Sleeping Position During Pregnancy: जानिए गर्भावस्था के दौरान सोने का सही तरीका

गर्भावस्था के दौरान महिला को अपना और अपने होने वाले बच्चे का विशेष ख्याल रखना होता है। जिसमे खान पान का ध्यान रखना तो ज़रुरी है ही साथ ही यह भी ज़रुरी है की आप आराम करे।

आराम तभी अच्छे से मिल सकता है जब आप एक अच्छी नींद ले पाएंगी। नींद अच्छे से आने पर महिला और बच्चा दोनों स्वस्थ्य रहते है। परन्तु कुछ गर्भवती महिलाएं सोते समय कुछ ऐसी ग़लतियाँ कर देती हैं जो खुद महिला और बच्चे दोनों के लिए हानिकारक होता है।

गर्भवती होने पर अपने सोने के तरीके को बदलना बहुत ज़रुरी होता है। शुरुआत में इसमें थोड़ा कठिनाई आ सकती है पर यदि आप गर्भावस्था में सोने के सही तरीके को अपनाएंगी तो यह आप और आपके बच्चे दोनों के लिए अच्छा होगा।

गर्भावस्था में किस प्रकार से सोना अच्छा होता है इस लेख के जरिए आप जान सकते है। तो चलिए जानते है Sleeping Position During Pregnancy के बारे में।

Sleeping Position During Pregnancy: इस तरह सोये गर्भवती महिला

Sleeping Position during Pregnancy in Hindi

क्यों जरूरी है गर्भावस्था में सोने का सही तरीका

  • गर्भावस्था के दौरान माँ के शरीर में कई तरह के परिवर्तन होते हैं। इसलिए शरीर को आराम की आवश्यकता होती है।
  • इसमें रात की नींद अच्छे से होना माँ और शिशु दोनों के लिए ज़रुरी होता है। साथ ही महिला के पेट के आकार में भी परिवर्तन आता है।
  • बढे हुए पेट के साथ सोना मुश्किल हो जाता है। यदि आप ऐसे में सही तरीके से नहीं सोती हैं तो आपको और आपके बच्चे दोनों को समस्या हो सकती है।
  • गलत तरीके से सोने पर महिला को जितना असहज महसूस होता है उतना ही बच्चा भी पेट में परेशान होता है और उसका विकास सही ढंग से नहीं हो पाता है। इसलिए सही तरीके से सोना आपके और आपके बच्चे दोनों के लिए सुरक्षित होता है।

बायीं ओर करवट लेकर सोना

  • गर्भावस्था के दौरान बाएं करवट लेकर सोना बहुत अच्छा होता है ऐसे सोने से किडनी, गर्भ और यूट्रस तक रक्त का प्रवाह अच्छे से हो पाता है।
  • बाएं करवट पर सोने से बच्चे को ऑक्सीजन और पोषण मिलता है। इससे ब्‍लड़प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है साथ ही हार्ट बीट भी सही रहती है।
  • आप बाई पोजीशन में सोते समय अपने पैरों की मध्य तकिये को रख सकते है। इससे आपको कमर दर्द की समस्या नहीं होगी।

पीठ के बल सोने से बचे

  • शुरूआत के महीनों में महिलाओं को सीधा होकर सोना अच्छा होता है। इससे बच्चे का विकास अच्छे से होता है।
  • परन्तु गर्भावस्था के अंतिम महीनों में गर्भ का साइज़ बढ़ने से पीठ के बल लेटने पर कई सारी शारीरिक समस्याएं होती है।
  • पीठ के बल लेटने पर गर्भाशय का सारा भार सीधा आपकी पीठ पर पड़ता है। जिसके कारण से पीठ में दर्द भी होने लगता है।

