पिछले लेख में हमने आपको बताया था की फेफड़े हमारे शरीर के लिए कितने महत्वपूर्ण है और इनका स्वस्थ रहना कितना जरुरी है| आज के लेख में आपको इसे स्वस्थ रखने के लिए Exercise for Lungs बता रहे है|

आपको मालुम हो की शरीर की कोशिकाओं को कार्य करने और विकसित होने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है। हमारा शरीर सांस के द्वारा हवा अंदर लेता है और फिर हमारे फेफड़े हवा से ऑक्सीजन लेकर रक्त में उसे मिला देते हैं।

इसलिए फेफड़ों का सही तरह से कार्य करना हमारे पूरे शरीर के स्वास्थ्य के लिये जरुरी है| यदि आपके शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिलती है, तो कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं|

व्यायाम की मदद से फेफड़ो को मजबूत बनाया जा सकता है, ताकि यह जिंदगी भर सही से कार्य करे| इससे श्वसन तंत्र और हृदय से संबंधित समस्याओ की संभावना बहुत कम हो जाती है|

Exercise for Lungs: व्यायाम से बढ़ाये फेफड़ों की क्षमता

Exercise for Lungs

रोज खुलकर हसे

  • अब जब आपने आपके स्वास्थ्य का ख्याल रखने का सोच ही लिया है तो क्यों ना आपको पहले कुछ आसान व्यायाम बताये जाए|
  • अपने पेट की मांसपेशियों और फेफड़ों की क्षमता बढ़ाने के लिए रोज खुलकर हसना शुरू करदे|
  • इससे आपके फेफड़े साफ़ होते है| साथ ही यह तनाव को दूर कर आपकी सेहत को भी सुधारता है|

ताड़ासन करे

  • योग तो कई तरह से हमारे शरीर को फायदा पहुंचाता है| फेफड़ो को मजबूत करने के लिए भी यह फायदेमंद है|
  • ताड़ासन को करने से हाथो में खिचाव आता है और इस दौरान आप सांसो पर भी फोकस करते है| इसलिए यह योग फेफड़ो के लिए फायदेमंद है|
  • इस आसन को करने से फेफड़े तो मजबूत होंगे ही साथ ही पीठ और कंधो के दर्द से भी निजात मिलेगी|

ब्रीदिंग एक्सरसाइज

  • फेफड़ों को मजबूत बनाये रखने के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज सबसे ज्यादा जरुरी और लाभकारी होती है|
  • सांस से सम्बंधित व्यायाम आपके फेफड़ो को पूरी तरह से ऑक्सीजन लेने में मदद करते है|
  • ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से आपका हृदय स्वास्थ्य भी ठीक रहता है।

सीटी बजाये

  • आपमें से किन किन को सीटी बजाते आता है?
  • आपके बड़े भले ही इसे बुरी आदत बोलकर सीटी बजाने को लेकर डांटते होंगे|
  • लेकिन सीटी बजाना फेफड़ों के लिए एक बेहतरीन एक्सरसाइज होती है।
  • इसलिए जब आपके आसपास कोई ना हो आप अकेले में तो इसे बजा ही सकते है|

कुंभक या श्वास रोकना

  • जब भी आप सांस लेते हैं तो उसमें सांस रोकने की प्रक्रिया नहीं होती।
  • श्वास लें और फिर जितनी देर संभव हो उसे रोककर रखे|
  • जब आप श्वास रोकना सिख जाते है तो रक्त में ऑक्सीजन समाहित करने की क्षमता बढ जाती है|