Arjun Tree Benefits: दिल की बीमारियों में राहत के साथ कई अन्य लाभ भी देता है अर्जुन का पेड़

अर्जुन एक औषधीय पेड़ है जो भारत में आसानी से पाया जाता है। इसे घवल, ककुभ आदि नाओं से भी जाना जाता है और यह अक्सर नदी के किनारे पाया जाता है । इसे अंग्रेजी में टर्मिनलिया (Terminalia) से जाना जाता है। टर्मिनलिया एक सदाबहार पेड़ है जो 85 फीट की ऊंचाई तक बढ़ सकता है।

टर्मिनलिया अर्जुन टर्मिनलिया का सदस्य है जिसे आम तौर पर अर्जुन पेड़ या सिर्फ अर्जुन के रूप में जाना जाता है। टर्मिनलिस का उपयोग 7 वीं शताब्दी से पारंपरिक चिकित्सा की आयुर्वेद प्रणाली में किया गया है। इस पौधे के सभी हिस्सों का उपयोग आमतौर पर दूध काढ़ा के रूप में किया जाता है। आयुर्वेद में आम तौर पर रक्तस्राव और हृदय रोग के लिए टर्मिनलिस का उपयोग करते हैं।

यह एक पर्णपाती पेड़ जो पूरे भारत में मिलता है, अर्जुन में उपचार गुण होते हैं जो सीधे सीधे दिल सम्बंधित समस्याओं में लाभ पहुँचाते हैं। पेड़ के साथ साथ Arjun ki Chaal बहुत लाभदायक होती है। अर्जुन की छाल का उपयोग आयुर्वेदिक औषधि की रूप में किया जाता है। इसकी छाल में पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते है। यह छाल कई प्रकार के रोगों को ठीक करने में उपयोग होती है।

यह छाल बाहर से सफ़ेद और अंदर से हल्की लाल होती है साथ ही यह अंदर से चिकनी होती है। वसंत ऋतू के समय इसमें छोटे छोटे पीले रंग के फल उगते है। Arjun Plant की छाल के अलावा इसकी पत्तियां और फूलों के भी कई सारे फायदे है। आइये आज इस लेख में जानते है अर्जुन की छाल के क्या फायदे है और इसका उपयोग कैसे करें। आइये जाने Arjun Tree Benefits.

Arjun Tree Benefits: अर्जुन का पेड़ होता है गुणकारी, जाने इसके हेल्थ बेनिफिट्स

Arjun Tree Benefits

अर्जुन में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो टैपिंग के लायक हैं। यह दिल के लिए एक टॉनिक के रूप में काम करता है, एरोबिक सहनशक्ति में सुधार करता है, और कोलेस्ट्रॉल, रक्तचाप, और रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने में मदद करता है। यह घावों को तेजी से ठीक करने में मदद कर सकता है और फंगल संक्रमण तथा दस्त से निपट सकता है।

अर्जुन की छाल के कई सारे फायदे आइये जानते इनमे से कुछ-

दिल के स्वास्थ के लिए:

  • अर्जुन की छाल दिल से संबंधित रोगों को कम करती है। यही हमारे शरीर से LDL यानी गंदे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को शरीर में कम करती है और साथ साथ ही HDL यानी अच्छे से कोलेस्ट्रॉल को के स्तर को बढ़ती है।
  • अर्जुन का कोलेस्ट्रॉल, रक्त शर्करा, और रक्तचाप के स्तर जैसे कारकों पर लाभकारी प्रभाव पड़ता है जो आपके दिल के स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं।
  • यह दिल की धडकनों में बदलाव की प्रॉब्लम को भी दूर करता है और धडकनों को नार्मल करने में मदद करता है।
  • इसलिए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए एक चम्मच अर्जुन की छाल का पाउडर या चूर्ण को दूध में उबाल कर इसका नियमित सेवन करें।

