हम सभी जानते है की पपीता हमें कई सारे स्वास्थ्य लाभ देता है| इसके कई फायदे है जैसे की; पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में इससे राहत मिलती है। पपीते में कई पाचक एंजाइम्स होते हैं जिसके कारण पाचन क्रिया सही रहती है|

पपीते में उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होता है और यह विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स से भी भरपूर होता है| जिसके कारण यह  कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी असरदार है

परन्तु आपको बता दे की पपीते को कम मात्रा में खाने से ही यह बीमारियों से हमारी रक्षा करता हैI यदि आपने पपीते की मात्रा अधिक खा ली है तो यह आपको नुकसान भी पंहुचा सकता है।

पपीते में मौजूद पपाइन और बीटा कैरोटीन अस्थमा और पीलिया को बढ़ाते हैं। पपीता ज्यादा खा लेने से हमारा खून पतला होने लगता है। यदि आपकी कोई सर्जरी हुई है तो कुछ हफ्तों तक पपीते के सेवन से बचे क्यूंकि पपीता खाने से घाव जल्दी नहीं भरता है। आइये जाने और भी कई Side Effects of Papaya.

Side Effects of Papaya: ज्यादा पपीता खाने से होते है नुकसान

Side Effects of Papaya

पीलिया का खतरा

  • पपीता में बीटा कैरोटिन पाया जाता है| इसके अधिक सेवन से त्वचा भद्दे रंग की होने लगती है|
  • साथ ही आँखे और हथेली पीली पड़ने लगती है और आप पीलिया का शिकार हो सकते है|

पथरी की सम्भावना

  • 5 इंच लम्बे पपीते में 60 मिलीग्राम vitamin c पाया जाता है|
  • जो की प्रतिदिन लगने वाले vitamin c की मात्रा का 300% अधिक होती है|
  • यह विटामिन एक बहुत अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है जो की कैंसर से बचाने में मदद करता है|
  • लेकिन पपीते के अधिक सेवन से किडनी में पथरी की आशंका ज्यादा हो जाती है।

श्वास की समस्या

  • पपीता में पेपाइन पाया जाता है। इसके ज्यादा सेवन से श्वास सम्बंधित समस्या उत्पन्न हो सकती है|
  • साथ ही दिल की धड़कन की रफ़्तार भी धीमी होती है।
  • यदि आपको किसी प्रकार का रोग है और पपीते का ज्यादा सेवन कर रहे है तो अस्थमा के शिकार हो सकते है।

गर्भ गिरने का संकट

  • यदि आप गर्भवती है तो पपीते के सेवन से बचे|
  • पपीता में पाया जाने वाला पेपाइन एंजाइम, ऑक्सीटोसिन और प्रोस्टाग्लैंडीन का काम करता है|
  • इन दोनों के द्वारा हॉर्मोन का संकुचन और प्रसारण होता है जिसके कारण गर्भवती महिला को हेमरेजिक प्लेसेंटा की तकलीफ हो सकती है|
  • जिससे गर्भ गिरने की असंका बनी रहती है या फिर समय से पहले प्रसव दर्द होने लगता है।
  • इसके अलावा इसे खाने पर शिशु में असमानताएं होने लगती है या फिर बच्चा मरा हुआ पैदा होता है।

शिशु के लिए है नुकसानदायक

  • कई अध्ययन से यह ज्ञात हुआ है की शिशु को दूध पिलाने वाली महिला यदि पपीते का सेवन करती है|
  • तो उसमे उपस्थित एंजाइम से शिशु को कष्ट हो सकता है।

पपीता खाने से अन्य नुकसान

  • दस्त से ग्रसित होने पर पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जो लोग उन दवाइयों का सेवन कर रहे है जो रक्त को पतला करती है। उन्हें भी पपीते का उपयोग नहीं करना चाहिए।