Bhune Chane Ke Fayde: भुना चना स्वादिष्ट होने के साथ साथ होता है हेल्दी भी

हमारे देश में कई प्रकार का अनाज पाया जाता है। जैसे गेहू, चावल, दाल, मूंगफली, चना आदि। ये सभी पोषक तत्वों से भरे होते है। आपने हमारे पिछले लेख में मूंगफली के फायदे के बारे में पढ़ा। आज हम चना के बारे में पढ़ेंगे। चना भारतीय भोजन के प्रमुख अनाजों में से एक है। इसे शक्ति बढ़ाने वाला आनाज भी कहा जाता है। हमारे देश में चने का उपयोग सदियों से किया जा रहा है। आज के लेख में हम खासकर Bhuna Chana से जुड़े तथ्यों के बारे में बात करेंगे की यह किस तरह से हमारे लिए फ़ायदेमंद है, चने में कौन कौन से पोषक तत्व होते है, चना हमारे लिए किस तरह से फ़ायदेमंद है आदि।

चने का हम कई तरह से सेवन करते है, जैसे चने को भिगोकर खाते है, इसे अंकुरित करके उपयोग में लाते है। इस हम भून कर भी खाते है। भुने चने में कई तरह के पोषक तत्व है जैसे प्रोटीन, मॅग्नीज़, आयरन, फाइबर, फास्फोरस, पोटेशियम और मेग्नेशियम, फीटो नुट्रिएंट्स आदि बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते है इसलिए Roasted Gram Benefits बहुत ज्यादा होते हैं।

चने को किसी भी रूप में उपयोग करो, Roasted Chana हो या अंकुरित किया हुआ चना दोनों ही अत्यंत पौष्टिक और स्वादिष्ट होते है। चना कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नमी, चिकनाई, रेशे, कैल्शियम, आयरन और विटामिन से भरपूर भरा हुआ होता है । चना हमारे शरीर में प्रोटीन की पूर्ति करता है। इसलिए इसे प्रोटीन का राजा भी कहते है क्योंकि इसमें उच्च प्रोटीन होता है। चने में हमारी प्रकृति ने सभी पोषक तत्व देकर हमे एक वरदान के रूप में दिया है।

चने में लगभग 15 से 18 ग्राम प्रोटीन होता है। यह अन्य अनाजों के मुकाबले कई गुना अधिक होता है। इससे शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। खून में कॉपर और मैगनीज जैसे माइक्रोन्‍यूट्रियंट्स का होना अतिआवश्यक होता है। चना मैगनीज का बहुत अच्‍छा साधन है। इसे खाने से रक्तचाप नियंत्रित रहता है। चना रक्त वाहिका को सामान्य करता है। इससे हाइपर्टेंशन होने की सम्भावना कम हो जाती है। चना आयरन का भी एक बहुत अच्‍छा साधन है। इसके नियमित सेवन करने से अनीमिया की परेशानी होने की सम्भावना कम हो जाती है । इसलिए एनीमिया जैसे उच्च जोखिम के दौरान महिलाओं (गर्भवती, स्तनपान कराने वाली और मासिक धर्म), बच्चों एवं अन्य लोगों को चना एक दैनिक अनाज के रूप में इसे सेवन करना चाहिए। चना फाइबर युक्त होने के कारण वजन घटाने का एक प्रभावशाली प्राकृतिक उपाय है। चना ना सिर्फ भूख को नियंत्रित करता है बल्कि लंबे समय तक आपके शरीर में कार्य करने की शक्ति को भी बढ़ाता है। यह शाकाहारियों के लिए प्रोटीन का सबसे बड़ा स्रोत है। चने में लगभग 28 से 30 प्रतिशत फॉस्‍फोरस और आयरन होता है। यह रक्त कोशिकाओं का निर्माण करते हैं, और हीमोग्‍लोबीन को बढा कर किडनी में नमक की अधिकता को भी दूर करता हैं। चना फीटो-नुट्रिएंट्स, उच्‍च प्रोटीन और विटामिन से भरा होता है। जो कब्‍ज, एसिडिटी, अपच जैसी पेट सम्बन्धी समस्याओ के खतरे को कम करने में मदद करता है। आइये अब जानते हैं Bhune Chane Ke Fayde के बारे में विस्तार से।

