Health Benefits of Figs: फ़ायदेमंद फल जो ठंड में रोगों से बचाएं

अंजीर एक प्रकार का फल होता है, जो बहुत स्वास्थ्यवर्धक होता है। अंजीर को अंग्रेजी भाषा में फ़िग के नाम से जाना जाता है और इसका वानस्पतिक नाम “फ़िकस कैरिका” है।

अंजीर का फल पक जाने पर खाया जाता है और इसे सूखा कर इसका उपयोग मेवे के रूप में किया जाता है। ठण्ड के मौसम में इसका सेवन करना बहुत ही अच्छा होता है। अंजीर में कैल्सियम और विटामिन ‘ए’ व् ‘बी’ भरपूर मात्रा में पाए जाते है।

अंजीर के पेड़ बहुत छोटे होते है जिनकी लम्बाई लगभग 3-10 फुट तक होती है। यह विश्व के सबसे प्राचीन फलो में से एक होता है। जो की बहुत ही स्वादिष्ट, रसीला और गूदेदार होता है।

अंजीर का रंग गहरा सुनहरा, हल्का पीला या फिर गहरा बैंगनी होता है। इस फल को खाने से कब्ज की समस्या से निजात मिल जाता है। यह जुकाम और कफ के लिए भी लाभकारी होता है। आइये जानते है Health Benefits of Figs.

Health Benefits of Figs: जानिए इसकी खासियत, इसके फायदे और सेवन विधि

Health Benefits of Figs in Hindi

अंजीर में उपस्थित पौष्टिक तत्व

  • अंजीर में पाए जाने वाले पोषक तत्व कुछ इस प्रकार है।
  • अंजीर में करीब 30 कैलोरी मौजूद होती है, साथ ही इसमें विटामिन ए, बी, सी और कैलशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
  • सूखे अंजीर में लगभग 49 कैलोरी, 0.32 ग्राम फाइबर, 0.579 ग्राम प्रोटीन और 2.32 ग्राम फाइबर पाया जाता है।
  • सूखे अंजीर में फेट की मात्रा 0.222 ग्राम होता है और सैचुरेटेड फैट 0.0445 ग्राम, मोनोसैचुरेटेड फैट 0.049 ग्राम और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट 0.106 ग्राम मौजूद होता है।
  • आपको बता दे की अंजीर में 83 प्रतिशत चीनी होती है जिसके कारण इसे विश्व का सबसे मीठा फल माना जाता है।
  • अंजीर पोटैशियम, फेनोल, ओमेगा-3 और 6, कैल्शियम की भी भरपूर मात्रा पायी जाती है।

अंजीर के प्रकार

अंजीर कई प्रकारो में पाया जाता है। लेकिन इसके चार प्रकार मुख्य होते है जैसे-

  • स्माइर्ना
  • सफेद सैनपेद्रू
  • साधारण अंजीर
  • कैप्री फिग- यह सबसे प्राचीन माना जाता है और इसी से अन्य अंजीरों का निर्माण हुआ है।

अंजीर के फायदे

कब्ज़, गैस से दे राहत

  • अंजीर का सेवन कब्ज़ और गैस से छुटकारा दिलाने का एक असरकारी उपाय होता है। इसमें फाइबर की मात्रा भरपूर होती है।
  • अंजीर के 6 टुकड़ो में 10 ग्राम फाइबर पाया जाता है। इसलिए इसके नियमित सेवन से पेट संबंधी सारी समस्याएं दूर हो जाती है साथ ही कब्ज़ और गैस से भी निजात मिल जाता है।
  • साथ ही इसके सेवन से पाचन तंत्र भी मजबूत होता है।

सेवन विधि

  • प्रतिदिन 250 मि.ली. पानी में 5 से 6 अंजीर के टुकड़े को मिला दे और उसे भीगने दें, सुबह उस पानी को उबाल लें।
  • जब तक उबाले की पानी आधा हो जाए। और फिर इस पानी को पी लें।
  • पानी पीने के बाद बचे हुए अंजीर को चबाकर खा लें। इसके नियमित सेवन से कब्ज और गैस की समस्या दूर हो जायेगी साथ ही पाचन शक्ति भी दुरुस्त रहेगी।

