Beetroot Side Effects: कुछ लोगों को चुकंदर खाने से हो सकती हैं ये बीमारियाँ

चुकंदर एक बहुत ही फायदेमंद सब्जी है। जिन लोगो को एनीमिया की समस्या हो जाती है उन्हें इसे खाने की सलाह दी जाती है और तो और यह काफी सस्ती भी मिलती है।

कहा जाता है की इसे करने से उच्च रक्तचाप की समस्या में भी फायदा मिलता है। चुकंदर को सलाद और सूप दोनों के रूप में लिया जा सकता है।

यही वजह है की कई लोग अपनी डाइट में चुकंदर का भरपूर सेवन करते हैं? लेकिन क्या आप जानते है इसके सेवन से आपकी सेहत को नुकसान भी पहुँचता है।

जी हां गुणों से भरपूर होने के बाद भी जब हम इसका सेवन ज्यादा करने लगते है तो यह हमें हानि पहुंचाने लगता है। आइये जानते है Beetroot Side Effects के बारे में।

Beetroot Side Effects: चुकंदर खाने से हो सकते है ये साइड इफेक्‍ट

Beetroot Side Effects in Hindi

किडनी में पथरी

  • यदि आपको किडनी की बीमारी या फिर आपके परिवारिक इतिहास में किडनी की पत्‍थरी की समस्‍या है तो चुकंदर का सेवन ना करे।
  • दरहसल चुकंदर में बीटेन होता है जिससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर को बढ़ जाता है।
  • इसके अलावा इसमें मौजूद ऑक्सालेट की अधिक मात्रा किडनी की पथरी के गठान की संभावना को बढ़ा देता है।
  • इसलिए किडनी की समस्याओं से ग्रस्‍त लोगों को इसे लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

गर्भावस्था में भ्रूण के लिए खतरनाक

  • गर्भवती महिलाओं को चुकंदर नहीं खाना चाहिए क्योंकि माँ के साथ कोख में पल रहे बच्चे के स्‍वास्‍थ्‍य को भी प्रभावित करता है।
  • यदि आपको आयरन की मात्रा बढ़ानी है तो इस दौरान आप पालक, मेथी और अनार का सेवन कर सकती है।

उच्च रक्तचाप

  • चुकुंदर का रस रक्तचाप को कम करने में मदद करता है।
  • लेकिन यदि आप रक्तचाप को कम करने के लिए इसके साथ साथ दवाई भी ले रहे है तो इससे आपका रक्तचाप बहुत ज्यादा कम हो सकता है।
  • ऐसे में ज्यादा चुकंदर खाना आपके लिए असुरक्षित हो सकता है।
  • निम्न रक्तचाप वाले तो इसका सेवन ना ही करे।

बेटुरिया

  • कई बार चुकंदर के सेवन के बाद मूत्र एवं मल का रंग लाल या गुलाबी हो जाता है।
  • जिसके चलते कई बार लोग डर जाते है की यह रक्त है।
  • दरहसल इस स्तिथि को बेटुरिया कहते है।
  • लेकिन यह स्थिति ज्यादा से ज्यादा 48 घंटे तक होती है, जिसके बाद सब सामान्य हो जाता है।

आयरन और कॉपर की अधिकता

  • जो लोग होमेक्रोमेटोसिस या विल्सन की बीमारी से ग्रस्त है उनके लिए बीट रुट का सेवन करना खतरनाक हो सकता है।
  • होमेक्रोमेटोसिस की बीमारी शरीर में आयरन और तांबे की अधिकता से होती हैं।
  • बीट रुट का सेवन इनका स्तर और बढा देता है।

हड्डियां कमजोर बनाये

  • चुकंदर के अधिक सेवन से हड्डिया कमजोर होती है।
  • इसके अधिक सेवन से शरीर में कैल्शियम का स्तर कम होता है।
  • इससे हड्ड‍ियों से जुड़ी समस्याएं के अलावा सेहत से जुडी समस्याएं भी हो सकती है।
  • अगर किसी को होमेक्रोमेटोसिस या विल्सन की समस्या है तो उन लोगो को बीटरूट का सेवन नहीं करना चाहिए।

गाउट की समस्या

  • गाउट एक गठिया की समस्या होती है जो शरीर के किसी भी पार्ट में हो सकती है।
  • इस समस्या में शरीर और जोड़ो में दर्द तथा सूजन की शिकायत होना शुरू हो जाती है।
  • शरीर में ज्यादा यूरिक एसिड बनने लगता है जिससे शरीर में गठिया की समस्या होती है और साथ ही यह काफी दर्दनाक भी हो जाती है।
  • इसी दर्द की वजह से कभी कबार तेज़ बुखार भी आ जाता है।

डायबिटीज की समस्या

  • 100 ग्राम कच्चे बीटरूट में कम से कम 7 ग्राम तक शुगर होती है।
  • यदि कोई डायबिटीज का मरीज इसका सेवन कर रहा है तो वह बीटरूट के माध्यम से शुगर खा रहा है इसलिए इसका एक सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।
  • यदि आप बीटरूट का सेवन जूस के रूप में कर रहे तो आप शुगर का अत्यधिक सेवन कर रहे है।
  • यह बॉडी में ग्लूकोज के लेवल को बढ़ा देता है।
  • अगर आपको ज्यादातर हाईब्लड शुगर की शिकायत रहती है तो आपको अपने डॉक्टर से पूछकर इसका सेवन करना चाहिए।

पेट की समस्या

  • अगर किसी को पहले से ही गैस्ट्रोइंटेस्टिनल की समस्या होती है तो उन्हें बीटरूट का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ऐसे में चुकंदर का सेवन करने से पेट फूलना, पेट में सूजन, और पेट में ऐठन जैसी समस्या होना शुरू हो जाती है।
  • इसका सीधा असर पाचन क्रिया पर पड़ता है और डायरिया होने की भी संभावना रहती है।
  • बीटरूट गैस में होने वाले पेट दर्द का कारण भी बनता है।

एलर्जी होने की संभावना

  • बीटरूट खाने से सभी लोगों को अलग अलग प्रकार की एलर्जी होने की संभावना हो सकती है।
  • इस एलर्जी में त्वचा पर रैशेस, और खुजली होने की संभावना हो सकती है।

लिवर और पैंक्रियाज पर गलत प्रभाव

  • Chukandar का सेवन अगर जरुरत से ज्यादा कर लिया जाए तो यह आपके लिवर और पैंक्रियाज पर गलत प्रभाव डालता है।
  • पैंक्रियाज पाचन क्रिया के लिए बहुत जरूरी काम करता है। यह एक प्रकार की ग्रंथि होती है जो हॉर्मोन्स का स्राव करने में मदद करती है।
  • चुकंदर में आयरन, मैग्नीशियम, तांबे और फास्फोरस काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है।
  • अगर आप चुकंदर का ज्यादा सेवन करते है तो यह पेट में खनिजो को जमा कर देता है।
  • यह खनिज भविष्य में समस्या उत्पन्न करते है।

चुकंदर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन अगर आप बीटरूट का अधिक सेवन करते है तो आपको कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। बीटरूट के जितने फायदे होते है उतना ही यह नुक्सान भी पहुँचा सकता है। अगर आप इसका सेवन अधिक मात्रा में करते है तो। इस लेख में दिए बीटरूट के नुकसानों को ध्यान में रखते हुए इसका सेवन करें।


You may also like...