Meditation Rules in Hindi: जानिये ध्यान करने के महत्वपूर्ण नियम

आजकल का जीवन बहुत भागदौड़ भरा है इसलिए आज के समय में मनुष्य के लिए ध्यान बहुत ही जरूरी हो गया है। खासकर जो लोग बहुत ही तनाव पूर्ण वातावरण में रहते है उन्हें तो ध्यान जरूर करना चाहिए।

ध्यान के नियमित अभ्यास के साथ आप तनाव और चिंता मुक्त जीवन पा सकते है। इससे आप शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते है।

लेकिन कभी कभी ध्यान का अभ्यास करने से आपको फायदा नहीं मिलता है। ध्यान के लाभों को प्राप्त करने के लिए इसका नियमित अभ्यास आवश्यक है। और यह आपका ज्यादा समय भी नहीं लेता प्रतिदिन कुछ ही समय काफी है।

जब आप इसे हर दिन करने लगते है तो ध्यान दिन का सर्वश्रेष्ठ अंश बन जाता है। ऋषिमुनियों के अनुसार “ध्यान एक बीज के समान है। जब आप बीज को प्यार से विकसित करते हैं तो वह उतना ही खिलता जाता है” ध्यान के गहराइयो में जाकर आप भी अपने जीवन को समृद्ध बना सकते है लेकिन इससे पहले Meditation Rules in Hindi जरूर जान ले।

Meditation Rules in Hindi: ध्यान करते वक्त अपनाये यह नियम

Meditation Rulesसुबह का समय चुने

  • ध्यान करने के लिए सुबह का वक्त सबसे अच्छा होता है। आप 4 बजे से 7 बजे तक का समय इसके लिए चुन सकते है।
  • इस समय वातावरण में शांति रहती है, जिसके चलते आप बिना व्यवधान के ध्यान क्रियाओं को कर सकते है।
  • आप यहाँ ध्यान करने के फायदे भी जान सकते है।

आसन पर ही ध्यान करे

  • ध्यान करने का स्थान साफ़ सुथरा होना चाहिए। एकांत और हवा के संचार वाली जगह उत्तम है।
  • ध्यान करने के लिए डायरेक्ट जमीन पर ना बैठे। कम्बल या ऊनी आसन का इस्तेमाल करे और पालथी मारकर बैठे।

ध्यान के साधक रोज शुद्ध आहार ले

  • जो लोग ध्यान का अभ्यास करते है उन्हें पौष्टिक,शुद्ध और सात्विक आहार लेना चाहिए।
  • ध्यान करने वाले फल और दूध का सेवन करा करे। जबकि तामसिक पदार्थ जैसे प्याज या लहसुन ज्यादा ना ले।

ध्यान लगाने का आसान तरीका चुने

  • हर किसी के साथ पॉसिबल नहीं है की वे आँखे बंद करके आसानी से ध्यान का अभ्यास करले।
  • इसलिए मन के विचार यदि आपको ध्यान नहीं करने दे रहे है तो एक बिंदु पर अपना ध्यान केंद्रित करे।
  • जमीन पर किसी दिवार के सामने बैठ जाये और खुद से डेड फुट की दुरी पर आँखों के बिलकुल सीध में एक बिंदु बना ले।
  • उस बिंदु को लगातार देखते रहे जब तो वो ओझल ना हो जाये, फिर वापिस इस प्रक्रिया को दोहराये।
  • यह Best Way to Meditate है।

खाली पेट करे

  • ध्यान का अभ्यास ख़ाली पेट करना चाहिए।
  • यदि आपको भूख लगी हो तो ध्यान ना करे, नहीं तो आप पुरे वक्त खाने के बारे में ही सोचते रहेंगे।
  • ऐसे समय में आप कुछ खा ले और फिर दो घंटे के उपरांत ध्यान कर सकते हैं।