ह्रदय सम्बन्धी रोगों के लिए लाभकारी

  • सूखे अंजीर में ओमेगा 3 तथा 6 और फेनोल की मात्रा पायी जाती है, जो की ह्रदय सम्बन्धी बीमारियों के लिए फ़ायदेमंद होता है।
  • इसके सेवन से हृदय रोग होने का खतरा कम हो जाता है।
  • साथ ही फैटी एसिड कोरोनरी हार्ट डिजीज की संभावनाओं को कम करने में सहायता करता है।

हड्डियों को मजबूत बनाएं

  • हड्डयों की मजबूती के लिए शरीर को कैल्शियम की आवश्यकता होती है।
  • अंजीर में कैल्शियम बहुतायत में होता है, जो हड्डियों को मजबूत करने का कार्य करता है।

दुर्बलताओं को कम करे

  • अंजीर शरीर में होने वाली कई दुर्बलताओं को कम करने में भी मदद करता है जैसे-

स्नायु दुर्बलता

  • स्नायु दुर्बलता को कम करने के लिए भी अंजीर का सेवन बहुत ही फ़ायदेमंद होता है।
  • इसके सेवन से स्नायु तंत्रिका सुचारु रूप से कार्य करने लगती है।

सेवन विधि

  • अंजीर को अच्छी तरह से दूध में पका ले और इसका सेवन करे। इसके नियमित सेवन से स्नायु दुर्बलता हो जाती है।

शारीरिक दुर्बलता

  • शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए अंजीर किसी रामबाण उपचार से कम नहीं होता है। अंजीर को ताजा या फिर सूखा दोनों रूप में खाने से शारीरिक दुर्बलता कम हो जाती है।

सेवन विधि

  • सूखे अंजीर को दूध में अच्छी तरह से पका ले और इसका नियमित रूप से सेवन करे। शरीर की कमजोरी दूर हो जायेगी और शरीर को बल प्राप्त होगा।

यौन दुर्बलता

  • अंजीर का सेवन यौन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। और शरीर की दुर्बलता दूर हो जाती है।

सेवन विधि

  • सूखे अंजीर को दूध के साथ लेने से यौन दुर्बलता दूर हो जाती है, और इसके सेवन से यौन शक्ति में वृद्धि होती है।

अस्थमा में राहत दे

  • सर्दियों का मौसम आने पर अस्थमा रोगियों को समस्या होने लगती है।
  • उनके लिए अंजीर का सेवन करना बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। इसके लिए अस्थमा रोगी अंजीर के पत्ते का सेवन कर सकते हैं।

अंजीर के अन्य सेहतमंद फायदे

  • अंजीर में पोटैशियम की उच्च मात्रा पायी जाती है जो की रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने का कार्य करता है साथ ही इससे रक्तचाप भी नियंत्रित रहता है। अंजीर में पोटैशियम अधिक मात्रा में होता है और सोडियम कम मात्रा में होता है इसलिए यह उच्च रक्तचाप की समस्या से भी बचाने में सहायक होता है।
  • माना जाता है की डायबिटीज रोगियों को दूसरे फलों की अपेक्षा अंजीर खाने से ज्यादा लाभ प्राप्त होता है।
  • अंजीर फाइबर और रेशों का एक अच्छा स्त्रोत होता है जो की वजन को कम करने में मदद करता है। इसके सेवन से मोटापे को कम किया जा सकता है।
  • अंजीर का सेवन महिलाओ के लिए भी लाभकारी होता है। यह मेनोपॉज की तकलीफ़ों और स्तन कैंसर से निजात दिलाने में भी मदद करता है साथ ही गर्भवती महिलाओ के लिए भी फ़ायदेमंद होता है।
  • कैंसर की संभावनाओं को कम करने में भी अंजीर लाभकारी होता है। अंजीर में एन्टीऑक्सिडेंट की अच्छा मात्रा पायी जाती है। जो की फ्री-रैडिकल्स के क्षति से डी.एन.ए. की सुरक्षा करते हैं। जिससे कैंसर होने से बचा जा सकता है।

आप समझ ही गए होंगे की एक अंजीर से सेवन से कितने सारे स्वास्थ्य लाभ होते है। खासकर सर्दियों के मौसम में यह विशेष लाभ प्रदान करता है। इसलिए इसका सेवन करना प्रारम्भ कर दें।