैंपल में ही नहीं बल्कि अच्छे रेस्टोरेंट जहा अच्छा तेल इस्तेमाल होता है उनमे भी ट्रांसफैट मौजूद होता है|

जरुरी सलाह: इसलिए घर में कोई भी चीज आप तलते है तो बचे हुए तेल को जितना हो सके दोबारा इस्तेमाल न करें| और यदि ज्यादा तेल बच भी गया हो और आप उसे फेकना नहीं चाहते है तो उसे तलने के बजाय थोड़ा थोड़ा सब्जी में इस्तेमाल करे|

फूड्स जिनमें ट्रांस-फैट अधिक होता है

डोनट्स, पेस्ट्री और केक, फ्रेंच फ्राइज़, चॉकलेट, आलू के चिप्स, फ्राइड स्वीट्स, फ्राइड चिकन, फ्रोज़न मील, रेडी टू ईट मील
आदि

ट्रांसफैट के नुकसान:-

  • हार्ट अटैक की संभावना बढ़ाये
  • मोटापे का कारण बनता है
  • डायबिटीज़ टाइप 1 & 2
  • इम्यून सिस्टम वीक होने लगता है
  • अस्थमा
  • ओबेसिटी
  • दिमागी परेशानी
  • महिलाओं में फर्टिलिटी कम करना

कॉमन फ़ूड जिनमे ट्रांस फैट पाया जाता है

मूवी पॉपकॉर्न

  • जब कभी भी हम कही मॉल जाते है तो पॉपकॉर्न की खुशबू हमे खिंच ही लेती है।
  • लेकिन इस खुशबू से ही पता चलता है कि यह ट्रांस फैट वाले तेल से बना है।
  • पॉपकॉर्न जो काफी ज्यादा लोग नार्मल स्नैक्स के तौर पर खाना पसंद करते है, तो यह बटर से कोटेड होते है जिसमे काफी ज्यादा मात्रा में ट्रांस फैट मौजूद होता है।
  • अगर आप एक स्वस्थ लाइफ चाहते है तो पॉपकॉर्न को खाना अवॉयड करना चाहिए।

ब्लेंडेड वेजिटेबल आयल

  • कोई फर्क नहीं पड़ता कि वेजिटेबल आयल पॉली सैचुरेटेड है या फिर मोनो सैचुरेटेड है।
  • सुपर मार्किट में ज्यादातर आयल में ट्रांस फैट होता ही है।
  • इसमें ट्रांस फैट तब बड़ा दिया जाता है जब वह रेफ़िन और हीटिंग स्टेज पर होते है।

आलू या कॉर्न की चिप्स

  • बच्चों का सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला आहार चिप्स कई बड़े लोग भी इसे खाना काफी पसंद करते है।
  • लेकिन यह भी ट्रांस फैट आयल में बनी होती जिससे इसकी पौष्टिकता कम हो जाती है।

बिस्किट्स एंड कूकीज

  • बिस्किट्स एंड कूकीज तो सभी के घर में खाई जाती है।
  • चाय के साथ अक्सर बिस्कुट और कूकीज ऑफर करने का चलन है।
  • इसे भी उस बटर और आयल में बनाया जाता है जो ट्रांस फैट से युक्त होता है।

फ्रोजन फूड्स

  • आज कल मार्किट में फ्रोजन फ़ूड का काफी ज्यादा चलन बढ़ गया है।
  • कई लोग है जो फ्रोजन फ़ूड का सेवन करते है।
  • ये जितने फ़ूड होते है उन्हें बनाने के लिए ट्रांस फैट आयल का इस्तेमाल किया जाता है।
  • इसमें ज्यादातर स्प्रिंग रोल, पिज़्ज़ा आदि चीज़े आती है।

केक मिक्सेस

  • मार्किट में जो केक मिक्सेस और मफिन मिक्सेस आता है वो सभी ट्रांस फैट फ्री नहीं होते है।
  • उनमे से कुछ मिक्सेस में ट्रांस फैट पाया जाता है।

वैफल्स

  • मार्किट में मिलने वाले वैफल्स में ट्रांस फैट आयल मौजूद होता है।
  • यह पहले से बना दिया जाता है और उसको स्टोर कर के रखा जाता है।
  • यह कई प्रकार की चीज़ो में इस्तेमाल किया जाता और साथ ही इसका डायरेक्ट सेवन भी किया जाता है जो हेल्थ के लिए काफी नुकसानदायक होता है।

आइस क्रीम

  • ज्यादातर लोगो की पसंद आइस क्रीम में भी ट्रांस फैट की मात्रा होती है।
  • इसमें ट्रांस फैट काफी कम मात्रा में पाया जाता है लेकिन पाया जरूर जाता है।
  • यह एक डेरी प्रोडक्ट होता है इसलिए इसमें नेचुरल तरीके से ट्रांस फैट बनता है।
  • इसका सेवन इतना नुकसानदायक नहीं होता जितना दूसरे प्रोडक्ट के सेवन से शरीर को होता है।

सभी डीप फ्राई फ़ूड

  • ट्रांस फैट तेल में पाया जाता है इस वजह से आयल में अगर ट्रांस फैट है तो उसमे पके सभी फ़ूड ट्रांस फैट से युक्त हो जाते है।
  • चाहे फिर वह चिप्स, फ्राइज आदि में भी आ जाता है इसलिए डीप फ्राई सभी प्रोडक्ट्स ट्रांस फैट में आते है।

इस ऊपर दिए लेख में अपने जाना की ट्रांस फैट फ़ूड कोनसे है और यह आपके लिए नुकसानदायक है। इसी के साथ यह ट्रांस फैट होता क्या है और इससे किस तरह से नुकसान होता है शरीर को।


You may also like...