Aankh Phadakna: जानिए क्या संकेत देता है आपके आँखों का फड़कना

Aankh Phadakna जिसे हिंदी में आँख फड़कना भी कहते है एक तरह की शारीरिक प्रतिक्रिया होती है। लेकिन हमारे पुरातन मान्यताओं में इसे शुभ और अशुभ विचार धाराओं से जोड़ा जाता रहा है।

माना जाता है की इस लक्षण से आने वाले समय का आभास होता है। विपदाओं को परखने की क्रिया हमारे शरीर में किसी न किसी माध्यम से होती रहती है, अंगो की फड़कना भी एक ऐसी ही क्रिया है अंगस्फुरण यानि शरीर के अंग का फड़कना पुरुषों और महिलाओं में अलग अलग तरह से होता है।

आपके जीवन मे कब कुछ अच्छा होने वाला है और कब कुछ बुरा होने वाला है इसको पहचानने के लिए कुछ ना कुछ संकेत आपके शरीर के माध्यम से आपको मिल जाते हैं । इन्हीं शारीरिक संकेतों में एक मुख्य संकेत हैं आँखों का फड़कना। बाई Aankh Fadakna या दाहिनी आँख का फड़कना दोनों हीं के अंदर कुछ संकेत छुपे हुए होते है।

महिला और पुरुष के आँखों के फड़कने के मतलब अलग अलग होते हैं। इस लेख के माध्यम से हम ये जानेंगे की आँखों के फड़कने के अलग अलग परिस्थितियों में क्या क्या मतलब, फायदे-नुकसान और परिणाम होते हैं। इससे आप भी अपने आने वाले समय को पहचान सकते है।

Aankh Phadakna: आँखों का फड़कना शुभ है या अशुभ?

Eye Twitching

बायीं आँख का फड़कना

महिला की Baayi Aankh Phadakna

  • यदि किसी महिला या लड़की की पूरी बायीं आँख फड़कती है तो आपको घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि इसका मतलब होता है की आने वाले समय में आपके जीवन में कुछ बहुत शुभ होने वाला है।
  • जब किसी अविवाहित लड़की की बायीं आँख चारो दिशा में फड़क रही हो तो इसका मतलब है की जल्द हीं उस लड़की के हाँथ पीले होने वाले है। जल्द हीं लड़की के शादी होने के आसार है।
  • आँखों के अलावा कभी कभी भौंह भी भड़कने लगती है। ऐसे में यदि किसी लड़की की बायीं भौंह फड़कती है तो इसका मतलब होता है की उसकी जिंदगी में जल्दी हीं कोई खुश की खबर आने वाली है।

पुरुषों की बायीं आँख का फड़कना

  • पुरुषों के परिणाम यहां महिलाओं की तुलना में अलग होते हैं। बायीं Aankh Phadakna for Male आमतौर पर अशुभ माना जाता है।
  • यदि पुरुषों की बांयी आँख की पलक और भौंवें फड़कती है तो इसका मतलब होता है की आपकी लड़ाई आपके किसी दुश्मन से हो सकती है और दुश्मनी पहले से ज्यादा बढ़ सकती है।
  • जब पुरुषों की बांयी आँख के नीचे के हिस्से फड़कते हैं तो इसका मतलब होता है की आपकी किसी व्यक्ति से जल्द हीं कोई कहा सुनी होने की संभावना है या ऐसा भी हो सकता है की जल्द हीं आपको अपने दुश्मन के सामने शर्मिंदा होना पड़ जाए।

दांयी आँख का फड़कना

महिलाओं की Right Aankh ka Fadakna

  • अगर महिलाओं या फिर लड़कियों की दांयी आँख फड़कती है तो इसे आमतौर पर अच्छा नहीं माना जाता है। इस संकेत के परिणाम बुरे बताए जाते हैं।
  • महिलाओं में दाईं आँख के लगातार फड़कने के कारण स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ तकलीफें हो जाने की संभावना बढ़ जाती है।