पेट के बल भूल कर भी न सोये

  • पेट के बल सोने से माँ और बच्चे दोनों को हानि पहुँचती है।
  • इस तरह सोने से पेट में आपके बच्चे की पोजिशन बदल सकती है।
  • इससे आपको डिलीवरी के दौरान परेशानी का सामना भी करना पड़ सकता है।
  • पेट के बल सोने से सूजन और पेट दर्द जैसी समस्याएँ होती है।

तकिये का प्रयोग

  • गर्भावस्था में अच्छी नींद के लिए आप सॉफ्ट तकिये का उपयोग कर सकती है।
  • आप अपनी सुविधा के अनुसार तकिये का प्रयोग कर सकती है।

दाईं ओर सोने से बचे

  • दाईं ओर सोने से आपकी नींद पूरी तरह से नहीं हो पाती है और नींद बार बार खुलने लगती है।
  • हो सकता है की आपको पूरी रात जागना पड़े। इसलिए दाईं ओर सोने से बचे।
  • दाहिनी तरफ सोने से जिगर पर दबाव पड़ सकता है।

गर्म पानी से स्नान

  • रात में के समय अच्छी नींद लेना आपके और आपके शिशु दोनों के लिए ज़रुरी होता है।
  • इसलिए अच्छी नींद के लिए आप सोने से पहले हलके गुनगुने पानी से नहा ले।
  • ऐसा करने से नींद अच्छी आती है और आपको बेचैनी भी नहीं होगी।

अन्य जानकारी

  • गर्भावस्था के दौरान शरीर में कई परिवर्तन आते है इसलिए ऐसे कपड़ों का चुनाव करे जो को आरामदायक हो।
  • ढीले कपड़े चुने ताकि शरीर को साँस लेने में परेशानी ना हो।
  • गर्भावस्था के समय तनाव होना भी सामान्य बात होती है लेकिन इससे बचना चाहिए इसलिए अपने आप को तनाव से दूर रखे।
  • आप तनाव को कम करने के लिए अपना पसंदीदा संगीत सुन सकती है या फिर मेडिटेशन का भी सहारा ले सकती है।
  • प्रत्येक महीने में आपके पेट के आकार में परिवर्तन होगा इसलिए आपको सोने में थोड़ी कठिनाई होगी। इसलिए सोने के तरीके में थोड़ा थोड़ा बदलाव करते रहे ताकि आपको आराम मिल सके।
  • दिन के समय ना सोये, यदि आप दिन में सो लेती है तो आपको रात के समय नींद नहीं आती है। इसलिए दिन में आराम करे परन्तु नींद न ले।
  • स्वस्थ्य बच्चे के लिए आहार का सही होना भी ज़रूरी होता है। महिला को पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए।
  • सोने से पहले एक ग्लास गुनगुना दूध पीये, इससे नींद बहुत अच्छी आती है।
  • रात के समय ज्यादा पानी का सेवन करना आपकी नींद में व्यवधान पैदा कर सकता है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान बार बार बाथरूम आती है। इसलिए रात को सोने से पहले कम मात्रा में पानी पीये।
  • अपने सोने का समय निर्धारित करे। ज्यादा समय के लिए रात को जागना भी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। इसलिए एक समय बनाकर उस समय पर सोने की आदत डाले। आपको आसानी से नींद आ जाएगी।
  • अपना और अपने शिशु का स्वस्थ्य बेहतर बनाये रखने के लिए जंक फ़ूड से दूरी बना ले। यह दोनों के लिए हानि कारक होता है।
  • यदि आपको धूम्रपान की आदत है तो उसका भी त्याग कर दे। धूम्रपान करने से भी नींद अच्छे से नहीं आ पाती है।

उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखे और सही तरीके से ही सोये ताकि आप और आपका बच्चा सुरक्षित रह सके। साथ ही सही तरीके से सोने पर आपको लाभ भी प्राप्त होगा। इस बात का ध्यान रखे की पर्याप्त नींद लेना आवश्यक है। इस जानकारी को आप किसी अन्य गर्भवती महिला को भी दे सकती है। ताकि वह भी इसका लाभ उठा सके।


You may also like...