Benefits Of Peepal Tree In Hindi: पेट दर्द से लेकर त्वचा के रोगों को दूर करने में सहायक पीपल

पीपल के पेड़ का पूजन किया जाता है ये तो आप सभी जानते है पर इसके कितने सारे चमत्कारी गुण होते है इसके बारे में शायद आप नही जानते होंगे। आयुर्वेद में पीपल का उपयोग कई तरह की बहुमूल्य ओषधियों को बनाने में किया जाता है।

कई तरह की छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों के इलाज में पीपल की जड़ और पत्तों को उपयोग में लाया जाता है। हिन्दू धर्म में Peepal Tree को देवता की उपाधि दी गयी है और देवताओं की तरह पीपल के पेड़ को पूजा भी जाती है।

Peepal के वृक्ष को औषधीय गुणों का भंडार माना जाता है। कई लोग आपको पीपल के पेड़ को लेकर भ्रमित करते होंगे उसमे बुरी शक्तियाँ या आत्माओ का निवास होता है पर ये सब गलत है पीपल इसके विपरीत औषधीय गुणों की खदान माना जाता है। आँखों से लेकर त्वचा और पेट सम्बन्धित विकारो के इलाज में पीपल बहुत लाभकारी सिद्ध होता है।

Peepal Leaf को भी अलग-अलग तरह से उपयोग में ला कर के आप कई तरह से स्वास्थ्य सम्बन्धित लाभ उठा सकते है। पीपल के पत्ते ही नही बल्कि पीपल की छाल भी बहुत उपयोगी होती है। इसकी छाल में विटामिन के, टैनन और फाइटोस्टेरोलिन पाया जाता है। पीपल की छाल को घिसकर के इसका कई तरह से उपयोग किया जाता है। आइये आज के इस लेख में जानते है पीपल के वृक्ष से क्या क्या लाभ मिलते हैं और यह किस प्रकार हमें स्वास्थ्य संबंधित लाभ पहुँचाता है। पढ़िए Benefits Of Peepal Tree In Hindi के वारे में विस्तार से।

Benefits Of Peepal Tree In Hindi: जाने किस प्रकार होता है पीपल का पेड़ फायदेमंद

Benefits Of Peepal Tree In Hindi

पीपल के वृक्ष के फायदे: Peepal Tree Uses

पेट दर्द में है लाभकारी

  • पीपल के पौधे की 4-5 पत्तियों को तोड़कर उसे अच्छे से धो लें और फिर उसका पेस्ट बना कर उसे 50 ग्राम गुड़ में मिला कर मिश्रण बना लें।
  • इस मिश्रण की छोटी-छोटी गोलियां बना कर दिन में 3-4 बार इसका सेवन करें। ऐसा करने से पेट दर्द में राहत मिलता है।
  • पीपल का यह नुस्खा पेट दर्द में अत्यंत लाभकारी होता है। पीपल की पत्तियों का रस प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से कब्ज, एसिडिटी आदि समस्याओं से भी राहत मिल जाती है।

सर्दी-खांसी में है फ़ायदेमंद

  • सर्दी या खांसी होने पर आप 5-6 पीपल के पत्तों को दूध के साथ उबाल कर इसमें चीनी डालकर इसे दिन में कम से कम 2 बार पीयें।
  • ऐसा करने से आपको सर्दी और खांसी में बहुत फायदा मिलता है। बुखार होने पर भी आप इस नुस्खे को आजमा सकते है। बुखार में भी इसे पीने से बहुत राहत मिलती है।

अस्थमा से राहत दिलाने में उपयोगी

  • अस्थमा जैसी बीमारी का इलाज भी पीपल के द्वारा किया जा सकता है।
  • इसके लिए पीपल की छाल तथा पके हुए फलों का अलग-अलग पाउडर बनाकर उसे समान मात्रा में मिला लें।
  • इस मिश्रण को दिन में 3-4 बार सेवन करने से अस्थमा रोग से राहत मिलती है।
  • अगर इसकी पत्तियों को दूध में उबाल कर इसमें चीनी मिला कर पीया जाए तो इससे भी अस्थमा में आराम मिलता है।

