Chemotherapy And Hair Loss: नई दवा पर शोध, कीमोथेरेपी के बाद भी नहीं झड़ेंगे बाल

आप सब जानते होंगे की कैंसर एक बेहद ही गंभीर बीमारी है। हर साल इस बीमारी की वजह से सैकड़ो लोगों की जान चली जाती है। कुछ दशक पहले तक तो स्थिति बहुत ज्यादा ख़राब थी और तब इस बीमारी का किसी प्रकार का कोई इलाज नहीं था। हालांकि अब कैंसर का भी इलाज होने लगा है पर यह इलाज बेहद खर्चीला और पूरी जिंदगी करवाते रहना पड़ता है।

आजकल कैंसर से बचाव के लिए कई प्रकार के उपचार विधि इस्तेमाल किये जाते हैं और इन्हीं उपचार विधियों में से एक है कीमोथेरेपी। कैंसर के रोगियों को उपचार के लिए कीमोथेरेपी दी जाती है। कीमो एक प्रकार की टॉक्सिक प्रॉसेस होती है इसलिए इसे देने के बाद मरीज के शरीर के सारे बाल झड़ जाते है। ना सिर्फ बाल बल्कि इसकी वजह से मरीज के शरीर में कई और समस्याएं भी होते हैं जैसे वज़न का बहुत ज्यादा घट जाना आदि।

बहरहाल इस कीमो थेरपी की प्रक्रिया से गुजरने के बाद मरीज के सिर के बाल, आईब्रो और हाथ-पैरों आदि के सारे बाल झड़ जाते है। इस वजह से इस थेरेपी से गुजरने के बाद आपका पूरा लुक बदल जाता है। लेकिन अब कैंसर की समस्या से पीड़ित मरीज को इसको लेकर ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है क्योंकि अब इस प्रक्रिया से झड़ने के बाद एक दवा के प्रभाव से बाल जल्द ही वापिस भी आ जाते है।

यदि आपको कीमोथेरपी के बारे में जानकारी नहीं है तो आप यहाँ जान ले। कीमोथेरेपी दवाइयों की मदद से किया जाने वाला कैंसर का उपचार है। कीमो के इलाज में कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए नसों द्वारा दवा दी जाती है, जिसके की दवाइयां सीधे नसों में चली जाती हैं। कैंसर रोगियों में अधिकतर हर मामले में कीमोथेरेपी कराने के बाद बाल झड़ने और वजन कम होने की समस्‍या देखने को मिलती है।लेकिन अब कैंसर के मरीजों को यह दोनों समस्याओ का सामना नहीं करना होगा। आज के लेख में जानते हैं इसी विषय के बारे में विस्तार से। पढ़ें Chemotherapy And Hair Loss.

Chemotherapy And Hair Loss: वैज्ञानिक डॉ आरपी सिंह ने जगाई कैंसर के मरीजों में उम्मीद

Chemotherapy Will Not Cause Hair Loss or Lose Weight

कीमोथेरेपी द्वारा कैंसर का इलाज करने पर शरीर के स्‍वस्‍थ और सक्रिय कोशिकाओं पर काफी बुरा असर पड़ता है जिससे वे मरने लगती हैं इसलिए मरीजों का वजन घटने लगता है। साथ ही इस थेरेपी के दौरान मरीज़ को काफी दर्द भी होता है। वैसे इस बारे में कई विशेषज्ञ कहते हैं की इस थेरेपी की वजह से ऐसा कुछ नहीं होता बल्कि इस थेरेपी के दौरान दिए जाने वाले हाई पावर की दवाओं के सेवन की वजह से मरीज के शरीर में विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती है। परन्तु अब इन समस्याओं के भी दूर होने का समय हो गया है क्योंकि इस बाबत हुए एक नए शोध के मुताब़िक अब यह कहा जा रहा है की ये समस्या अब आपको परेशान नहीं करेगी।

