दूसरे मौसम की तुलना में मानसून के मौसम सबसे ज्यादा बीमारिया होती है| बारिश के आने से गर्मी से भले ही राहत मिल जाती है लेकिन यह अपने साथ आर्द्रता, मच्छर, बीमारिया, हवा में बहुत सारे बैक्टीरिया भी लेकर आती है|

इस मौसम में अधिकतर लोग बार बार बीमार पढ़ जाते है| खासकर के छोटे बच्चे, क्योंकि छोटे बच्चो का इम्युनिटी सिस्टम बहुत वीक होता है|

और यदि आपका बेबी बहुत छोटा है तो फिर तो आपको मानसून में उसकी खास देखभाल की जरुरत पड़ेगी| क्योकि इस मौसम में बच्चो को कई समस्याए जैसे नाक का बंद होना, वायरल इन्फेक्शन, छाती में कफ, मांसपेशियों में दर्द आदि होता है|  इसके अलावा मलेरिया और डेंगू भी हो सकता है|

आप इन सभी चीज़ो से पूरी तरह दुरी तो नहीं बना सकते, लेकिन थोड़ी सी केयर करके आप अपने बच्चे को मानसून के मौसम में सेफ रख सकते है| इसलिए आज के लेख में हम आपको बता रहे है Monsoon Care for Babies.

Monsoon Care for Babies: बच्चो के देखभाल की टिप्स

Monsoon Care for Babies

अपने बच्चे की साफ़ सफाई का ध्यान रखे

  • मानसून के मौसम में बच्चो का ख्याल रखने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण स्टेप्स में से एक है|
  • इस मौसम में बच्चो को बहुत ज्यादा पसीना आता है, इसलिए इनके शरीर को सूखा रखने के लिए नियमित अंतराल पर पोंछना चाहिए।
  • इसके अलावा इस मौसम में माइल्ड एंटीसेप्टिक साबुन से हर दिन बच्चो को नहलाना चाहिए, ताकि कीटाणुओं से किसी तरह का संक्रमण ना होये|

केवल उबला हुआ पानी पिलाये

  • बारिश के दिनों में कई बार पानी अच्छा नहीं आता है, जिसके चलते आपने कितनी ही सेफ्टी बरती हो फिर भी बच्चे बीमार हो जाते है|
  • इसलिए अपने बेबी को हमेशा उबला हुआ ही पानी दे| यदि बॉटल में पानी देते है तो बचा हुआ पानी ना पिने दे| हर बार फ्रेश पानी दे|
  • और यदि आप उसमे थोड़ा सा अजवाइन मिला कर भी उबाल लेते है तो इससे बेबी को पेट के रोग भी नहीं होते है|

टीकाकरण पर डॉक्टर की सलाह लें

  • बाजार में उपलब्ध कुछ फ्लू के टीके उपलब्ध होते है जो मानसून से पहले दिए जा सकते हैं|
  • आप भी अपने बच्चे को टीका लगवा सकते है, लेकिन इससे पहले डॉक्टर की सलाह ले|

आहार कैसा हो

  • इस मौसम में अपने बच्चे को केवल घर में बनी चीज़े दे|
  • हमेशा ताजा खाना दे, बासी खाना इस मौसम में देना बच्चे के लिए सही नहीं है|
  • इसके अलावा बच्चे को मानसून के मौसमी फल दे सकते है, फलो को अच्छी तरह धोकर ही दे|
  • बच्चों को कुछ भी खिलाने पिलाने से पहले अपने हाथो को भी अच्छी तरह धोये|