इन्फ्लूएंजा को सामान्य भाषा में फ्लू कहा जाता है| इसमें श्वसन तंत्र में संक्रमण हो जाता है। वैसे तो यह कभी भी हो सकता है लेकिन अधिकतर यह सर्दियों के मौसम में वायरल बीमारी के रूप में होता है और जिन लोगो की प्रतिरोधक क्षमता कम होती है उन लोगो को ज्यादा प्रभावित करता है|

यह बहुत ही आसानी से संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फ़ैल जाता है| जब भी इससे पीड़ित व्यक्ति खासता या छींकता है तो उसके संपर्क में रहने वाला व्यक्ति भी प्रभावित हो जाता है|

इन्फ्लुएंजा एक गंभीर बीमारी है इसके लक्षणों की बात करे तो इसके चलते लोगों को वायरल बुखार, सर्दी जुकाम, संक्रमण, सिरदर्द और टायफाइड जैसी बीमारी भी हो जाती है| इसके चलते कई लोग अस्पताल में भर्ती होते है और कभी-कभी तो इसके चलते मौत भी हो सकती है। इन्फ्लूएंजा संक्रमण हर लोगों को अलग-अलग प्रभावित कर सकता है|

हर साल लाखों लोगों को फ्लू होता है और सैकड़ों लोग अस्पताल में भर्ती होते हैं, और हजारो लोग समय पर इलाज ना होने पर मर भी जाते है| फ्लू से निपटने के लिए वैक्‍सीन की सहारा लेना सबसे आसान तरीका है| लेकिन क्या आप जानते है Side Effects of Flu Shot भी है|

Side Effects of Flu Shot: वैक्सीन लगाने के नकारात्मक प्रभाव

Side Effects of Flu Shot

फ्लू का टिका कब लिया जाता है?

  • फ्लू का मौसम अधिकतर अक्टूबर में शुरू हो सकता है|
  • फ्लू का टिका लेने का सबसे अच्छा समय आमतौर पर सितंबर होता है|
  • इस टिके को अपना प्रभाव दिखाने के लिए 2 सप्ताह का समय लगता है।
  • आप दिसंबर के समय भी एक फ्लू शॉट ले सकते है|

फ्लू वैक्‍सीन के साइड इफेक्ट्स

फ्लू से निपटने के लिए कई लोग Flu Vaccines लेते है| और यह वैक्‍सीन उस उन्हें राहत भी दे देता है, लेकिन क्‍या आप जानते हैं इससे शरीर पर साइड-इफेक्‍ट भी हो सकते हैं, आइये इसके बारे में जानते है:-

एलर्जी

  1. यदि आपको पहले से ही किसी की एलर्जी है तो वैक्सीन लगाने के बाद एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है|
  2. यह एलर्जी आपको टिका लगाने के कुछ ही घंटो में दिखाई देने लगती है|
  3. यदि आपको शरीर मे सूजन, सांस लेने मे दिक्कत, कमजोरी आदि लक्षण दिखाई दे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे|

इंजेक्शन की जगह पर दर्द

  1. इस टिके के लगने का सबसे सामान्य साइडइफेक्ट अगर देखने को मिलता है तो वो है इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दर्द होना|
  2. इंजेक्शन वाली जगह पर सूजन आ जाती है और वह दर्द होता है हालाँकि दो दिन में इससे राहत मिल जाती है|

अन्य समस्याए:-

  • मांसपेशियों में दर्द दे जाती है
  • पुरे शरीर में खिचाव और दर्द
  • नाक का बहना
  • सिरदर्द, उलटी और बुखार
  • शरीर मे कमजोरी
  • हार्टबीट का बढ़ना

वैसे तो यह लक्षण ज्यादा गंभीर नहीं है, पर यदि आपको तकलीफ ज्यादा हो तो बिना देर किये आप अपने डॉक्टर से मिले|