Causes of Weight Gain: जानिए वजन बढ़ने के क्या कारण होते है?

बढ़ा हुआ वजन आपके लुक्स तो ख़राब करता ही है, साथ ही इससे आपको कई तरह की बीमारिया भी होती है| वजन बढ़ने से मधुमेह, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियां आपको घेर लेती है|

वजन बढ़ने से आपके शरीर पर बहुत सारे दुष्प्रभाव होते है| वजन का बढ़ना केवल एक समस्या नहीं है बल्कि यह कई समस्याओ की शुरुवात है| इसलिए वजन पर नियंत्रण रखना जरुरी है|

हमारा वजन कई कारणों से बढ़ता है जैसे फ़ास्ट फ़ूड आदि के सेवन से, किसी तरह की बीमारी से, व्यायाम ना करने से, कुछ दवाओं के कारण आदि| यदि किसी दवाओं के साइड इफेक्ट्स के चलते आपका वजन बढ़ रहा है और आप फ़ास्ट फ़ूड खाना छोड़ कर संतुलित आहार लेने लग जायेंगे|

तब भी आपके वजन बढ़ने की प्रक्रिया चालू ही रहेगी| आपको अपने वजन को कम करने के लिए उसके पीछे का सही कारण पता होना चाहिए, ताकि आप उसपे लगाम कसकर अपने वजन को काबू में कर सके| तो आइये जानते है Causes of Weight Gain क्या क्या होते है?

Causes of Weight Gain: जानिए आखिर क्यों बढ़ता है आपका वजन

Causes of Weight Gain

पूरी नींद ना लेना

  • एक सेहतमंद शरीर के लिए ठीक से नींद लेना भी आवश्यक है| क्योंकि नींद की कमी का असर सीधे आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ता है|
  • जब आप रात में ठीक से नींद नहीं लेते है तो इससे अगले दिन आप थका हुआ महसूस करते है|
  • थकावट से तनाव होने लगता है, आप कुछ कार्य नहीं करते और ज्यादा भोजन करने लगते है|
  • इससे आपके शरीर में कैलोरी की मात्रा अधिक हो जाती है और वज़न बढ़ने लगता है।

तनाव

  • तनाव तो कई रोगो को जन्म देता है| अधिकतर बीमारियों का कारण तनाव ही होता है|
  • आज के टाइम में पैसा कामना जरुरी है, जिससे तनाव होता है और हमारे ऊपर नकारात्मक प्रभाव पढता है|
  • जो लोग बहुत ज्‍यादा तनाव में रहते हैं, उन्‍हें पाचन संबंधी समस्या अधिक रहती हैं, क्योंकि उनका दिमाग उनके शरीर के लिए कार्य कर ही नहीं पाटा है|
  • जब शरीर का मेटाबॉलिज्‍म सही से कार्य नहीं करता है तो शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन बढ़ जाते हैं जो मोटापे का कारण बनते हैं।

अनुवांशिक कारण

  • अनुवांशिक कारणों से भी आपका वजन बढ़ सकता है| यदि पेरेंट्स में से एक का वजन भी ज्यादा है तो संतान का वज़न भी ज्यादा होने की सम्भावना होती है|
  • ऐसे केसेस में वजन को नियंत्रण रखने के लिए खुद पर बहुत कार्य करना होता है|

खान पान में बदलाव

  • जैसे ही आप अपने खान पान में बदलाव लाते है तो बॉडी में इसका इफ़ेक्ट काफी जल्दी दिखता है।
  • आपको अपने खाने में एक संतुलित डाइट को फॉलो करना चाहिए
  • क्योंकि जब भी डाइट में किसी भी तरह का बदलाव आता है तो सबसे पहले तले हुए खाने का सेवन करने में आता है इसके बाद कोल्ड्रिंक और जंक फ़ूड आदि का सेवन करते है।
  • ऐसा खाना जिसमें कैलोरीज की मात्रा ज्यादा होती है उसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • क्योंकि इन फ़ूड से पाए जाने वाली कैलोरीज को कम करने के लिए एक्स्ट्रा एक्सरसाइज करनी पड़ती है।
  • साइकोलॉजिकली भी जब कोई व्यक्ति डिप्रेशन में होता है या फिर इमोशनल होता है तो वो ज्यादा खाना शुरू कर देता है। जिससे वजन बढ़ जाता है।