दिल की बीमारियों में है लाभकारी

  • हृदय से संबंधित तमाम समस्याओं से निजात पाने में भी आप पीपल का उपयोग कर सकते है।
  • इसके लिए पीपल की 10-15 हरी पत्तियों को एक गिलास पानी में एक तिहाई बचने तक अच्छी तरह उबालें।
  • इससे तैयार काढ़े का प्रतिदिन सुबह-सुबह सेवन करें। इसके नियमित सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

आँखों के लिए बहुउपयोगी

  • पीपल की पत्तियों के दूध को आंखों पर लगाने से आंखों की पीड़ा कम होती है।
  • इसके साथ साथ इससे आँखों को कई तरह की बीमारियों से भी निजात मिलती है।

दाँतों को बनाये मजबूत

  • पीपल का दातुन करने से दाँत मजबूत होते हैं, और दाँतों में दर्द की समस्या समाप्त हो जाती है।
  • इसके अतिरिक्त 10 ग्राम पीपल की छाल, कत्था और 2 ग्राम काली मिर्च को बारीक पीसकर इसका पाउडर बनाकर इस मंजन का प्रयोग करने से भी दाँतों की सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।
  • इससे दाँत मजबूत तो होते ही है साथ ही दाँतों को कैविटी से भी बचाया जा सकता है।

त्वचा के लिए है असरदार

  • पीपल की जड़ों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है।
  • पीपल की पत्तियों की 40 मिलीलीटर चाय का सेवन भी अत्यंत प्रभावकारी साबित होता है।
  • इसके ताजी जड़ों के सिरों को काटकर पानी में भिगोकर पीस लीजिए, इसका पेस्‍ट चेहरे पर लगाने से झुर्रियां से छुटकारा मिलता है।
  • पीपल के नियमित इस्तेमाल से त्वचा को जवां और सुन्दर बनाया जा सकता है।
  • अगर पीपल की छाल की राख बनाकर इसमें नींबू तथा घी मिलाकर इसका पेस्ट बनाया जाये और इसे त्वचा पर लगाया जाये तो इससे त्वचा में होने वाली खुजली, दाद आदि परेशानियों से भी निजात मिलती है।

रक्त तो शुद्ध करे

  • पीपल के फलों का पाउडर आपके खून को साफ कर सकता है।
  • आप इस पाउडर में शहद मिलाकर इसका उपयोग कर सकते है।
  • आप इसका सेवन प्रतिदिन तीन बार कर सकते है, इसके सेवन से रक्त में मौजूद अशुद्धि दूर हो जाती है।

घाव को ठीक करता है

  • घाव और चोट लग जाने से हमें दर्द का सामना करना पड़ता है पीपल के पत्तों के प्रयोग से आप इन घावों को ठीक कर सकते है।
  • इसके लिए आपको गर्म पीपल के पत्ते को प्रभावित क्षेत्र में लगाना होता है। इससे घाव को जल्दी भरने में भी मदद मिलती है।

पीलिया का करे इलाज

  • पीलिया के इलाज में पीपल को उपयोग में लाया जाता है।
  • पीलिया में पीपल के 3-4 पत्तों का रस निकाल लें और पीपल के पत्ते के इस रस में मिश्री मिलाकर दिन में 3-4 बार पियें।
  • ऐसा करने से पीड़ित व्यक्ति को आराम मिलता है।

जहरीले जीव-जंतु द्वारा काटने पर मददगार

  • किसी जहरीले जीव-जंतु द्वारा काट लेने पर पीपल के पत्ते का रस थोड़ी-थोड़ी देर में पिलाने पर विष का असर कम होने लगता है।
  • इससे बहुत हद तक विष के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

यूरिन इन्फेक्शन से दिलाये छुटकारा

  • 5-6 पीपल के पत्तों को आधा लीटर पानी के साथ पीस कर इसमें एक चम्मच मिश्री मिलाकर इसे सुबह शाम पियें।
  • इसे नियमित तौर पर पीने से यूरिन का इन्फेक्शन धीरे धीरे खत्म हो जाता है।

इस तरह पीपल का वृक्ष कई सारी स्वास्थ्य सम्बन्धित परेशानियों को कम करने में सहायक होता है।इसका उपयोग करना हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होता है।


You may also like...