Home Remedies For Muscle Pain: मांसपेशियों के दर्द से निजात दिलाएंगे घेरलू उपाय

हमारे शरीर में मांसपेशियों की सबसे जटिल प्रणाली होती है और आज इस भागदौड़ भरी लाइफ में मांसपेशियों में दर्द होना एक आम बात बन गई है। अक्सर यह देखा गया की उम्र के बढ़ते बढ़ते मांसपेशियों में दर्द होने लगता है क्योंकि बुढ़ापे में हमारी हड्डियाँ कमजोर होने लगती है जिसके कारण मांसपेशियों में दर्द उत्पन्न होने लगता है। लेकिन आज कल ऐसा नहीं है, यह दर्द किसी को भी हो सकता है।

जब कभी भी हम क्षमता से अधिक काम करते हैं या ज्यादा आलस करते हैं, दोनों ही परिस्थितियों में मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। आज के समय में युवाओं पर इसका सबसे ज्यादा असर हो रहा है। इस दर्द का सामना कुछ लोगों को कभी-कभी होता है, लेकिन कुछ लोगों को स्थाई रूप से इसका सामना करना पड़ता है। दर्द होने के बहुत से कारण हो सकते है। अक्सर देखा गया है की एक्सरसाइज के बाद शरीर के कुछ हिस्सों में दर्द होने लगता है। इसके अलावा शरीर में पोषक तत्व की कमी से भी दर्द होने लगता है।

क्या आप जानते है की मांसपेशियाँ हमारे पूरे शरीर में फैली हुई होती है। ये शरीर को मज़बूती देने के साथ ही लचीलापन भी देती हैं। ऐसे में इनमें होने वाला खिंचाव पीड़ा के साथ ही बहुत परेशानी भी पैदा कर देते हैं। वैसे तो मांसपेशियों में दर्द होना एक आम बात मानी जाती है लेकिन यह दर्द अगर बहुत तेज हो या बार आर हो रहा हो तो यह एक गंभीर बीमारी का रूप भी ले सकती है। मांसपेशियों में जब खिचाव आता है तो जोड़ो में दर्द होने लगता है। इसके अलावा कंधे, कमर, गर्दन आदि की मसल्स में भी दर्द उत्पन्न हो सकता है।

इस दर्द से छुटकारा आने के लिए लोग कई तरह की पेन किलर और दवाइयों का सेवन करते हैं। जिसके कई सारे दुष्प्रभाव होने का खतरा रहता है। आइये आज हम आपको बताते है Muscle Pain Treatment के कुछ घरेलू उपचार हैं जिनका उपयोग करके आप मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द में राहत पा सकते हैं। आइये जानते हैं Home Remedies For Muscle Pain.

Home Remedies For Muscle Pain: मांसपेशियों में दर्द के घरेलू उपचार

Home Remedies For Muscle Pain

मांसपेशियों में दर्द के कारण

  • जब मांसपेशियों में किसी कारण ज्यादा खिचाव आ जाता है तो वो दर्द का कारण बन सकता है।
  • कोई गंभीर नई या पुरानी चोट।
  • अधिक शरीरिक श्रम करना।
  • अचानक क्षमता से अधिक वजन उठाना।
  • अचानक किसी अंग में मोच आ जाना।
  • शरीर में कैल्शियम या प्रोटीन की कमी होना।
  • किसी बीमारी जैसे चिकिनगुनिया या डेंगू का होना।

मांसपेशियों में दर्द के लक्षण

  • मांसपेशियों में अचानक दर्द होना।
  • मांसपेशियों में सुजन आना।
  • चलने फिरने में जोड़ो में दर्द होना।
  • कमज़ोरी महसूस होना।
  • हाथ पैर में अकड़न आना।

Muscles Pain Treatment in Hindi

जब हम अचानक कुछ ज्यादा भारी वजन उठा लेते है तब मांसपेशियों में खिचाव उत्पन्न हो जाता है जिसकी वजह से व्यक्ति को दर्द का सामना करना पड़ता है। यहां पर हम आपको कुछ घेरलू उपाय बता रहे है जिनका इस्तेमाल करके आप इस दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

