Personal Hygiene in Hindi: व्यक्तिगत स्वच्छता के लिए अपनाएँ ये ख़ास टिप्स

हम सभी स्वस्थ जीवन जीने की चाहत रखते है, लेकिन क्या आप जानते है की स्वस्थ शरीर पाने के लिए क्या करना होता है? हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में कई चीज़े भूमिका निभाती है, इसमें केवल खानपान और व्यायाम ही शामिल नहीं बल्कि कई दूसरी बातें भी शामिल होती हैं जैसे हम किस तरह अपने शरीर को साफ रखते हैं और यौन संबंध अपनाते समय हम कैसी सुरक्षा को अपनाते हैं आदि।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए व्यक्तिगत स्वच्छता सबसे पहली स्टेप होती है। व्यक्तिगत स्वच्छता का ख्याल ना रखने से ही ज्यादातर समस्याएं होती हैं ऐसे में अगर आप अपनी Personal Hygiene का ख्याल रखेंगे तो आप अपने शरीर की हेल्दी बनाये रख सकेंगे।

पर्सनल हाइजीन से आप अपने आप को बीमारियों से भी दूर रखने में कामयाब होंगे और इससे आपका स्वास्थ्य भी हमेशा अच्छा रहेगा। ज्यादातर बीमारियाँ गंदगी की वजह से फैलती हैं। वो गंदगी आपके शरीर में या फिर आपके आस पास के क्षेत्र में भी हो सकती है। दोनों ही प्रकार की गंदगी से आपको बच कर रखने की जरुरत होती है इसलिए अपने Health and Hygiene का ख्याल ज़रूर रखना चाहिए।

अगर आपको जानकारी ना हो तो आपको बता दें की कई बीमारियाँ स्वच्छता की कमी के चलते पैदा होती हैं। जैसे की घाव होना, दाँतों का सड़ना, डायरिया आदि। आप केवल अपने शरीर को साफ रखकर भी इन बीमारियों से दूर रह सकते है। आज के लेख में आइये जानते हैं Personal Hygiene in Hindi के बारे में विस्तार से।

Personal Hygiene in Hindi: स्वच्छता स्वास्थ का आधार है, जाने कैसे अपनाएं व्यक्तिगत स्वच्छता

Personal Hygiene in Hindi

पर्सनल हाइजीन क्या है?

  • पर्सनल हाइजीन का अर्थ होता है अपने बाहरी शरीर को स्वच्छ रखना। इस बात का महत्व लोग बहुत पहले ही समझ गए थे। प्राचीन समय की बात करे तो ग्रीक्स कई घंटे नहाने में बिताते थे। इसके लिए वो कई और चीज़े भी इस्तेमाल करते थे ताकि उनकी सुंदरता भी निखर कर सामने आये।
  • Importance of Personal Hygiene के लिए बाजार में करोड़ों प्रोडक्ट्स मौजूद है। कई सारे फेमस सेलेब्स भी इन्हें प्रमोट करते है क्योंकि एक अच्छा हाइजीन आत्मसम्मान और आत्मविश्वास भी बढ़ाता है। तो चलिए हम जानते है की हम इसे कैसे बनाये रख सकते है।

हाथों की साफ़ सफाई: Hand Hygiene

  • हम लोग हाथों का इस्तेमाल कई कार्यो को करने के लिए करते है और फिर इन्हीं हाथों से खाना भी खाते है।
  • यदि आपके हाथों पर कीटाणु है तो यह खाने के जरिये आपके पेट में भी जायेंगे। इसलिए कोई भी काम करने के बाद और कुछ भी खाने के पहले हमेशा अपने हाथों को अच्छे से धो लिया करे। इससे आप कई हद तक बीमारियों पर रोक लगा सकते है।

इसके अलावा Good Hygiene के लिए इन बातों का भी रखे ख्याल

  • हाथों को डेटॉल हैण्ड वाश से धोये।
  • नाखुनो को नियमित रूप से काटें।
  • नाखून को चबाने से बचे
  • नाक में इसे डालने से बचे।
  • खून, मैला, मूत्र को छूने से बचें।

बालों की साफ़ सफाई: Hair Hygiene

बालों को साफ़ सुथरे रखने के लिए हफ्ते में एक या दो बार बाल ज़रूर धोएं। इसके लिए आप शैम्पू या शिकाकाई का इस्तेमाल कर सकते है।