हड्डियों के लिए

  • अर्जुन की छाल में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन करने से शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है।
  • इसका सेवन करने से हमारी हड्डियों को कैल्शियम मिलता है और यह मजबूत बनती है। इसकी वजह से यदि आपकी हड्डियों में फ्रैक्चर होती है तो वो जल्दी ठीक हो जायेगी।
  • इसके अलावा अर्जुन की छाल से दातुन करने से दांत मजबूत बनते है और दांतो का पीलापन दूर होता है।

फंगल संक्रमण से लड़ता है:

  • Arjuna Herb प्राचीन समय से ही औषधि से रूप में उपयोग होती आ रही है।
  • अर्जुन की छाल में आयुर्वेद में एक एंटीफंगल जड़ी बूटी के रूप में वर्णित है जो रिंगवार्म जैसे त्वचा संक्रमण का इलाज कर सकता है।
  • यही हमारी त्वचा को फंगल इन्फेक्शन और स्किन इन्फेक्शन से बचाता है। इसका उपयोग त्वचा से संबधित कील, मुहासे आदि में भी किया जाता है।

मोटापा दूर करने में

  • अर्जुन की छाल से बना काढ़ा पीने से आप मोटापे को कम कर सकते है।
  • रोज सुबह इस काढ़ा का सेवन करने से आप अनचाहे चर्बी से छुटकारा पा सकते है।

मुँह के छाले

  • मुँह में छाले हो जाने पर अर्जुन की छाल के चूर्ण को नारियल के तेल के साथ लगाने से आप छालों से तुरंत छुटकारा पा सकते है।
  • आप चाहे तो इसके चूर्ण से मंजन भी कर सकते है। इससे आपको जल्दी आराम मिलेगा।

यूरिन में रुकावट:

  • यदि आपके यूरिन में रुकावट है, तो अर्जुन की छाल का काढ़ा पीने से यह रुकावट दूर हो जाती है। यदि हम इसे दिन मे एक बार पीते है तो पेशाब में रुकवाट नहीं आती है और यह पेशाब में जलन को भी कम करता है।

त्वचा के लिए

  • अर्जुन त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है ये हमारी त्वचा को अंदर से साफ़ करता है और ये त्वचा पर होने वाले पिम्पल्स, रिंकल्स और त्वचा को चमकदार बनाता है।
  • इसका पेस्ट बनाने के लिए हमे अर्जुन की छाल का चूर्ण, हल्दी, चन्दन और बादाम को पीस कर दूध में मिला लेना चाहिए।
  • इस पेस्ट को अपने पूरे चेहरे पर लगाए। यदि त्वचा आग से जल गई है तो यह घावों को भी जल्दी ठीक करता है।

बालों के लिए

  • Arjun Tree की छाल बालों के लिए बहुत फ़ायदेमंद होती है।
  • यदि आपके बाल उम्र के पहले ही सफ़ेद हो रहे है तो अर्जुन की छाल के चूर्ण को मेहँदी में मिलाकर बालों पर लगाएं, इससे सफ़ेद बाल काले होने लगेंगे।

पेट संबंधी बीमारी

  • इसमें कई सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते है जो पेट में गैस, पेट दर्द, आदि को दूर करने में काफी मददगार होते हैं।
  • दस्त होने पर अर्जुन की छाल से बनी चाय पीने पर आराम मिलता है।

एनर्जी के लिए

  • जो लोग एक्सरसाइज करते है उन्हें Arjuna Tree की छाल का पाउडर लेना चाहिए। यह हमारी एनर्जी लेवल को बढ़ा देता है।
  • इससे एक्सरसाइज करते समय ऊर्जा मिलती है और थकान महसूस नहीं होती है। आप चाहे तो अश्वगंधा के साथ अर्जुन की छाल के चूर्ण को मिलाकर ले सकते है।

अर्जुन की छाल के नुकसान

  • गर्भावस्था के दौरान अर्जुन की छाल का उपयोग न करें।
  • ज्यादा मात्रा में लेना आपके लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • शुगर के मरीज भी अर्जुन वृक्ष की छाल का उपयोग सावधानी पूर्वक करें।

आज इस लेख में अपने जाना Arjun Tree in Hindi के क्या क्या फायदे है। इसके अलावा भी इसके कई सारे फायदे होते है।


You may also like...