जिगर, हमारे शरीर के महत्‍वपूर्ण अंगों में से एक है। अंग्रेजी में इसे लिवर कहा जाता है| यह शरीर का सबसे बड़ा दूसरा अंग होता है। यदि आप स्‍वस्‍थ जीवन चाहते है तो आपके लिवर का सही तरीके से कार्य करना बेहद जरूरी होता sहै।

आपको जानकारी दे की इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अनुसार वसायुक्त लीवर से पीड़ित लोगों की संख्या में बहुत तेजी से वृद्धि हो रही है|

यदि इसका सही से इलाज ना किया गया हो तो वसायुक्त लीवर के कारण लीवर कैंसर भी हो सकता है| और आकड़ो की माने तो भारत में हर पांच में से एक व्यक्ति के लीवर में अधिक वसा मौजूद होता है|

वही हर 10 व्यक्ति में से एक व्यक्ति फैटी लीवर रोग का शिकार होता है जो की बेहद चिंताजनक है| इस रोग के होने पर ठीक से जाँच प्रक्रिया तथा इलाज करवाया जाना आवयशक है| तो आइये जानते है Can a Fatty Liver Turn into Cancer?

Can a Fatty Liver Turn into Cancer: यहां जानिए इसकी समस्त जानकारी

Can a Fatty Liver Turn into Cancer

सिरोसिस के चलते होता है लीवर कैंसर

गैर-एल्कोहल फैटी लीवर रोग (एनएएफएलडी) वाले 20 प्रतिशत लोगों में 20 वर्षो के अंदर लीवर सिरोसिस होने का खतरा रहता है| आईएमए के मुताबित यह आंकड़ा शराबियों के समान है|

आईएमए के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल का कहना है की, “एनएएफएलडी सिरोसिस और कभी-कभी तो क्रिप्टोजेनिक सिरोसिस की भी वजह बन सकता है. अधिक वजन वाले लोगों में प्रतिदिन दो ड्रिंक और मोटे लोगों में प्रतिदिन एक ड्रिंक लेने से हिपेटिक इंजरी हो सकती है. एनएफएलडी के चलते सिरोसिस के कारण लीवर कैंसर हो जाता है और ऐसी कंडीशन में अक्सर हृदय रोग से मौत हो जाती है.”

अल्कोहल की अधिकता से होती है स्तिथि ख़राब

  • एनएफएफडीएल, अल्कोहल लेने से नहीं होता है, किन्तु इसे अधिक मात्रा में लेने से स्थिति ख़राब होने की सम्भावना बढ़ जाती है|
  • इस रोग के शुरुवाती अवस्था में यह खत्म हो सकता है या फिर वापस भी लौट सकता है|
  • एक बार सिरोसिस के बढ़ने पर लीवर ठीक से कार्य नहीं कर पाता है|
  • ऐसी स्तिथि में फ्लुइड रिटेंशन, मांसपेशियों को नुकसान पहुंचना, आंतरिक रक्तस्राव, पीलिया तथा लीवर का फ़ैल होना जैसे लक्षण सामने आ सकते है|

क्या है एनएएफएलडी के लक्षण

  • थकान लगना
  • वजन का कम होना
  • भूख ना लगना
  • कमजोरी आना
  • मितली जैसे होना
  • सोचने में परेशानी
  • लीवर का बढ़ जाना
  • गले या बगल में काले रंग के धब्बे आदि

कैसे चलता है एनएएफएलडी का पता?

  • जब लीवर की कार्य प्रणाली ठीक से नहीं होती है
  • हेपेटाइटिस न होने की पुष्टि हो जाए
  • लीवर ब्लड टैस्ट सामान्य होने पर भी एनएएफएलडी हो सकता है

कैसे करे इससे बचाव

  1. अपने वजन को नियंत्रित रखे
  2. ज्यादा से ज्यादा फलों व सब्जियों का सेवन करे
  3. नियमित आधा घंटा शारीरिक व्यायाम करें
  4. शराब का सेवन ना करे, या सिमित मात्रा में ले
  5. चिकित्सक द्वारा दी गयी आवश्यक दवाएं ले
  6. परहेज पर ध्यान दें

फैटी लिवर या अन्य किसी भी बीमारी को बढ़ने से रोकने के लिए आपको अपनी जीवनशैली में परिवर्तन लाने की जरुरत होती है|