जब पेट की मांसपेशियाँ कमजोर हो जाती है तो आँत बाहर की और निकलने लगती है। आंतो के बाहर निकलने की अवस्था को हर्निया कहा जाता है।

आँत का एक हिस्सा बाहर की उतर जाता है जिसके चलते पेट की त्वचा के नीचे एक असामान्य उभार आ जाता है, जो ठीक नाभि के नीचे होता है।

हर्निया एक बहुत ही पीड़ादायक स्थिति है। यदि यह बहुत बढ़ जाए तो इसे केवल सर्जरी द्वारा ठीक किया जा सकता है। लेकिन यदि शुरुवात में ही आप इसके लक्षणों का पता करलें, तो इसे घरेलू उपचारो द्वारा भी ठीक किया जा सकता है।

इसकी समस्या की बात करे तो लंबे समय से खांसते रहने या लगातार भारी सामान उठाने से भी पेट की मसल्‍स कमजोर हो जाती है जिससे हर्निया की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा इसके अन्य कारण भी है। आइये जानते है Home Remedies for Hernia.

Home Remedies for Hernia – हर्निया से ग्रस्त मरीजों के लिए नुस्खे

Home Remedies for Hernia

एनाल्जेसिक गुणों से भरपूर मुलेठी

  • कफ और खांसी में तो मुलैठी एक प्रभावी दवा की तरह कार्य करती है। उसी तरह हर्निया के इलाज में भी यह बेहद ही कारगर है।
  • हर्निया आपकी पेट की परत और अणुओं को नुकसान पहुँचाता है किन्तु मुलेठी की जड़ शरीर के इन हिस्सों का उपचार करती है।
  • खास तौर पर जब पेट में हर्निया निकलने के बाद रेखाएं पड़ जाती है तब इस उपचार को जरूर अपनाना चाहिए।
  • मुलैठी में एनाल्‍जेसिक गुण मौजूद होते है जो दर्द और सूजन को दूर करते है।

इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर कैमोमाइल चाय

  • कैमोमाइल चाय एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है। इसलिए हर्निया के लिए भी यह अच्छा उपाय है।
  • दरहसल हर्निया की समस्‍या में एसिडिटी और गैस बनने लगती है और कैमोमाइल चाय एसिड बनने की प्रक्रिया को कम करता है।
  • प्रयोग के लिए एक कप गर्म पानी में सूखे कैमोमाइल को डालकर 5 मिनट के लिए ढककर रख दें।
  • फिर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2 से 3 बार इसका सेवन करे।

अन्य घरेलू उपचार

  • एक कप दूध में अरंडी का तेल डालकर पीने से हर्निया ठीक हो जाता है। इस प्रयोग को एक महीने तक करे।
  • टमाटर के रस में थोड़ा सा नमक और काली मिर्च मिलाकर रोज सुबह पिए इससे हर्निया ठीक होने में भी सहायता मिलती है।
  • कच्‍ची अदरक या अदरक से बनी चाय भी हर्निया से हुए दर्द में राहत दिलाती है।
  • बबूने के फूल के सेवन से भी हर्निया में आराम मिलता है। यह पाचन तंत्र को ठीक करता है और एसिड बनने की प्रक्रिया को कम करता है।
  • हार्निया के रोगी के लिए बहुत जरुरी है कि वह कब्ज की समस्या ना होने दे वर्ना मल त्यागते समय उसे जोर लगाने की आवश्यकता पढ़ती है।

नोट: हर्निया के घरेलू इलाज आजमाने से पहले डॉक्टर से ज़रूर संपर्क कर लें।