Kegel Exercises for Women: यौन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मददगार व्यायाम

व्यायाम करना हमारे दैनिक जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसे करने से हम शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहते है। महिलाओं के लिए भी कुछ एक्सरसाइज बहुत आवश्यक होते हैं जिन्हे कर के वह भी हमेशा स्वस्थ रह सकती है।

इन एक्सरसाइज मे से हीं एक होता है किगल एक्सरसाइज। कीगल का अर्थ उन मांसपेशियों से है जो मूत्राशय, गर्भाशय और छोटी आंत को सहारा देती है। इसे कीगल मसल्स के नाम से भी लोग आम तौर पर जानते हैं।

Kegel एक्सरसाइज को करने से यौन सम्बन्धी परेशानियाँ समाप्त हो जाती है। Kegel Exercises को प्रतिदिन करने से पेल्विक क्षेत्र संबंधी समस्याओं जैसे कि मूत्र या मल असंयम से छुटकारा पाने में सहायता मिलती है। जिन महिलाओं को तेजी से छींकने या खांसने के कारण से पेशाब निकल जाती है, उन्हें इस एक्सरसाइज से आराम पहुँचता है।

Kegel Exercises for Women एक बहुत ही आसान एक्सरसाइज होती है। जिसे घर पर भी किया जा सकता है। इसकी खास बात यह है की किगल एक्सरसाइज से पुरुष भी पेल्विक क्षेत्र की मांसपेशियों को मजबूत कर सकते हैं।

Kegel Exercises for Women: महिलाओं के स्वाथ्य के लिए आवश्यक व्यायाम

Kegel Exercises for Women

Kegels for Women: क्यों आवश्यक है कीगल एक्सरसाइज ?

  • Kegel Workout को करना हर महिला के लिए अच्छा होता है। ये एक्सरसाइज से सभी महिलाओ को लाभ पहुँचती है। प्रेगनेंट महिलाएंं भी अगर कीगल एक्सरसाइज को करती है तो इसे करने से उन्हें भी फायदा होता है ।
  • पहले हम आपको बता दे की कीगल एक्सरसाइज एक व्यायाम पद्धति है जो मशहूर प्रसूतिशास्री अर्नाल्ड कीगल के नाम से जानी जाती है ।
  • इस कीगल एक्सरसाइज को करने से आपको पेल्विक क्षेत्र यानि की श्रोणि सतह की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद मिलती है । श्रोणि सतह वो सतह होती है जो आंत, मुत्राशय और गर्भाशय को सहारा देती है ।
  • गर्भावस्था के दौरान मांसपेशियाँ नर्म और खिंची सी हो जाती है साथ ही शिशु के वजन के कारण मांसपेशियों पर नीचे की और दबाव पड़ता है जिसके कारण मांसपेशियाँ कमजोर हो जाती है । इस वजह से गर्भवती महिलाओ को भारीपन और कमजोरी महसूस होती है ।
  • जिसके कारण आपने देखा होगा कई बार घूमते समय या हँसते समय या फिर खांसते या छिंकते समय आपका थोड़ा सा यूरिन निकल जाता है ।
  • गर्भावस्था के समय तो ये होता ही है पर सामान्य दिनों में भी महिलाओ को ये परेशानी हो जाती है।
  • बहुत बार आपने देखा होगा आप कंही मार्केट जाते है और वंहा आपको अचानक से तेज यूरिन आ जाती है पर जब आप आस पास कंही बाथरूम ढूढते है और वो नहीं मिलती है तब आप सोचते है की थोड़ी देर कंट्रोल कर लेते है पर कई बार कंट्रोल करना बहुत मुश्किल हो जाता है ।
  • ये सिर्फ इसलिए होता है क्योंकि आपकी श्रोणि सतह की मांसपेशियाँ कमजोर होती है ।

इन सभी समस्याओं से बचने के लिए श्रोणि सतह को मजबूत बनाना अत्यंत आवश्यक होता है ।

How to do Kegel Exercises:

  • इसे करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल लेट जाये अपने अपने घुटने मोड़ ले, साथ हीं अपने तलवो को जमीन पर रखे ।
  • मांसपेशियों को इस तरह सिकोड़ लें जैसे यूरिन रोक रहे हो, एक मिनट बाद मांसपेशियों को धीरे धीरे ढीला छोड़ दे ।
  • इस तरह कीगल एक्सरसाइज को दिन में तीन से चार बार करना गर्भवती महिलाओ के साथ साथ सभी महिलाओ के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है ।

