व्यायाम करना हमारे दैनिक जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसे करने से हम शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहते है। महिलाओं के लिए भी कुछ एक्सरसाइज बहुत आवश्यक होती है जिन्हे करकर वह भी स्वस्थ रह सकती है।

इनमे से एक है किगल एक्सरसाइज। कीगल का अर्थ उन मांसपेशियों से है जो मूत्राशय, गर्भाशय और छोटी आंत को सहारा देती है। इसे कीगल मसल्स के नाम से भी जाना जाता हैI

किगल एक्सरसाइज को करने से यौन सम्बन्धी परेशानिया समाप्त हो जाती है। किगल एक्सरसाइज को प्रतिदिन करने से पेल्विक क्षेत्र संबंधी समस्याओं जैसे कि मूत्र या मल असंयम से छुटकारा पाने में सहायता मिलती है। जिन महिलाओं को तेजी से छींकने या खांसने के कारण से पेशाब निकल जाती है, उन्हें इस एक्सरसाइज से आराम पहुँचता है।

Kegel Exercises for Women, एक बहुत ही आसान एक्सरसाइज होती है। जिसे घर पर भी किया जा सकता है। इसकी खास बात यह है की किगल एक्सरसाइज से पुरुष भी पेल्विक क्षेत्र की मांसपेशियों को मजबूत कर सकते हैं।

Kegel Exercises for Women: महिलाओं के स्वाथ्य के लिए आवश्यक व्यायाम

Kegel Exercises for Women

ब्रिज एक्सरसाइज  

  • पहले पीठ के बल लेट जाए और फिर घुटनों को मोड़ ले।
  • अपने कंधो को साइड में सीधे नीचे रखें साथ ही कमर और कूल्‍हों को उठाएं|
  • अपनी पेल्‍विक मासपेशियों को सिकोड़ ले, इस तरह की पोजीशन बनाये जो एक ब्रिज जैसी हो।
  • इसके बाद 3 से 5 बार कमर को उठाएं और पेल्‍विक को ढीला छोड़ दे|
  • फिर दुबारा प्रारंभिक वाली पोजिशन में आ जाएं।
  • इस क्रिया को कम से कम 5 बार रिपीट करें।

पेल्‍विक टिल्‍ट्स एक्सरसाइज 

  • इसे करने के लिए लेट कर अपनी पेल्‍विक को आगे और पीछे की तरफ मोड़ें।
  • पीठ के सहारे हाथों को फैलाये, इसके बाद दोनों घुटनों को मोड़ते हुए सटाकर रखिये।
  • उसके उपरांत अपने एब्‍स को सिकोड़ते हुए अपनी सांस को छोडें। इसे धीरे धीरे हफ्ते में 5 बार करें।

क्लासिक कीगल एक्सरसाइज

  • क्लासिक या बेसिक कीगल बहुत सरल है।
  • इसे करने के लिये पहले पीठ के बल लेट जाइयेI
  • फिर पेट को बिना सिकोड़े अपनी पेल्विक मसल्स को ढीला छोड़ दे।
  • इसके उपरांत उसे 5 से 7 सेकेंड तक टाइट कर के रखें और फिर छोड़े।
  • इस एक्सरसाइज को दिन में कुछ मिनटों तक करें।
  • इससे आपको जल्द ही परिणाम प्राप्त होगा।

पुल-इन किगल एक्सरसाइज

  • इस एक्सरसाइज को करने के लिए, पेल्विक क्षेत्र मांसपेशियों को वैक्यूम की तरह ही माने।
  • फिर कुल्हे की मांसपेशियों में तनाव पैदा करें और साथ ही पैरों को आगे पीछे करें।
  • 4-5 सेकंड तक इस स्थिति में रहें इसके बाद फिर छोड़ दें।
  • ऐसा आपको 10 बार करना है ।
  • इसे पूरा करने में 50 सेकंड तक का समय लगता है।

ध्यान रखने योग्य बात:-

हमेशा किगल रिक्त मूत्राशय के साथ ही करें। भरे हुए मूत्राशय के साथ किगल करने पर पेल्विक क्षेत्र कमजोर होता है और मूत्रमार्ग संक्रमण होने की संभावनाओं में वृद्धि होती है। इस व्यायाम को करने से डिलीवरी के समय महिलाओं को प्रसव पीड़ा कम होती है|