पुरुषों की दांयी आँख फड़कना

  • पुरुष की दांयी आँख का फड़कना शुभ माना जाता है।
  • यदि दांयी आँख की ऊपरी पलक और भौंवें फड़कती है तो व्यक्ति की मन की इच्छाएं पूर्ण हो जाती है साथ ही पदोन्नति तथा धन लाभ की प्राप्ति भी होती है।
  • अगर आपकी दांयी आँख के नीचे के हिस्से फड़कते हैं तो इसका मतलब होता है की आपके साथ कुछ अशुभ होने वाला है, आपको ऐसे समय में सतर्क रहने की आवश्यकता होती है।

दोनो आँखो के एक साथ में फड़कने का अर्थ

  • ये परिणाम महिला और पुरुष दोनों के लिए एक जैसे होते हैं।
  • अगर आपकी दोनो आँखे एक साथ एक समय पर फड़क रही हैं तो इसका मतलब होता है की आपका कोई बहुत पुराना दोस्त या सहेली आपको फिर से मिलने वाली है जिनसे आप बहुत दिनों से मिले नहीं हैं।

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक़ आँख का फड़कना

आंख के फड़कने की क्रिया को ज्योतिष शास्त्र के अंदर महत्वपूर्ण माना जाता है। ये अच्छे बुरे असर को दर्शाने के साथ साथ भविष्य में हो सकने वाली किसी अच्छी या बुरी घटना को भी दर्शाता है । इस क्रिया की वजह से हमें पहले ही ये ज्ञात हो जाता है कि आने वाले भविष्य में हमारे साथ कैसी घटनाएं होने वाली हैं। जानते हैं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार Aankh Phadakna in Hindi.

दायीं आँख का फड़कना

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार Right Aankh ka Fadakna बहुत हीं लक्षणों में से एक माना जाता है।
  • दाहिनी आंख के फड़कने का मतलब आंख के ऊपर आपकी भोंवें या फिर आंख के ऊपर कि आपकी पलक का भी फड़कना माना जाता है ।
  • अगर आप की दायीं आंख फड़क रही है तो समझ लीजिये की जल्द हीं आपकी मन की कोई मुराद पूरी होने वाली है। हो सकता है की आपको धन लाभ हो जाए ।
  • आपकी मन मस्तिष्क की जो इच्छाएं मनोकामनाएं पूरी हो सकती है इसकी वजह से ।
  • अगर आपके दायीं आंख का ऊपरी हिस्सा फड़के तो यह शुभ संकेत होता है लेकिन अगर आपके दायीं आंख का निचला हिस्सा फड़के तो यह एक अशुभ संकेत होता है। इसका मतलब होता है की आप पर किसी प्रकार का संकट आने वाला है।

बायीं आँख फड़कने का मतलब

  • ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक़ Baayi Aankh Phadakna अशुभ संकेत के रूप में देखा जाता है।
  • बायीं आंख फड़कना अर्थात भोंवें या फिर पलक का फड़कना भी मना जाता है।
  • इनके फड़कने का मतलब यह होता है की आपकी किसी व्यक्ति से आने वाले वक़्त में दुश्मनी बढ़ सकती है। और इस दुश्मनी की वजह से आपकी समस्या और परेशानी भी बढ़ सकती है।
  • अगर आपकी बायीं आँख के नीचे का हिस्सा फड़कता है तो इसका मतलब है की आपकी किसी के द्वारा बदनामी होने वाली है या फिर आपकी किसी के साथ एक मनमुटाव होने की भी संभावना है। इसके कारण भविष्य में आपकी बदनामी होने के भी संकेत यह देता है । इसी पर अगर आपने ख्याल नहीं रखा तो आपको अपमान सहना पड़ सकता है।

आँखों का फड़कना कैसे रोकें ?