दिन भर इनएक्टिव रहना

  • अगर आपका काम ऐसा है जिसमे आपको दिन भर बैठे रहना रहता है तो आपकी बॉडी दिनभर इनएक्टिव रहती है।
  • इसके लिए आपको अपनी डेली की लाइफ में कुछ फिजिकल एक्टिविटी को जोड़ना चाहिए।
  • अगर आप चाहे तो अपने डेली रूटीन में आधे घंटे के लिए किसी गेम जैसे क्रिकेट, फुटबॉल आदि को शामिल करना चाहिए।
  • इसके अलावा आप ट्रेडमिल और साइकिलिंग का भी सहारा ले सकते है।  

उम्र का तकाज़ा

  • बढ़ती उम्र के साथ वेट बढ़ना एक स्वभाविक प्रोसेस होती है।
  • बॉडी में उम्र के साथ फैट इसलिए बढ़ता है क्योंकि उम्र के साथ मांसपेशियां धीरे धीरे फैट में कन्वर्ट होने लगती है।
  • इस फैट के कारण हाइपरटेंशन और डायबिटीज होने का खतरा है।
  • इसी के साथ मेटाबोलिज्म भी कम होने लगता है जिससे वजन बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।

जेंडर भी एक वजह

  • अगर आप स्त्री है तो आपका वेट बढ़ने के चांसेज़ ज्यादा होते है।
  • क्योंकि पुरुषों के मुकाबले स्त्री ज्यादा स्ट्रेंथ वाला काम नहीं कर पाती है।
  • एक नार्मल स्त्री में 25% तक फैट होता है और पुरुषों में सिर्फ 15% तक फैट पाया जाता है।

ओवर ईटिंग करना

  • हम जो भी खाना खाते है उसकी क्वालिटी और उसकी क्वांटिटी दोनों का असर हमारे शरीर पर पड़ता है।
  • इसलिए जरुरी है कि आपको एक सीमित मात्रा में ही खाना खाना चाहिए और इसी के साथ आपके खाने की क्वालिटी भी अच्छी होनी चाहिए वरना यह शरीर पर बुरा प्रभाव डालती है।
  • आपको खाने की क्वांटिटी और क्वालिटी दोनों में तालमेल मिलाकर खाना खाना चाहिए, वरना यह वजन बढ़ाने का कारण बन सकता है।

डाइटिंग करना

  • कई लोग ये सोचते है कि डाइटिंग करने से Weight Loss आसानी से हो जाता है।
  • लेकिन ऐसा नहीं है बल्कि वजन कम होने की जगह शरीर में कमजोरी आ जाती है।
  • जिस वजह से आपके शरीर को सही मात्रा में ऊर्जा नहीं मिल पाती है।
  • जिस कारण आप अन्य कई प्रकार की बीमारियों से भी घिर सकते है।
  • उसके बाद कई लोगों में यह देखा गया है कि वे ओवर ईटिंग करने लग जाते है तो वजन कम होने की जगह बढ़ जाता है।  

अन्य कारण

  1. व्यायाम ना करने से हमारे द्वारा लिया गया आहार ऊर्जा में परिवर्तित होने के बजाय फैट के रूप में परिवर्तित होने लगता है जिससे वजन बढ़ता है|
  2. कुछ दवाओं के सेवन जैसे माइग्रेन की दवाये, गर्भनिरोधक दवाये इनसे भी मोटापा बढ़ने लगता है|
  3. कुशिंग सिंड्रोम नाम की बीमारी में शरीर पोषक तत्वों को ठीक से इस्तेमाल नहीं कर पाता जिससे कमर और चेहरे की चर्बी बढ़ती है|

यहाँ हमने आपको बताया कि वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते है। अगर आप भी अपना वजन कम करना चाहते है तो आपको वजन कम करने साथ साथ इस बात पर भी फोकस करना चाहिए की आपका वजन क्यों बढ़ रहा है।


You may also like...