वार्म अप जरूर करे

  • आपको ध्यान करने के पगले थोड़ा योग करना चाहिए
  • यह आपकी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को सुधारता है।
  • बैचेनी और शरीर की जकड़न को दूर करने में काफी सक्षम होता है।
  • इससे शरीर को हल्का महसूस होता है।
  • इससे ध्यान करने समय आप स्थिरता से अधिक समय के लिए बैठ पाएंगे।

गहरी साँस लें

  • ध्यान करने के पहले आप आंखे बंद कर के गहरी और लम्बी लम्बी सांस लें और छोड़े ।
  • यह नाड़ी शोधन प्राणायाम के समान होता है।
  • ध्यान के पहले इसे करना शरीर के लिए फायदेमंद होता है।
  • इससे ध्यान के समय सांसो की लय स्थिर बन जाती है।
  • साथ ही मन को शांत करने में भी सहायक होता है।

हल्की मुस्कराहट

  • अगर आप अपने चेहरे पर एक हल्की सी मुस्कुराहट रख कर ध्यान करेंगे तो आपको खुद ही अपने आप में फर्क महसूस होने लगेगा।
  • एक निरंतर मुस्कान से ध्यान करने से काफी शान्ति मिलेगी।
  • यह ध्यान के अनुभव को बनाने में मदद करता है।
  • या एक बहुत अच्छी Meditation Techniques है

आँखों को धीरे धीरे खोले

  • जब आप ध्यान के अंत में पहुँचते है तो अपनी आँखों को धीरे धीरे खोले।
  • अपने आप और आसपास के वातावरण में सजग होने में थोड़ा समय लगाए।
  • आराम से अपनी आँखों को खोले किसी भी प्रकार की जल्दी ना करें।

चाहे तो कैंडल और म्यूजिक का इस्तेमाल करे

  • कई बार ऐसा होता है कि लोग कई समय से ध्यान करने की कोशिश कर रहे हो लेकिन फोकस नहीं कर पाते है।
  • इसके लिए म्यूजिक सुनकर और कैंडल जलाकर भी ध्यान करा जा सकता है।
  • इससे ध्यान करने में एक फ्लो बनता है जिससे फोकस करने में मदद मिलती है।

ध्यान की प्रक्रिया

  • आप पालथी मारकर भी बैठ सकते है या फिर कुर्सी पर बैठे बैठे भी ध्यान कर सकते है।
  • जगह ऐसी चुने जो काफी शांत और आरामदायक हो। जहाँ किसी भी प्रकार का कोलाहल ना हो।
  • अब आंखे बंद करें और अपने कानो में इयर प्लग लगा लें।
  • अगर इयर प्लग न हो तो रुई का इस्तेमाल करें।
  • अब दस लम्बी लम्बी साँस लें। एकदम आराम से, धीरे धीरे और गहरी साँस लें।
  • साँस छोड़ते हुए 10 से 1 तक की उलटी गिनती गिने। याद रखे की गिनती सिर्फ साँस छोड़ते समय ही गिनना है।
  • अब अपने अंदर की आवाज पर ध्यान केंद्रित करें और और मस्तिष्क की आवाजों को सुने।
  • अपने मन को शांत रखे धीरे धीरे खुद ही आवाज़े सुनाई देगी।
  • अपने शरीर में स्थिरता बनाए रखे। अपनी सोच को भटकने ना दें।
  • अगर बीच में सोच भटक भी जाती है तो परेशान ना हो फिर से पूरी प्रॉसेस स्टार्ट करें।
  • अपने मन को फिर से केंद्रित करने की कोशिश करें।

Meditation Tips के जरिये हमने आपको बताया कि ध्यान करते समय आपको किन किन बातों का ख्याल रखना बहुत जरुरी है। यह सभी नियम बेहतर तरीके से मैडिटेशन करवाने में सक्षम है। ध्यान की सभी प्रक्रिया को आराम से और मन को केंद्रित करते हुए करना चाहिए।