सेंधा नमक (Epsom Salt) का उपयोग

  • सेंधा नमक में मैग्नीशियम की मात्रा काफी अधिक होती है। यह पोषक तत्व आपकी मांसपेशियों के दर्द को कम करने में मदद करता है।
  • इसका उपयोग मांसपेशियों में ऐंठन का इलाज करने के लिए भी किया जाता है।
  • इसके लिए आप एक बाल्टी गर्म पानी से भरें। फिर उसमें एक कप काला नमक डालें और अच्छी तरह से मिला लें, फिर 15 मिनट के लिए इसे छोड़ दें और फिर इससे नहा लें।

मसाज करें

  • दर्द से राहत पाने के लिए मसाज करना सबसे अच्छा तरीका है। जब हम मसाज करते हैं तो शरीर में रक्तसंचार ठीक हो जाता है जिससे दर्द आसानी से ठीक हो जाता है और सूजन भी कम हो जाती है।
  • मसाज के लिए आप चाहे तो जैतून तेल व सरसों का तेल का उपयोग कर सकते है। मसाज से मांसपेशियों का तनाव कम होगा।

बर्फ की सिकाई

  • बर्फ से सिकाई करने से आपको राहत मिलेगी। यह दर्द से राहत देने के लिए सबसे अच्छा तरीका है।
  • यदि आपको शरीर के किसी भी अंग कंधे या घुटने में दर्द या सूजन महसूस हो रही है तो कुछ बर्फ के टुकड़े ले और दर्द वाली जगह पर सिकाई करें।

हल्दी का उपयोग

  • दर्द से निजात पाने के लिए यदि पैरासिटामोल की जगह हल्दी का उपयोग किया जाए तो यह ज्यादा फ़ायदेमंद साबित होता है।
  • हल्दी एक दर्द निवारक के रूप में काम करती है । Muscle Pain के दर्द के लिए एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी की मिलाकर रोजाना सेवन करने से आपको दर्द में आराम मिलेगा और आपकी हड्डियाँ मजबूत होंगी।

व्यायाम अवश्य करें

  • व्यायाम करना हमारे शरीर के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है। आपसे जितना हो सके उतना ही करें।
  • फिजिकल एक्सरसाइज करने से हमारी बॉडी में रक्त संचार अच्छी तरह होता रहता है।
  • मांसपेशियों को स्ट्रेच करने से उनकी अकड़न दूर होती है और वो लचीली बनती है।
  • व्यायाम से मांसपेशियों में मज़बूती आती है और दर्द नहीं होता है।

सेब का सिरका

  • आयुर्वेद में इसे औषधि की तरह इस्तेमाल किया जाता है। सेब का सिरका मसल्स के दर्द के छुटकारा दिलाने में मदद करता है।
  • अधिक शारीरिक श्रम करने से यदि आपकी मसल्स में दर्द है तो आप सेब का सिरका लेकर दर्द वाली जगह पर लगाएं और मसाज करें।
  • इसके अलावा आप चाहे तो इसका सेवन पानी के साथ भी कर सकते है।

मैग्नीशियम युक्त भोजन

  • मैग्नीशियम की कमी से मांसपेशियाँ कमजोर होने लगती है। मैग्नीशियम और कैल्शियम मिलकर मांसपेशियों का निर्माण करते हैं।
  • इससे हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसलिए मैग्नीशियम युक्त भोजन आहार में शामिल करें। जैसे- बादाम, काजू, अलसी, कद्दू के बीज, मछली आदि का सेवन करें।

अदरक का उपयोग

  • अदरक दर्द भगाने की सबसे कारगर दवा है। औषधीय गुणों के कारण अदरक को जोड़ों के दर्द के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • अदरक का रस मांसपेशियों की सूजन और दर्द कम कर करने में मदद करता है। मांसपेशियों में दर्द होने पर तेल में अदरक का रस मिलाकर या अदरक का पेस्‍ट दर्द पर लगाने से दर्द और तनाव से राहत मिलती है।

इसके अलावा भी Muscle Pain ka Ilaj करने के लिए कई सारे घेरलू उपचार है। इसके अलावा बाजार में इसके लिए कई सारी आयुर्वेदिक दवाइयां और तेल उपलब्ध है जो मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करते है। यदि आपका दर्द कम नहीं हो रहा है तो एक बार डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें।

You may also like...