कीगल एक्सरसाइज के अन्य तरीके

ब्रिज एक्सरसाइज

  • पहले पीठ के बल लेट जाए और फिर घुटनों को मोड़ ले।
  • अपने कंधो को साइड में सीधे नीचे रखें साथ ही कमर और कूल्‍हों को उठाएं।
  • अपनी पेल्‍विक मासपेशियों को सिकोड़ ले, इस तरह की पोजीशन बनाये जो एक ब्रिज जैसी हो।
  • इसके बाद 3 से 5 बार कमर को उठाएं और पेल्‍विक को ढीला छोड़ दे।
  • फिर दोबारा प्रारंभिक वाली पोजिशन में आ जाएं।
  • इस क्रिया को कम से कम 5 बार रिपीट करें।

पेल्‍विक टिल्‍ट्स एक्सरसाइज

  • इसे करने के लिए लेटकर अपनी पेल्‍विक को आगे और पीछे की तरफ मोड़ें।
  • पीठ के सहारे हाथों को फैलाये, इसके बाद दोनों घुटनों को मोड़ते हुए सटाकर रखें।
  • उसके उपरांत अपने एब्‍स को सिकोड़ते हुए अपनी सांस को छोडें। इसे धीरे धीरे हफ्ते में 5 बार करें।

क्लासिक कीगल एक्सरसाइज

  • क्लासिक या बेसिक कीगल बहुत सरल है।
  • इसे करने के लिये पहले पीठ के बल लेट जाइये।
  • फिर पेट को बिना सिकोड़े अपनी पेल्विक मसल्स को ढीला छोड़ दे।
  • इसके उपरांत उसे 5 से 7 सेकेंड तक टाइट कर के रखें और फिर छोड़े।
  • इस एक्सरसाइज को दिन में कुछ मिनटों तक करें।
  • इससे आपको जल्द ही परिणाम प्राप्त होगा।

पुल-इन किगल एक्सरसाइज

  • इस एक्सरसाइज को करने के लिए, पेल्विक क्षेत्र मांसपेशियों को वैक्यूम की तरह ही माने।
  • फिर कुल्हे की मांसपेशियों में तनाव पैदा करें और साथ ही पैरों को आगे पीछे करें।
  • 4-5 सेकंड तक इस स्थिति में रहें इसके बाद फिर छोड़ दें।
  • ऐसा आपको 10 बार करना है ।
  • इसे पूरा करने में 50 सेकंड तक का समय लगता है।

Benefits of Kegel Exercises :

  • इस कीगल एक्सरसाइज को करने से गर्भवती महिलाओ की नार्मल डिलीवरी के चांस भी बढ़ जाते है इसलिए इसे करना और भी फ़ायदेमंद होता है ।
  • कीगल एक्सरसाइज महिलाओ में बवासीर (पाइल्स) की समस्या को कम करने में सहायक होती है ।
  • कीगल एक्सरसाइज को करने से महिलाओ में स्ट्रेस की समस्या भी धीरे धीरे कम होती है ।
  • अगर महिलाएं नियमित रूप से इस कीगल एक्सरसाइज को करती रहती है तो इसके करने से डिलीवरी के बाद भी उनका शरीर मजबूत बना रहता है क्योंकि ये एक्सरसाइज धीरे धीरे उनकी कमजोर मांसपेशियों को मजबूत बना देती है ।
  • कीगल एक्सरसाइज को नियमित तौर पर करने से महिलाओ की सेक्स लाइफ भी अच्छी हो जाती है।
  • इस एक्सरसाइज को करने वाली महिलाओ में थकान की अनुभूति कम होती है ।

कीगल एक्सरसाइज एक रामबाण इलाज होता है आपके पेल्विक फ्लोर को मजबूत बनाने के लिए इसके नियमित अभ्यास करने से महिलाओ को पेल्विक सम्बन्धित सभी समस्याये धीरे धीरे ख़त्म होने लगती है। साथ ही जो महिलाएं इसे नियमित तौर पर करती है उन्हें एक उम्र के बाद आने वाली यूरिन से सम्बन्धित कोई भी बीमारी कभी नही होती है ।

ध्यान रखने योग्य बात

हमेशा किगल रिक्त मूत्राशय के साथ ही करें। भरे हुए मूत्राशय के साथ किगल करने पर पेल्विक क्षेत्र कमजोर होता है और मूत्रमार्ग संक्रमण होने की संभावनाओं में वृद्धि होती है। इस व्यायाम को करने से डिलीवरी के समय महिलाओं को प्रसव पीड़ा कम होती है।

आज के लेख में आपने किगल एक्सरसाइज से महिलाओं को होने वाले फ़ायदों के बारें में पढ़ा। यह एक्सरसाइज बहुत सारे फ़ायदों से भरपूर होता है अतः सभी महिलाओं को इसका अभ्यास नियमित तौर पर ज़रूर करना चाहिए।


You may also like...