Bhune Chane Ke Fayde: जाने भुने चने के नियमित सेवन से होने वाले गुणकारी फायदे

Bhune Chane Ke Fayde

वजन घटाने में

  • चना एक ऐसा अनाज है जो प्राकृतिक रूप से वजन घटाने में लाभकारी माना जाता है।
  • Roasted Gram में फाइबर कंटेंट अधिक मात्रा में होने के कारण यह वजन घटाने में लाभकारी होता है।
  • चना ना सिर्फ आपकी भूख को कंट्रोल करता हैं बल्कि लंबे समय तक आपके पेट को भरा भी रखता हैं, जिससे आपको भूख का अहसास नहीं होता है।
  • जो लोग मांसाहार का सेवन नहीं करते है उनके लिए यह प्रोटीन का एक बेहतर स्रोत है।
  • इससे आपके वजन को नियंत्रित करने में बहुत मदद मिलती है।

शरीर में शक्ति और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में

  • चना में खनिज के रूप में मैगनिज अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा चने में जरूरी पोषक तत्व जैसे थायमीन, मैंगीशियम और फॉस्फोरस भी पाया जाता है।
  • मैंगीशियम हमारे शरीर में ऊर्जा के उत्पादन में बहुत ही आवश्यक भूमिका निभाता है।

ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखता है

  • चने का ग्लाइसेमिक इंडेक्स लो होता है। इसलिए यह डायबिटीज के रोगियों के लिए भी बहुत लाभदायक होता है।
  • चना हमारे शरीर में ब्लड ग्लूकोज को बहुत धीमे-धीमे बढ़ाता है।
  • चने में सोंल्यूबल फाइबर, उच्च प्रोटीन और आयरन होता है, जो कि हमारे शरीर का ब्लड शूगर स्तर को नियंत्रित रखने में मददगार होते हैं।

एनिमिया के खतरे को दूर करता है

  • भुने चने में आयरन इतनी अधिक मात्रा में उपस्थित होता है जो हमारे शरीर के लिए ज़रुरी आयरन कि जरूरत को बहुत ही आसानी से पूरा करता है और एनिमिया होने से बचाता है।
  • बच्चे और महिलाओं में एनिमिया होने का खतरा ज्यादा होता है। इसलिए उन्हें नियमित भुने चने का सेवन करना चाहिए।
  • साथ ही महिलाओं में होंर्मोंन का स्तर नियंत्रित रखता है और महिलाओ में होने वाले ब्रेस्ट कैंसर और ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को भी कम करता है।

रक्तचाप को नियंत्रित करने में

  • चना रक्त वाहिकाओं को संतुलित करता है, जिससे हाइपरटेंशन की समस्या होने का खतरा कम हो जाता है।
  • चने में पोटैशियम और मैग्नीशियम भी होता है, जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स को भी संतुलित करता है।

पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करता है

  • चने में फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण यह हमारे पाचन तंत्र और आंत को भी बेहतर बनाये रखने में मदद करता है।
  • इससे सभी प्रकार की पाचन संबंधी समस्याएं होने की संभावनाएं कम होती हैं।
  • चने के पोषक तत्व कब्ज की समस्या को भी दूर करने में मदद करते हैं।

हृदय संबंधी रोगों से बचाता है

  • नियमित रूप से काला चना खाने से यह कई प्रकार के हृदय संबंधी समस्याओं को कम करने में सहायक होता है।
  • चने में मैग्नीशियम और फोंलेट भी अधिक मात्रा में होता हैं जो हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल को कम करने का कार्य करते हैं।

आज हमने उपरोक्त लेख में Bhuna Chana ke Fayde के बारे में पढ़ा कि चने में कौन कौन से पोषक तत्व मौजूद होते है, वह किस तरह से हमारे शरीर के उपयोगी है इत्यादि। चने का सेवन हम किसी भी रूप में करे चाहे वो भीगा हुआ हो, अंकुरित हो या फिर भुना हुआ हो चना सभी तरह से हमारे किये उपयोगी है। ये हमारे शरीर की सारी समस्याओं को दूर करने में बहुत लाभदायक है। हमें व्यर्थ के प्रोटीन स्रोतों को छोड़कर हमारे देश में पाए जाने वाले प्राकृतिक प्रोटीन के स्रोतों का उपयोग करना चाहिए।


You may also like...