आजकल का जीवन बहुत भागदौड़ भरा है इसलिए आज के समय में मनुष्य के लिए ध्यान बहुत ही जरूरी हो गया है। खासकर जो लोग बहुत ही तनाव पूर्ण वातावरण में रहते है उन्हें तो ध्यान जरूर करना चाहिए|

ध्यान के नियमित अभ्यास के साथ आप तनाव और चिंता मुक्त जीवन पा सकते है| इससे आप शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते है|

लेकिन कभी कभी ध्यान का अभ्यास करने से आपको फायदा नहीं मिलता है| ध्यान के लाभों को प्राप्त करने के लिए इसका नियमित अभ्यास आवश्यक है| और यह आपका ज्यादा समय भी नहीं लेता प्रतिदिन कुछ ही समय काफी है|

जब आप इसे हर दिन करने लगते है तो ध्यान दिन का सर्वश्रेष्ठ अंश बन जाता है| ऋषिमुनियों के अनुसार “ध्यान एक बीज के समान है| जब आप बीज को प्यार से विकसित करते हैं तो वह उतना ही खिलता जाता है” ध्यान के गहराइयो में जाकर आप भी अपने जीवन को समृद्ध बना सकते है लेकिन इससे पहले Meditation Rules जरूर जान ले|

Meditation Rules: ध्यान करते वक्त अपनाये यह नियम

Meditation Rules

सुबह का समय चुने

  • ध्यान करने के लिए सुबह का वक्त सबसे अच्छा होता है| आप 4 बजे से 7 बजे तक का समय इसके लिए चुन सकते है|
  • इस समय वातावरण में शांति रहती है, जिसके चलते आप बिना व्यवधान के ध्यान क्रियाओं को कर सकते है|
  • आप यहाँ ध्यान करने के फायदे भी जान सकते है|

आसन पर ही ध्यान करे

  • ध्यान करने का स्थान साफ़ सुथरा होना चाहिए| एकांत और हवा के संचार वाली जगह उत्तम है|
  • ध्यान करने के लिए डायरेक्ट जमीन पर ना बैठे| कम्बल या ऊनी आसन का इस्तेमाल करे और पालथी मारकर बैठे|

ध्यान के साधक रोज शुद्ध आहार ले

  • जो लोग ध्यान का अभ्यास करते है उन्हें पौष्टिक,शुद्ध और सात्विक आहार लेना चाहिए|
  • ध्यान करने वाले फल और दूध का सेवन करा करे| जबकि तामसिक पदार्थ जैसे प्याज या लहसुन ज्यादा ना ले|

ध्यान लगाने का आसान तरीका चुने

  • हर किसी के साथ पॉसिबल नहीं है की वे आँखे बंद करके आसानी से ध्यान का अभ्यास करले|
  • इसलिए मन के विचार यदि आपको ध्यान नहीं करने दे रहे है तो एक बिंदु पर अपना ध्यान केंद्रित करे|
  • जमीन पर किसी दिवार के सामने बैठ जाये और खुद से डेड फुट की दुरी पर आँखों के बिलकुल सीध में एक बिंदु बना ले|
  • उस बिंदु को लगातार देखते रहे जब तो वो ओझल ना हो जाये, फिर वापिस इस प्रक्रिया को दोहराये|
  • यह Best Way to Meditate है|

खाली पेट करे

  • ध्यान का अभ्यास ख़ाली पेट करना चाहिए|
  • यदि आपको भूख लगी हो तो ध्यान ना करे, नहीं तो आप पुरे वक्त खाने के बारे में ही सोचते रहेंगे|
  • ऐसे समय में आप कुछ खा ले और फिर दो घंटे के उपरांत ध्यान कर सकते हैं|