Chemotherapy Will Not Cause Hair Loss Or Lose Weight

  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के एक वैज्ञानिक ने इस मामले को लेकर एक दावा किया है जिसमे कीमोथेरेपी को लेकर अब जो परेशानियां होती थी उसमे राहत मिल जाएगा।
  • उनका कहना है की उनके द्वारा तैयार की गई विशेष दवा से कैंसर रोगियों के बाल नहीं झड़ेंगे और ना ही वजन कम होने की परेशानी होगी।
  • एक प्रतिष्ठित अखबार में यह खबर प्रकाशित हुई है जिसमे वैज्ञानिक डॉक्टर आरपी सिंह ने कैंसर के इलाज के दौरान होने वाला जानलेवा दर्द को दूर करने की दवा खोज कर मरीजों में बड़ी आस जगाई है।
  • आपको बता दें की यह दवा कुछ पौधों की मदद से तैयार की गई है जो की रेडियो थेरेपी व कीमो थेरेपी की प्रक्रिया से होने वाले दुष्प्रभावों का खत्म करने में मददगार होती है।
  • इसलिए इसके द्वारा इलाज करने पर कैंसर के मरीजों में होने वाली खून की कमी, बालों के झड़ने और वजन के घटने जैसी समस्याओं को दूर की जा सकेंगी।

सिमित दायरे में इंसानों पर हुआ इस दवा का परीक्षण

  • इस विषय पर शोध कर रहे वैज्ञानिक डॉक्टर आरपी सिंह के मुताबिक पहले चूहे के ऊपर और फिर एक सीमित दायरे में कुछ इंसानों के ऊपर भी इस दवा का परीक्षण किया गया है।
  • इन दोनों पर ही किया गया यह परिक्षण काफी हद तक सफल रहा है।
  • अभी एम्स सहित दिल्ली के और भी कई बड़े हॉस्पिटल्स में इस दवा के परीक्षण को लेकर तैयारी की जा रही है।
  • यदि इन जगहों पर भी परीक्षणों का परिणाम सफल हो जाता है तो बाद में यह दवा जल्द ही बाजार में भी आम लोगों के लिए उपलब्ध हो सकेगी।
  • इस दवा के बाजार में आ जाने के बाद यह शोध चिकित्सा क्षेत्र में भारत की तरफ से की गई बड़ी कामयाबी में से एक कहलाई जाएगी।

पौधो से दवा बनाई गयी

  • कैंसर के उपचार के लिए किये जाने वाले कीमोथेरपी के लिए इस्तेमाल की जाने वाली यह दवा मल्कि थील्‍स व आरटी चोक नाम के पौधों में पाए जाने वाले सेलिबीनिन नाम के यौगिक से तैयार की गई है।
  • यह पौधों की मदद से बनाई गई दवा है इसलिए इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता है और यह कीमोथेरेपी के दौरान होने वाले दुष्प्रभावों से भी आपको बचा कर रखता है जिससे आपके बाल नहीं झड़ते और वज़न भी ज्यादा नहीं कम होता है।

नहीं होगा अन्य नुकसान

  • डॉक्‍टर आरपी सिंह का कहना है की कीमो के दौरान सेलिबीनिन के प्रयोग से केवल कैंसर की कोशिकाएं ही मरती हैं, किंतु अन्य किसी तरह का नुकसान नहीं होता है।

अब अगर आपको या आपके किसी जान पहचान वाले को कैंसर की बीमारी हो गई है और इसके उपचार हेतु आप कीमोथेरेपी करवाने की सोच रहे हैं पर डर रहे हैं की इसकी वजह से आपको Chemotherapy Hair Loss और दूसरी परेशानियां होंगी तो अब आपको इससे डरने की कोई जरुरत नहीं है। जल्द ही यह दवा और अच्छे से परीक्षणों पर खरा उतर कर आपके लिए अवेलेबल होगा और आप इसकी मदद से अपनी समस्या का हल पा सकेंगे।

आज के लेख में आपने पढ़ा उस करामाती दवा के बारे में जो कैंसर के इलाज के दौरान होने वाले कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों से आपका बचाव करेगा। इस पर हो रहे शोध की सफलता मरीजों की उम्मीदों को बढ़ा रहे हैं और वे जल्द ही इस दवा से अपना इलाज करवा सकेंगे।


You may also like...