हमारे शरीर में खून का थक्का बनने और उसके घुलने की प्रक्रिया सहज रूप में चलती रहती है। खून के थक्के को ब्लड क्लॉटिंग कहा जाता है| आपको बता दे की जब हमें चोट लग जाती है तो खून के बहाव को रोकने के लिए हमारा शरीर खून के थक्के बनाने लगता है|

हमारे प्लाज्मा में मौजूद प्लेटलेट्स और प्रोटीन, चोट की जगह पर रक्त के थक्के का निर्माण करता है| और यह बहुत ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया है यदि ऐसा ना हो तो शरीर में खून का बहाव रोकना कठिन हो जाए।

जिस तरह ब्लड क्लॉट बनने की प्रक्रिया शुरू होती है तो आमतौर पर चोट के ठीक होते ही रक्त का थक्का अपने आप घुल जाता है। किन्तु जब यह प्रक्रिया नहीं हो पाती है तो खून का थक्का बना ही रह जाता है।

जब लोग लंबे समय तक इसका उपचार नहीं करते है तो रक्त के यह थक्के धमनियों में चले जाते हैं और शरीर के किसी भी हिस्से में पहुंच कर वहां के काम को बाधित कर देते है| यदि दिमाग में खून का थक्का पहुंच जाये तो भारी नुकसान पहुंचाता है। तो चलिए आज Blood Clotting के बारे में विस्तार से जानते है|

Blood Clotting: उसके लक्षण तथा जोखिमों को समझे

Blood Clotting

यदि खून का थक्का बना रहे तो यह लक्षण दिखने लगते है:-

शरीर में खून का थक्का जमने के अन्य कारण

  • यदि आप मोटापे के शिकार है|
  • अगर आप गर्भ निरोधक गोली का सेवन करते है|
  • अगर आपको मेनोपोज हो चुका है।

जो लोग लगातार 10 घंटे बिना ब्रेक लिए काम करते हैं और कोई विराम नहीं लेते तो उनमें खून का थक्का जमने का खतरा दोगुना हो जाता है। इसलिए खून का थक्का बनने पर तुरंत चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए| नहीं तो एक छोटी सी चीज़ आपको बहुत भारी पड़ सकती है|

खून के थक्के से बचने के उपचार

एक बार खून का थक्का जम जाये तो इसके लिए सर्जरी के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है| लेकिन जिन लोगो को इसके होने की संभावना रहती है वो यह घरेलू उपचार को अपना सकते है|

हाइड्रोथेरेपी

  • यदि आपको छोटा मोटा ब्लड क्लॉट है तो उस स्थान पर गर्म औऱ ठंडे पानी का पैक लगातार लगाना चाहिए|
  • इस्सर वहां रक्त का संचरण होता है तो हो सकता है की क्लॉट हट जाये|

तेल की मालिश

  • यदि आप नियमित तौर शरीर की मालिश करवाते रहते हैं तो इससे आपके शरीर में रक्त का प्रवाह सुचारु होता है|
  • ऐसा करने पर खून का थक्का जमने का खतरा कम रहता है और रक्त की नलिकाएं भी ब्लॉक नहीं होती है|
  • आप मालिश के और भी फायदे यहाँ जान सकते है|

व्यायाम

  • रोज कुछ समय एक्सरसाइज करने से शरीर में फैली सभी रक्त नलिकाओं में रक्त का संचरण सही से होता है और खून का थक्का जमने की संभावना नहीं रहती|
  • व्यायाम करने से मोटापा भी कम होता है| क्योंकि मोटे लोगो में इसकी संभावना ज्यादा होती है|
  • और आपको बता दे की बल्ड क्लॉट होने से दिल का दौरा पड़ सकता है और ब्रेन हैमरेज का खतरा बढ़ जाता है|
  • इसलिए मोटापे को नहीं बढ़ने देना चाहिए|