पलकों या आँखों का फड़कना चाहे वो Left Eye Twitching हो या Right Eye Twitching एक असुविधाजनक स्थिति पैदा करके परेशानी की वज़ह बन जाती है। अगर आपने इसका अनुभव पहले से ना किया हो तो पहली बार में आपको इसके होने पर डर भी लगने लग सकता है। शारीरिक दृष्टिकोण से आँखों का फड़कना दरअसल मांशपेशियों का एक अनैच्छिक संकुचन कहलाता है और इसके होने की मुख्य वज़ह मानसिक तनाव होता है। हालांकि इसके होने के अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे आँखों पर जोर पड़ना, थकान, आँखों का सूख जाना, उत्तेजक पदार्थों का अत्यधिक सेवन, डीहाइड्रेशन, अत्यधिक शराब आदि पीने से। वैसे कारण इनमे से कोई भी हो लेकिन ऐसा होने पर ज्यादा घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आपके पास बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं जिसकी मदद से आप आंखों का फड़कना रोक सकते हैं।

तेजी से पलकें झपकाएं

  • आँखों के फड़कने पर अपनी आँखों को जोर से बंद कर लें फिर अपनी आँखों को खोल कर जितना हो सके फैलायें। इस क्रिया को तब तक करते रहें जब तक आँखों से आँसू ना निकलने लग जाए।
  • ऐसा करने पर अगर दर्द हो या आँख और ज्यादा जोर से फड़कने लग जाए तो इस क्रिया को ना करें।
  • इस क्रिया को जल्दी-जल्दी दोहराने से आँख में आँसुओं की एक परत बन जाती है जिसकी वज़ह से आँखों मे आर्द्रता आती है, साथ ही आँख और चेहरे के मसल्स की वर्जिश तथा आँखों मे रक्त का प्रवाह भी तेज हो जाता है जिससे आँख फड़कने की समस्या से राहत मिल जाती है।

आँखों को अधखुली स्थिति में लायें

  • आपको ऐसा लगेगा कि आपकी आँखों की ऊपरी पलकें विभिन्न आयामों में काँप रही है। आप इन कँपकपाँहट को रोकने के लिए अपने प्रयासों पर अपना ध्यान लगाएं ।
  • आँखों की दृष्टि को स्पष्ट बनाये रखने के लिये आँखों को समायोजित करने से आँखों पर तनाव कम पड़ता हैं। इससे थकान की वज़ह से आँखों के फड़कने की समस्या को रोकने में मदद मिलती है।

आँखों का व्यायाम

  • इसके अंतर्गत अपनी आँखें एक मिनट तक के लिए बंद रखें। इस दौरान आपनी आँखों को जोर- जोर से मीचें और फिर उन्हें खोले बिना ढीला छोड़ दें। आँखों को खोलने से पहले इसे तीन बार दोहरायें।
  • इस प्रक्रिया से आँखों में आँसू बनना बढ़ जाता है और इससे आँखों के भीतर चिकनाई हो जाती है।
  • इन आँखों के व्यायाम से न केवल आँखों का फड़कना रोका जा सकता है बल्कि इससे आँखों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं ।

आँखों की करें मसाज

  • आँखों की नियमित रूप से मसाज कर भी इस समस्या में बहुत लाभ पहुंचता है।
  • इसके लिए अपनी मध्यमा ऊँगली की मदद से निचली पलक की गोलाई में मसाज करें।
  • जिस आँख में फड़कन महसूस हो रही हो उस आँख की पलक का लगभग 30 सेकेण्ड्स तक मसाज करते रहें।
  • इस दौरान किसी भी तरह के जलन या फिर इन्फेक्शन से बचाव के लिये अपने हाथों और अपने चेहरे को पहले साफ कर लें।
  • इस मसाज विधि से आँख फड़कने की समस्या से आराम मिलता है । इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और साथ ही साथ माँसपेशियों को मजबूती मिलती है ।

इस लेख में आपने पढ़ा Aankh Phadakna in Hindi से होने वाले लाभ और नुकसान के बारे में। साथ ही आपने जाना की आँख के फड़कने पर कैसे आप फड़कना रोक सकते हैं। अब जब आपकी आँखे फड़के तो आप पहले से समझ जाएँ की आपके साथ क्या हो सकता है।