आँखों की साफ़ सफाई: Eye Hygiene

यदि अपनी आँखों को हमेशा स्वस्थ रखना चाहते है तो उनकी आँखों की Health Hygiene और साफ़ सफाई का ख्याल रखना बहुत ज़रुरी है। इसके लिए अपनी आंखों को हर रोज साफ ठंडे पानी से धोएं।

दांतो की साफ़ सफाई: Oral Hygiene

आपकी ओरल हेल्थ कैसी है, इस बात से आपका स्वास्थ्य बहुत प्रभावित होता है। इसलिए दांतो की देखभाल बहुत ज़रुरी है। इसके लिए आप इन बातों का ख्याल रखे:-

  • नियमित रूप से ब्रश और फ्लॉस करे
  • दिन में दो बार ब्रश करे सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले
  • यदि कोई मौखिक रोग है तो उसका इलाज करे
  • तम्बाकू और शराब से दूरी रखे
  • कॉफी पीने की आदत है तो इसे कम करे

शौच के बाद की सफाई: Toilet Hygiene

  • शौच के बाद भी साफ़ सफाई बरतना बेहद ज़रुरी है। इसलिए मल या मूत्र त्याग के बाद अपने अंगों को साफ पानी से धोयें।
  • शौचालय, स्नानागार को हमेशा साफ़ रखे।
  • घर में ही शौचालय बनवाये और खुले में शौच करने से बचे।
  • शौच के बाद हमेशा हाथों को अच्छी तरह धोये।

त्वचा का भी ख्याल रखे: Skin Hygiene

  • अच्छी त्वचा केवल हमारी खूबसूरती ही नहीं बढाती बल्कि इससे हमारे अंगो की भी रक्षा होती है।
  • त्वचा पसीने द्वारा शरीर की गन्दगी को बाहर करती है। यदि त्वचा ख़राब हो जाती है तो यह ग्रंथिया बंद हो जाती है जिसके चलते त्वचा पर फुंसी आदि होने लगती है।
  • इसलिए त्वचा का अच्छे से ख्याल रखे, हर दिन साबुन और साफ पानी से नहाया करे, ताकि आपकी त्वचा अच्छी और साफ़ बनी रहे।
  • डेड सेल्स को हटाने के लिए हफ्ते में एक बार स्क्रबिंग भी करना चाहिए।

जननांगों की सफाई: Genital Hygiene

  • मल या मूत्र त्याग के बाद हमेशा अंगों को साफ पानी से धोयें। यदि आपको यहाँ किसी प्रकार का संक्रमण दिखे, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। पुरुष और महिलाएं दोनों साफ़ सफाई पर ध्यान दे।
  • पीरियड्स के दौरान महिलाएं सफाई को लेकर ज्यादा एहतियात बरते। साफ और मुलायम कपड़े या सैनिटरी नैपकिन का प्रयोग करें। दिन में कम से कम दो बार नेपकिन ज़रुर बदले।
  • जिन महिलाओं को दुर्गंध युक्त सफेद द्रव निकलता हो, वे बिना देरी के डॉक्टर की राय ले।

अन्य Hygiene टिप्स

  • खाना पकाने, खाने और परोसने से पहले हाथों को अच्छे से धोये। बच्चों को भी Basic Hygiene के बारे में बताये।
  • कानों की ठीक से साफ़ सफाई ना होने पर उसमे गन्दगी जमा हो जाती है। इसके चलते हवा का रास्ता रुक जाता है और इससे दर्द भी होता है। इसलिए सप्ताह में एक बार रुई से कानों को साफ करना चाहिए।
  • भोजन करने के बाद हमेशा साफ पानी से कुल्ला करना चाहिए। क्योंकि दाँतों में फंसे भोजन के कण से दुर्गंध और मसूड़ों में सड़न पैदा होती है। कुल्ला करने से यह बाहर निकल जाते हैं।
  • हमेशा अपने नाखुनो को ट्रिम करके अच्छे शेप में रखना चाहिए। इससे कई समस्याएँ जैसे हैंग नेल आदि से छुटकारा मिलता है।
  • हमेशा साफ सुथरे और धुले हुए कपड़े पहने, बिना धुले कपड़ों में दूषित तत्व होते है जिससे त्वचा की कई बीमारियाँ होती है।
  • रोज नहाते वक्त अपने पैरो को साफ़ करे, खासकर पैरो के उंगलियों के बीच में।

ऊपर आपने जाना Personal Hygiene in Hindi. इन दी गयी टिप्स से आप खुद को ना केवल स्वच्छ बल्कि स्वस्थ जीवन भी दे सकते है।


You may also like...