Oolong Tea Benefits in Hindi: सेहत से भरपूर है इस टी के फायदे

भारत में हर व्यक्ति की सुबह की शुरुआत चाय से होती है। यह हमारी दिनचर्या का हिस्सा बन चुकी है। अब तो चाय भी इतनी तरह की आने लगी है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

आज कल लोग अपनी सेहत को लेकर काफी सचेत रहने लगे है जिसके कारण वह ऐसी चाय का सेवन करते है जो शरीर को शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से तंदरुस्त रखे। जिसके कारण भी कई कंपनियां चाय की अलग अलग किस्मों का निर्माण करती रहती है। जैसे ग्रीन टी, रास्पबेरी टी, मसाला टी आदि।

ऐसी ही एक चाय है जो कि अनेक फायदों से भरपूर होती है वह है ओलॉन्ग टी। यह चीन की एक पारंपरिक चाय होती है जिसका निर्माण एक विशेष पद्धति के द्वारा किया जाता है।

ओलॉन्ग टी का निर्माण सेहत को ध्यान में रखकर किया गया है यह कई बीमारियों से भी निजात दिलाती है। जानते है Oolong Tea Benefits in Hindi.

Oolong Tea Benefits in Hindi: जानिए इसे बनाने का तरीका और इसके फायदे

Oolong Tea Benefits in Hindi

क्या है ओलॉन्ग टी?

  • ओलॉन्ग टी एक चीनी चाय है जो कैमलिया सीनेंसिस के पत्ते से तैयार की जाती है।
  • इसमें कैमलिया सीनेंसिस की कलिया, पत्ते और डाली का इस्तेमाल एक साथ किया जाता है।
  • कैमलिया सीनेंसिस पौधे से ही दो प्रकार की टी का निर्माण किया जाता है वह है ग्रीन और ब्लैक टी।
  • आमतौर पर चीन और ताइवान में इसकी खपत ज्यादा होती है।
  • अलग अलग चाय को बनाने के तरीके भी अलग होते है। जैसे कि – ग्रीन टी अनारक्षित होती है, ब्लैक टी पूर्ण रूप से किण्वित (खमीरयुक्त) और ओलॉन्ग टी आंशिक रूप से किण्वित(खमीरयुक्त) होती है।

ओलॉन्ग टी में उपस्थित पोषण तत्व

  • यह चाय एक प्राकृतिक उपहार है जो एंटीऑक्सिडेंट्स में समृद्ध होता है।
  • इसमें कैल्शियम, मैंगनीज, तांबा, कैरोटीन, सेलेनियम, पोटेशियम, और विटामिन A, B, C, E और विटामिन K जैसे महत्वपूर्ण विटामिन व् खनिज पाए जाते है।
  • इसके अतिरिक्त, इसमें फोलिक एसिड, नियासिनमाइड भी होते है।
  • ओलॉन्ग चाय में कैफीन, थेओफिलाइन और थियोब्रोमाइन (कैफीन के समान) भी मौजूद होता है, जो तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करते है।

ओलॉन्ग टी बनाने का तरीका

  • दूध के बिना ही ओलॉन्ग टी को बनाया जाता है।
  • ओलॉन्ग टी बनाने के लिए पहले पानी को उबाल जाता है। फिर उसमे ओलॉन्ग चाय पत्ती को डालते है और तीन से चार मिनट तक उबालते है।
  • इसके बाद इसे छान लेते है। स्वाद को बढ़ाने के लिए शहद भी डाल सकते है।
  • ओलॉन्ग टी हमारे हृदय, तंत्रिका तंत्र और मांसपेशियों को उत्तेजित करने में सहायक होती है।

ओलॉन्ग टी के फायदे

मधुमेह में सहायक

  • मधुमेह रोगियों के लिए ओलॉन्ग टी का सेवन करना लाभकारी होता है।
  • ओलॉन्ग टी खून में इंसुलिन के स्तर और शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखने का कार्य करती है। साथ ही यह रक्त शर्करा को विनियमित करने में भी सहायता करती है।
  • मधुमेह रोगियों में एकाएक घटने और बढ़ने वाले शर्करा के स्तर को संतुलित रखने का कार्य भी करती है।
  • ओलॉन्ग टी उपयोग टाइप -2 डायबिटीज के लिए ज्यादा किया जाता है।

मोटापे को कम करे

  • मोटापे को कम करने के लिए भी इस टी का सेवन किया जाता है क्योंकि इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट और इम्‍यूनिटी को बढ़ाने वाले पदार्थ पाए जाते है।
  • वैसे तो ग्रीन टी भी वजन को कम करने का कार्य करती है परन्तु आपको बता दे कि शोध के द्वारा पता चला है की ओलॉन्ग टी, ग्रीन टी की अपेक्षा ज्यादा जल्दी और प्रभावी रूप से वजन को कम करती है।
  • ओलॉन्ग टी एक प्रकार की सेमी फर्मेन्टेड चाय होती है जिसमे पॉलीफिनॉल कंपाउंड मौजूद होता है। जो फेट को कम करता है जिससे वजन में कमी आती है।
  • ओलॉन्ग टी के नियमित सेवन से वजन को आसानी से कम किया जा सकता है।

हड्डियो को मजबूत बनाए

  • ओलॉन्ग टी के सेवन से हड्डियां मजबूत बनती है।
  • ओलॉन्ग टी में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट हड्डियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं के लिए भी यह लाभकारी होता है और उन्हें दूर करता है।

सूजन को कम करें

  • ओलॉन्ग टी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते है जो कि सूजन को कम करने में मदद करते है ।
  • ओलॉन्ग टी शरीर में सही तरीके से कैल्शियम को पहुंचाने में मदद करता है। साथ ही स्वस्थ भी रखता है।
  • एंटी-इंफ्ले‍मेटरी गुण होने के कारण हृदय रोग और अर्थराइटिस के होने का खतरा भी कम होता है।

बालों के लिए लाभकारी

  • ओलॉन्ग टी बालों को भी स्वस्थ्य रखने का कार्य करती है।
  • इसके उपयोग से बालों का झड़ना कम हो जाता है और बाल मुलायम, चमकदार और घने बनते है।

उपयोग विधि

  • बालों की देखभाल के लिए इसका सेवन नहीं किया जाता है। इसके इस्तेमाल के लिए एक कप ठंडी ओलॉन्ग से बालों को धोया जाता है।

त्वचा के लिए फ़ायदेमंद

  • ओलॉन्ग टी त्वचा ले लिए भी कार्य करती है। त्वचा में होने वाली एलर्जी के लिए यह लाभकारी होती है।
  • साथ ही एक्जिमा से भी निजात दिलाती है। खुजली की समस्या भी इससे दूर हो जाती है।

उपयोग विधि

  • इसे आप चेहरा धोने के बाद और मॉइस्चराइजिंग क्रीम के उपयोग करने से पहले टोनर के रूप में इस्तेमाल कर सकते है। इससे त्वचा चमकदार, ग्लोइंग और स्वस्थ्य होती है।

एंटी-ऑक्‍सीडेंट की उच्च मात्रा

  • ओलॉन्ग टी में एंटी-ऑक्‍सीडेंट बहुत ही उच्च मात्रा में पाए जाते है।
  • शोध से पाता चला है कि इसके नियमित एक कप के सेवन से लोग दीर्ध काल तक जवान रह सकते है। जो कि आतंरिक और बाहरी दोनों रूप से होता है।

इसके अतिरिक्त अन्य लाभ

  • ओलॉन्ग टी दांतो के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छी होती है। इसके सेवन से मुंह में नियमित रूप से एसिड स्‍तर के संतुलन को बनाये रखने में सहायता मिलती है।
  • मसूढ़े की बीमारी को दूर करने में भी मदद मिलती है।
  • कैविटी और दांत की अन्य समस्याओं से भी निजात मिल जाती है इसलिए ओलॉन्ग टी का सेवन करना अच्छा होता है।
  • ओलॉन्ग टी में तनाव को कम करने की भी क्षमता होती है। मन को शांत करता है और चाय में उपस्थित एमिनो एसिड उत्तेजना को रोकने में सहायता करता है।
  • कैंसर रोगियों के लिए भी यह बहुत ही लाभकारी होता है।

You may also like...